पथरी का इलाज

पथरी का इलाज, कारण, दुष्परिणाम और सावधानिया पढ़े

पथरी का इलाज : आजकल पथरी की समस्या बहुत से व्यक्तियों को हो रही हैं पथरी का दर्द इतना भयानक होता हैं की सहन नहीं होता हैं।

शरीर में कैल्शियम के गाढ़े होने के कारण पथरी बढ़ने लगती हैं।

किडनी में कुछ खास तरह के साल्ट्स के जमा हो जाने के कारण पथरी बन जाती है।

पथरी होने पर सबसे पहले स्टोन का छोटा खंड बनता हैं जिसके चारों तरह साल्ट जमा होता हैं।

इसके की जैनिटेक कारण भी होते हैं जैसे : हाइपरटेंशन, मोटापा, मधुमेह, और आंतों से जुड़ी बहुत सी बीमारी भी हो सकती हैं।

पथरी होने के लक्षण

हमारे शरीर में पथरी जितनी बड़ी होती हैं दर्द भी उतना ही ज्यादा होता हैं यदि पथरी का ठीक समय पर उपचार न किया जाए तो यह दिन पर दिन बढ़ती जाती हैं और एक विशाल रूप ले लेती हैं।

मैंने पथरी के कुछ लक्षण नीचे लिखे हैं यदि इनमें से कोई भी लक्षण आपको दिखाई दे तो आप समय पर इसका इलाज जरूर करवाए और पथरी में होने वाले असहनीय दर्द से बचें।

  • जब किसी भी भाग में पथरी होती हैं तो पेशाब जाने में दिक्कत होती हैं।
  • पेशाब रुक-रुक कर आती हैं।
  • पेशाब के साथ कभी-कभी खून भी आता हैं।
  • पेट में दर्द होता रहता हैं।
  • कब्ज और दस्त लगातार होते रहते हैं।
  • पेट में पथरी होने पर दर्द अचानक शुरू हो जाता हैं तथा समय के अनुसार दर्द तेज हो जाता हैं।
  • पथरी में दर्द रात के समय या सुबह-सुबह ज्यादा होता हैं।
  • मूत्र में से असामान्य गन्ध आती हैं।
  • बार-बार पेशाब जाने की इच्छा होती हैं।
  • पथरी होने पर पेसाब के रंग में परिवर्तन हो जाता हैं।
  • पेसाब जाने पर असहनीय दर्द होता हैं।
  • सामान्य से ज्यादा पसीना आता हैं।
  • पथरी की स्थिति एवं प्रकार के आधार पर दर्द भी अलग-अलग होता हैं।
  • कुछ केश में दर्द बाजू, गुप्तांग, जांघ के बीच भी फैल जाता हैं।
  • ज्यादातर केस में दर्द पीठ के तरफ या पेट के निचले हिस्से में होता हैं।

पथरी होने के कारण

हमारे शरीर में अंतः स्त्रावी ग्रंथि के बिगड़ जाने के कारण पेसाब में कैल्शियम जमा हो जाती हैं। अगर पेसाब के दौरान कैल्शियम बाहर निकल जाए तब तो ठीक है और अगर कैल्शियम नहीं निकलता हैं तो यही कैल्शियम गुर्दे में जमा हो कर पथरी बना देता हैं।

आनुवंशिकता के कारण से भी पथरी होती हैं पथरी किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकती हैं खान पान की खराबी के कारण भी पथरी हो जाती हैं।

पथरी के प्रकार

  • पुरषों में महिलाओं की तुलना में ज्यादा पथरी होती हैं।
  • बीस से तीस साल के पुरुष पथरी से ज्यादा प्रभावित होते हैं।
  • सबसे आम पथरी कैल्शियम पथरी होती हैं।
  • कैल्शियम में आक्सलेट, फास्फेर या कार्बोनेट मिलकर पथरी का निर्माण करते हैं।
  • स्ट्रवाइट पथरी मूत्र मार्ग मार्ग में होने वाले सक्रमण के कारण होती हैं।
  • स्ट्रवाइट पथरी ज्यादातर महिलाओं में पाई जाती हैं।

पथरी होने पर करने वाले बचाव

  • ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए ज्यादा पानी पीने से गुर्दे में पानी जाएगा जिससे कोशिकाओं में पानी की कमी नहीं होगी।
  • आप ज्यादा पानी पिएंगे तो आपके शरीर में ज्यादा मूत्र बनेगा (कम से कम 2 से 2.5 लीटर मूत्र रोज बनना चाहिए)
  • आपको बोरिंग और कुएं का पानी पीना चाहिए क्योंकि इस पानी में अधिक क्षार एवं खनिज या लवण पाया जाता हैं।
  • आप भोजन करते समय प्रोटीन, नाइट्रोजन, तथा सोडियम की मात्रा कम से कम लें।
  • पालक, टमाटर, आलू, चाय, नमक, चावल आदि को कम मात्रा में खाना चाहिए।
  • चॉकलेट, सोयाबीन, मूंगफली ना खाएं क्योंकि इसमें ऑक्जेलेट की मात्रा पाई जाती हैं जो शरीर को नुकसान पहुँचाती हैं।
  • आप विटामिन – C की मात्रा बिल्कुल भी ना लें।
  • पथरी होने पर नारंगी का जूस पिए क्योंकि नारंगी के जूस से पथरी का खतरा कम हो जाता हैं।

 पथरी के 10 आसान इलाज

यूरिन में उपस्थित केमिकल यूरिक एसिड, फॉस्फोरस, कैल्शियम, ओक्सालिक एसिड मिलकर पथरी का निर्माण करते हैं आज कल यह बीमारी सभी उम्र के व्यक्तियों को हो रही हैं किडनी स्टोन ज्यादातर किडनी में ही होती हैं लेकिन कुछ लोगों को यह बीमारी मूत्रमार्ग या गाल ब्लाडर में भी हो जाती हैं।

नीचे कुछ घरेलू उपायों को विस्तार पूर्वक दिया गया हैं जिसको पढ़कर आप रोज उपयोग में लाइए इससे आपको लाभ जरूर होगा आप पथरी को अपने शरीर से दूर कर पाएंगे।

1. तुलसी

तु लसी पथरी की बीमारी के लिए अच्छी औषधि हैं तुलसी शरीर के पूरे अंगों को स्वस्थ लगती हैं।

आप तुलसी की कुछ पत्तियों को ऐसे ही चबा कर खा सकते हैं।

आप तुलसी के कुछ पत्तो को लीजिए और उनको पीस कर उनका रस निकाल लीजिए और उसमें थोड़ी सी शहद मिलाए जिससे आपको खाने में कड़वा ना लगें रोज सुबह खाली पेट इसका सेवन कीजिए यदि आपको शहद पसंद नहीं हैं तो आप सिर्फ तुलसी का रस पी सकते हैं ऐसा आपको कुछ महीने करना है तब जाकर आपको आराम मिलेगा।

आप तुलसी की चाय बना कर उसका सेवन भी कर सकते हैं तुलसी की पत्तियों को पानी में उबाले फिर उसमें शहद मिलाएं और पी जाएं इससे भी आपको आराम मिलेगा।

2. अश्वगंधा

अंश्वगंधा की जड़ो को पानी में उबाल लीजिए गुनगुना रस पीने से पथरी के दर्द में आराम मिलता हैं इसे पीने से मूत्राशय और पेसाब में होने वाली जलन की शिकायत खत्म होती हैं।

अश्वगंधा की जड़ो का सेवन करने से पथरी पेसाब के दौरान बाहर निकल जाती हैं यदि आप भी इसी तरह पथरी बाहर निकालना चाहते है तो कम से कम दो महीने तक इसका सेवन जरूर कीजिए तब जाकर आपको आराम मिलेगा।

3. सौंफ

सौफ की चाय बनाने के लिए आप आधा चम्मच सौफ के बीज लीजिए उनको बारीक कुचल लीजिए अब दो कम पानी लीजिए उसमें यह सौफ के बीजों को डालिए और गुनगुना करके पी जाइए ऐसा आप एक दिन में दो से तीन बार कीजिए तो पेट दर्द और किडनी के दर्द में राहत मिलती हैं एक दिन में 25 मिलीलीटर सौफ का रस पीने

4. अनार

अनार किडनी स्टोन को बाहर निकालने में मदद करते हैं इसका जूस और दाने बहुत लाभदायक होते हैं आप बाजार से एक ताजा अनार ला कर उसको काट कर उसके दाने निकाल लीजिए रोज सुबह खाली पेट इसका सेवन कीजिए।

काले चने को रात में पानी में भिगो कर रख दीजिए सुबह उठकर काले चने को उबाल लीजिए और अनार के दानों को मिक्सी से पीस लीजिए फिर इसका पेस्ट बना लीजिए और अब अनार केे पेस्ट को उबले काले चने के साथ खाइए यह आपके शरीर के अंदर ही स्टोन को नष्ट कर देता हैं।

5. आंवला

पथरी में आंवला बहुत ही उपयोगी हैं आप आंवले के छोटे-छोटे टुकड़े कर लीजिए फिर उन्हें बारीक पीस लीजिए और रस निकाल लीजिए उस रस में इलायची मिलाइए और हल्का गर्म करके पी जाइए इससे आपको आराम जरूर मिलेगा और आप पेसाब भी जाने लगेंगे।

6. तरबूज

तरबूज में पोटैशियम पाया जाता हैं जो किडनी को मजबूत बनाता हैं तरबूज पथरी को दूर करने के लिए अच्छा स्त्रोत माना गया हैं।

तरबूज खाने से यूरिन में एसिड लेवल बराबर मात्रा में होती हैं और इसका सेवन करने से पानी की मात्रा भी अधिक बढ़ जाती हैं।

तरबूज का सेवन करने से हमारे शरीर में पानी की मात्रा बढ़ती हैं और यूरिन के द्वारा निकल जाती हैं जिससे मूत्राशय में जमा कचरा बाहर निकल जाता हैं आप रोज सुबह तरबूज का सेवन कीजिए आपको लाभ जरूर मिलेगा।

7. राजमा

राजमा में फाइबर की अधिकता पाई जाती हैं जो किसी भी प्रकार के स्टोन को नष्ट कर देता हैं आप राजमा को रात में भिगो कर रख दीजिए सुबह इसको पानी से बाहर निकाल कर उबाल लीजिए फिर इनमें से पानी को छान कर ठंडा कर लीजिए अब इस पानी का सेवन दिन में जितना आप पी सके उतना कीजिए राजमा के पानी से दर्द कम होता हैं।

आपको राजमा की सब्जी भी बना सकते हैं और राजमा का सूप बना कर भी पी सकते हैं इससे भी आपको आराम मिलेगा।

8. अंगूर

अंगूर में पोटैशियम और नमक पाया जाता हैं और साथ ही इसमें पानी भी पाया जाता हैं इसका सेवन करने से पेसाब ज्यादा लगती हैं जिसके कारण मूत्राशय में जमा कचरा बाहर आ जाता हैं और पथरी भी गल कर बाहर आ जाती हैं इसलिए आप रोज अंगूर का सेवन कीजिए और अपने दर्द से मुक्ति पाइए।

9. प्याज

प्याज में पोटैशियम और विटामिन – B शरीर मे पथरी को बढ़ने से रोकते हैं प्याज में कई प्रकार के औषधीय गुण पाए जाते हैं जो कई बीमारियों से बचाते हैं आप दो प्याज को बारीक काट लीजिए फिर एक गिलास पानी में इसको उबालिए फिर उबाल कर उसे ठंडा कर लीजिए फिर उसे मिक्सी से पीस लीजिए फिर इसका रस निकाल कर छान लीजिए और रोज पीजिए आपको इससे आराम जरूर मिलेगा।

10. गेंहू की बाली

गेंहू की बाली में मैग्रेशियम, पोटैशियम, आयरन, विटामिन – B व अमीनो एसिड पाया जाता हैं जो पथरी को दूर करने में मदद करता हैं गेंहू की बाली किडनी स्टोन दूर करने में सहायक होती हैं गेंहू की बाली का रस पीने लाभदायक होता हैं।

आप गेंहू की बाली को पीस कर उसका रस निकाल लीजिए एक नींबू को बीच से काटकर उसका रस भी निकाल लीजिए  एक गिलास गेंहू की बाली का रस और नींबू के रस में एक चम्मच शहद मिलाइए और दिन में दो-तीन बार पीजिए आपको आराम जरूर मिलेगा।

पथरी का इलाज के लिए महत्वपूर्ण टिप्स

  • रात को सोने से पहले दो गिलास पानी में दो बड़े चम्मच सौंफ, सूखा धनिया और मिश्री डालकर रख दीजिए सुबह खाली पेट इसे छानकर पिए आपको जल्द ही पथरी से राहत मिलेगी।
  • केले में जो विटामिन पाए जाते हैं वो पथरी को बढ़ने से रोकते हैं पथरी के दर्द से राहत पाने के लिए रोज सुबह खाली पेट केले खाए केले खाने से दर्द में आराम मिलेगा।
  • एक गिलास पानी में अजवाइन डालकर पानी को उबाल लें फिर इसे छानकर रख दे ठंडा होने पर यह पानी पिए दर्द में आराम जरूर मिलेगा।
  • नींबू में सिट्रिक एसिड की मात्रा पाई जाती हैं जो शरीर में कैल्शियम की मात्रा को बढ़ने से रोकती हैं पथरी के कारण जब भी आपको दर्द हो आप नींबू पानी का उपयोग कीजिए आपको आराम जल्द ही मिलेगा।
  • पथरी के कारण दर्द होने पर आप एलोवेरा का जूस पिए इससे आपको जल्द ही राहत मिलेगी।
  • एप्पल विनेगर किडनी स्टोन को डिसॉल्व कर देता हैं एप्पल विनेगर में क्षार के गुण पाए जाते है जो खून व यूरिन को इफेक्ट करता हैं आप एक कम गुनगुने पानी में दो चम्मच विनेगर और एक चम्मच शहद मिलाइए और इसे दिन में दो बार पीजिए।

दोस्तों आपको यह पोस्ट पथरी का इलाज कैसी लगी मुझे कमेंट द्वारा जरूर बताइए।

आप इस पोस्ट पथरी का इलाज को पढ़कर, पथरी को जरूर निकाल पाओगें।

इसमें कुछ ऐसे घरेलू उपायों को लिखा है जिसका सेवन करने पर पथरी धीरे-धीरे गलने लगेगी और बाहर निकल जाएगी।

दोस्तों इस पोस्ट पथरी का इलाज को व्हाट्सएप्प, फेसबुक, इस्टाग्राम, ट्विटर पर ज्यादा से ज्यादा शेयर जरूर कीजिए। जिससे अन्य लोगो को भी इसकी जानकारी प्राप्त हो सके।

2 thoughts on “पथरी का इलाज, कारण, दुष्परिणाम और सावधानिया पढ़े

  1. hlo rajat , such a great article thanks for sharing , mere bhi kuch saal pehle pathri thi lekin baad me ye bina operation ke nikal gai thi , apne bahut hi ache tips share kiye hai …. thanks again for sharing this amazing article with us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!