मोमबत्ती बनाने का व्यापार कैसे शुरू करे

यदि आप मोमबत्ती बनाने का व्यापार शुरू करने की सोच रहे है तो एक दम सही पेज पर आये है क्योकि इस पेज पर हमनें मोमबत्ती बनाने के व्यापार की समस्त जानकारी शेयर की है और इस पेज पर दी गयी जानकारी को पढ़कर आप भी आसानी से मोमबत्ती बनाने का व्यापार शुरू कर पाएंगे।

पिछले आर्टिकल में हमने अगरबत्ती बनाने के व्यापार की जानकारी शेयर की है उसे जरूर पढ़े।

चलिए इस पेज पर हम मोमबत्ती बनाने के व्यापार की जानकारी को समझते है।

मोमबत्ती बनाने का व्यापार कैसे शुरू करे

पहले के जमाने में मोमबत्ती का इस्तेमाल घर को रोशनी देने के लिए किया जाता था परंतु आजकल मोमबत्ती का इस्तेमाल घर की सजावट करने के लिए लगभग सभी प्रकार की पार्टयों में भी होने लगा है इसलिए अब मोमबत्ती के बिजनेस में भी तेजी आयी है।

इसके मद्दे नजर रखते हुए सम्पूर्ण भारत में अनेक लोग मोमबत्ती का व्यापार कर रहे हैं।

मोमबत्ती बनाने के व्यापार को शुरू करने के लिए आपको निम्न स्टेप्स फॉलो करने होते है।

1. स्थान का चुनाव करे

आप मोमबत्ती का व्यवसाय ऐसी जगह पर शुरू करें जहां पर अच्छी सड़क हो, यातायात के साधन 24 घंटे उपलब्ध हो और इलेक्ट्रिसिटी की सप्लाई 24 घंटे हो। क्योकि मशीनों को चलाने के लिए 24 घंटे बिजली की आवश्यकता पड़ेगी और अगर आपको 24 घंटे बिजली प्राप्त होगी तब ही आप अपने मशीनों से अधिक से अधिक उत्पादन निकाल पाएंगे।

2. मोमबत्ती बनाने का कच्चा माल

मोमबत्ती का निर्माण करने के लिए आपको निम्न सामग्री चाहिए।

कच्ची सामग्रीमात्रामूल्य
पैराफिन मोम1 किलो ग्राम115 रूपये
बर्तन या पॉट1 पैन250 रूपये
कैस्टर तेल1 लीटर310 रूपये
मोमबत्ती के धागे1 रोल35 रूपये
विभिन्न रंग1 पैकेट85 रूपये
थर्मामीटर1160 रूपये
सुंगंध के लिए सेंट1 बोतल250 रुपये
ओवन15000 रूपये

नोट : ऊपर दी गयी कच्चे मॉल की कीमत समय के अनुसार कम ज्यादा हो सकती है।

3. मोमबत्ती के लिए कच्चा माल खरीदें

मोमबत्ती बिजनेस के लिए कच्ची सामग्री आपके एरिया के लोकल दुकानदार भी दे सकते हैं या फिर आप ऑनलाइन सभी सामग्री आर्डर कर सकते है।

कच्चा माल सिर्फ और सिर्फ थोक कीमत पर ही खरीदे।

यदि आपको सामान कम कीमत पर खरीदने में दिक्कत होती है तो आप India mart पर भी थोक विक्रेता से सम्पर्क कर सकते है।

4. मोमबत्ती बनाए

मोमबत्ती का निर्माण करने के लिए सबसे पहले मॉम को छोटे-छोटे भाग में करे और उसे बर्तन में डालकर चूल्हे पर पिघलाएं।

ऐसा करते समय इस बात का ध्यान अवश्य रखें कि मोम पिघलाने का काम बहुत ही सावधानी से हो क्योंकि अगर इसमें से चिंगारी निकलती है तो पिघला हुआ मॉम आग पकड़ सकता है इसलिए इसमें विशेष सावधानी रखें।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मॉम के छोटे-छोटे टुकड़े इसलिए किए जाते हैं ताकि वह आसानी से पिघल सके।

इसके साथ ही थर्मामीटर के द्वारा पिघलते हुए मॉम के तापमान की जांच करते रहे क्योकि अलग-अलग मॉम को अलग-अलग तापमान पर पिघलाया जाता है।

जैसे:

  • पुरानी मोमबत्तियों को लगभग 185 डिग्री तक पिलाना चाहिए।
  • सोय मोम को 170 से 180 डिग्री तक पिलाना चाहिए।
  • मधूमोम को 145 डिग्री फॉरेनहाइट तक पिलाना चाहिए
  • पैराफिन मोम को 145 डिग्री फॉरेनहाइट तक पिलाना चाहिए।

इसके बाद पिघले हुए मॉम में कलर मिलाने की बारी आती है ताकि वह रंग बिरंगी दिख सकें और लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करें।

इसमें इस बात का ध्यान रखें कि कलर का रंग गाढ़ा ही हो क्योंकि मोमबत्ती ठंडी होने पर उसका कलर हल्का हो जाता है।

अगर आप सुगंधित मोमबत्ती बनाना चाहते हैं तो आप प्राकृतिक तेल भी मिला सकते हैं। इसके अलावा आप चाहे तो किसी सुगंधित इत्र का इस्तेमाल भी मोमबत्ती को सुगंधित बनाने में कर सकते हैं।

इसके बाद बारी आती है सूती धागे को सांचे में लगाने की। ऐसा करते समय इस बात का ध्यान रखें कि धागा सांचे के ठीक बीच में ही रहना चाहिए। साथ ही यह भी सुनिश्चित कर लें कि सांचा ऐसा हो जो पिघले हुए मॉम का तापमान सहन कर सके।

इसके बाद अब किसी कपड़ानुमा बर्तन से पिघले हुए मॉम को सांचे में डालें। ध्यान रखें कि यह काम बहुत ही सावधानी से करें क्योंकि पिघला हुआ मॉम आपको जला सकता है।

अब आपका सारा काम हो गया है अब बस इसे ठंडा होने दें। इसे ठंडा होने में 18 से 20 घंटे का समय लग सकता है। जब यह ठंडा हो जाएगा तब आपकी मोमबत्ती तैयार हो जाएगी।

मोमबत्ती बनने में कितना समय लगता है

मोमबत्ती को बनाने में लगने वाला समय इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस तरह से इसका निर्माण कर रहे है।

अगर मशीन का इस्तेमाल कर रहे है, तो उसकी मशीनें कितने समय में कितनी मोमबत्तियों का उत्पादन करती है ये मशीन पर निर्भर करता है।

अगर आप अर्ध स्वचालित मशीन का उपयोग कर रहे है, तो यह मशीन 15 मिनट में 300 मोमबत्तियों का उत्पादन कर सकती है और यदि आप छोटे तौर पर घर में मोमबत्ती बनाते है तो मोमबत्ती को बनाने में लगे कर्मचारियों की संख्या और उनकी कार्यक्षमता पर निर्भर करता है कि वे कितनी मोमबत्ती का उत्पादन कर सकते है।

वैसे मोमबत्ती बनाने की पूरी प्रक्रिया एक व्यक्ति के द्वारा 30 से 35 मिनट में हो सकती है और सांचे की संख्या के आधार पर 90 मोमबत्तियों का निर्माण आसानी से किया जा सकता है।

मोमबत्ती बनाने के व्यापार में निवेश

अगर आप घरेलू तौर पर मोमबत्तीओ का निर्माण करना चाहते हैं तो इसमें आपको शुरुआती लागत लगभग 20000 के आसपास तक हो सकती है।

वहीं अगर आप मशीनों के द्वारा बिजनेस करने के लिए मोमबत्तीयो का निर्माण करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको मोमबत्ती की मशीन 50000 से लेकर 100000 तक की पड़ जाएगी।

जितनी बड़ी मशीन होगी उतना ही ज्यादा उत्पादन होगा।

मोमबत्ती बनाने के लिए License प्राप्त करें

अगर आप घरेलू तौर पर मोमबत्ती बनाने का व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कोई लाइसेंस की जरूरत नहीं है।

परंतु अगर आप कैंडल मेकिंग बिजनेस को व्यवसाय के रूप में चालू करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको अपने बिजनेस फार्म के नाम से पैन कार्ड का आवेदन देना होगा। इसके साथ ही करंट अकाउंट भी खुलवाना होगा। इसके साथ ही आपको अपनी लोकल अथॉरिटी से ट्रेड लाइसेंस भी लेना होगा।

लाइसेंस किसी भी बिजनेस को करने के लिए लेना ही होता है। इसके अलावा चुकीं आपका उद्योग सामान खरीदने और बेचने का है तो उसके लिए आपको सेल्स टैक्स रजिस्ट्रेशन भी लेना आवश्यक रहेगा। आप अपने ब्रांड को चमकाने के लिए ट्रेडमार्क का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।

मोमबत्ती की मार्केटिंग करे

पहले की तरह हर बिजनेस का यह सबसे अहम पहलू होता है कि वह अपने बिजनेस को फैलाए।

अगर आप व्यवसाय के तौर पर मोमबत्ती मेकिंग बिजनेस कर रहे हैं तो आपको इसकी मार्केटिंग पर विशेष ध्यान देना होगा।

क्योंकि मार्केटिंग से ही आपका सामान ज्यादा बिकेगा। इसके लिए आपको अपने शहर के किसी व्यस्त चौराहे पर अपने ब्रांड नाम से बैनर और पोस्टर लगवाना होगा ताकि वहां आने जाने वाले लोग उसे देख सके और आपके व्यवसाय के बारे में जान सकें।

इसके अलावा आप अपने शहर के अखबार का सहारा भी ले सकते हैं। आप अपने शहर के किसी भी अखबार में अपने मोमबत्ती बिजनेस का विज्ञापन दे सकते हैं।

इसके अलावा सोशल मीडिया साइट पर आप अपने मोमबत्ती बिजनेस का फेसबुक पेज बनाकर भी शेयर कर सकते हैं। ऐसा करने से कम समय में ही लोग आपके व्यवसाय के बारे में जानने लगेंगे।

मोमबत्ती कहां बेचे

अपनी तैयार मोमबत्तियां आप अपने लोकल एरिया के दुकानदारों को बेच सकते हैं।

इसके लिए आप अपने एरिया में पड़ने वाले सभी दुकानदारों के पास जाएं और उन्हें अपने प्रोडक्ट के बारे में बताएं,साथ ही उन्हें शुरुआत में किफायती रेट पर मोमबत्तियां सप्लाई करें।

क्योंकि अगर जब उन्हें कुछ लाभ होगा तभी वह आपकी मोमबत्तियां खरीदेंगे और एक बार जब दुकानदार आपकी मोमबत्तियां खरीदने लगे तब धीरे-धीरे आप की सेलिंग बढ़ती जाएगी।

इसके अलावा आप ऑनलाइन यह भी पता करिए की कौन-कौन सी कंपनी अथवा दुकानदार थोक में मोमबत्तियां खरीदते हैं आप उन्हें भी सप्लाई कर सकते हैं।

मोमबत्ती की पैकिजिंग

मोमबत्ती की पैकिंग आप ऐसी बनाए जिससे वह लोगों को अपनी तरफ आकर्षित कर सकें।

इसके लिए आप बर्थडे पार्टी में इस्तेमाल होने वाले चमकीले और चमकीली झिल्लियों का इस्तेमाल कर सकते हैं।

मोमबत्ती की पैकिंग पर अपने ब्रांड का नाम भी अवश्य लिखें ताकि आगे चलकर लोग आपके ब्रांड को जानने लगे।

जरूर देखे:-

मोमबत्ती बनाने की व्यापार में सावधानियां

जब भी मोमबत्ती पिलाई जाती है तब उसका तापमान अधिक रहता है।

इसलिए उसे पिघलाते समय सावधानियां का ध्यान रखे क्योंकि अगर पिघलती मोमबत्ती आपके ऊपर गिर जाएगी तब आप जल सकते हैं इसलिए अपने हाथों में सेफ्टी ग्लव्स जरूर पहन ले।

इस post में आपने Candle making business के बारे में सम्पूर्ण जानकारी को पड़ा।

मुझे उम्मीद हैं कि आपको हमारे द्वारा लिखी गई ये post जरूर पसंद आई होगी यदि आपको ये पोस्ट पसंद आएगी।

इस पोस्ट को Social Midea जैसे Whatsapp, Facebook, Instagram, Twitter पर शेयर करना ना भूले।

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Exit mobile version