NGO क्या है

NGO क्या हैं कैसे शुरू करे और इसके लाभ क्या है?

Last Updated on June 8th, 2020 by Bhupendra Singh

NGO से संबंधित समस्त जानकारी पढ़े : वर्तमान में भारत में ही नहीं परंतु पूरी दुनिया में बहुत से ऐसे सामाजिक और प्राइवेट संस्थाएं हैं जो लोगों के लिए अलग-अलग प्रकार से काम कर रही है और उनकी सहायता कर रही है।

इन संस्थाओं के अलग-अलग प्रकार के सामाजिक कार्य होते हैं जैसे कि लोगों को मदद करना।अगर कहीं पर बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं वहां पर सामाजिक संस्था अर्थात NGO के द्वारा ही मदद पहुंचाई जाती है।

इसके अलावा समय-समय पर यह NGO विश्व के अलग-अलग देशों में सफाई अभियान भी चलाते रहते हैं। इसके अलावा अगर कहीं सूखा पड़ जाए या कहीं ज्यादा गंदगी हो अथवा अनाथ बच्चों की देखरेख हो या फिर बुजुर्ग लोगों का सहारा बनने की बात हो। हर जगह एनजीओ उनकी मदद के लिए तत्पर रहता है।

दोस्तों अब आप तो यह जान ही गए होंगे कि एनजीओ काम कैसे करता है परंतु क्या आप यह बात जानते हैं कि आखिरकार NGO क्या हैं? तथा एनजीओ कैसे चालू किया जाता है।

अगर आप NGO क्या हैं? के बारे में नहीं जानते हैं तो आपको चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि आज के इस आर्टिकल में हम आपको इन सभी के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं, तो चलिए शुरू करते हैं।

NGO क्या हैं?

NGO का अंग्रेजी में अर्थ ”Non-Government Organization” होता है और इसे हिंदी में गैर सरकारी संगठन कहते हैं।

NGO एक ऐसा संगठन है जिनमें किसी भी सरकार का कोई भी हस्तक्षेप नहीं होता है।

कहने का मतलब है कि इसमें कोई भी सरकार का कोई भी रोल नहीं होता है।

इस संगठन का उद्देश्य है लोगों की सेवा करना ना कि व्यापार की तरह इससे पैसे बनाना Non-government Organization का निर्माण किसी भी व्यक्ति द्वारा किया जा सकता है।

जो व्यक्ति समाज सेवा करने की चाहत रखता हो वैसा कोई भी व्यक्ति इस संगठन को अपने बलबूते पर स्थापित कर सकता है। कई लोग NGO संयुक्त तौर पर खोलते हैं तो कई लोग व्यक्तिगत तौर पर भी NGO खोलते हैं परंतु दोनों का उद्देश्य समाज सेवा ही करना होता है।

यह संगठन बहुत ही बड़े पैमाने पर अपना काम करता है और इसके अलावा दुनिया में कई ऐसे संगठन है जो लोगों को आर्थिक मदद देने के लिए भी खोले गए हैं। ऐसे संगठन लोगो को क्राउड फंडिंग के जरिए पैसे उपलब्ध करवाते हैं। यह पैसे पूरी दुनिया से लोग दान करते हैं।

India में बहुत सारे ऐसे संगठन है जो सेवा का कार्य कर रहे हैं वहीं कई ऐसी हस्तियां भी हैं जो इस कार्य में जुटी हुई है।जैसे भारत के प्रसिद्ध सुपरस्टार Salman Khan के द्वारा “Being Human” नाम का संगठन चलाया जाता है।

इस NGO की वजह से Salman Khan जितने भी रुपए कमाते हैं उसमें से वह कुछ हिस्सा जरूरतमंद लोगों को बांट देते हैं।इसी तरह कई अन्य एनजीओ शिक्षा के लिए भी चल रहे हैं तो कई एनजीओ सोशल हेल्प के लिए भी चलाए जा रहे हैं।

अगर हम india की बात करें तो यहां पर लगभग 3 लाख से अधिक NGO कार्यरत हैं। वहीं दुनिया के सबसे बड़ी जनसंख्या वाले देश चाइना में लगभग चार लाख 40 हजार NGO संस्थाएं उपलब्ध हैं। वहीं America में करीब 15 लाख NGO संस्थाएं कार्यरत हैं। इसके साथ ही दिन प्रतिदिन इन संस्थाओं की संख्या में वृद्धि होती जा रही है।

भारत देश के महाराष्ट्र राज्य में सबसे ज्यादा एनजीओ कार्यरत है। महाराष्ट्र में तकरीबन 480000 एनजीओ हैं। इसके बाद दूसरे नंबर पर आंध्र प्रदेश राज्य का नंबर आता है, यहां पर 460000 एनजीओ है।

इसके बाद उत्तर प्रदेश में 430000, केरल में 330000, कर्नाटक में 190000, गुजरात और पश्चिम बंगाल में 170000, तमिलनाडु में 104000, उड़ीसा में 130000 तथा राजस्थान में 100000 एनजीओ सक्रिय हैं।

NGO कैसे खोले?

आप अपना एक ग्रुप बनाकर NGO चालू कर सकते हैं। हमारे देश में एनजीओ का संचालन कई कानूनों के तहत होता है जैसे कि इंडियन ट्रस्ट एक्ट (1982), पब्लिक ट्रस्ट एक्ट (1950), इंडियन कंपनीज एक्ट (1956-धारा- 25), रिलीजियस एंडोमेंट एक्ट  (1863), चेरीटेबल एंड रिलीजियस ट्रस्ट एक्ट (1920), मुस्लिम वक्फ एक्ट (1923), वक्फ एक्ट (1954), पब्लिक वक्फ—एक्सटेंशन ऑफ लिमिटेशन एक्ट (1959) आदि।

वैसे हमारे देश में NGO चालू करना ज्यादा मुश्किल नहीं है। बिना मुनाफे घाटे के काम करने वाले NGO Company Act Section 25 के अंतर्गत ट्रस्ट संस्था, सोसायटी या प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के रूप में अपना NGO Registered करवा सकते हैं।

NGO की Website कैसे बनाये

लोगों से फंड प्राप्त करने के लिए आप अपने एनजीओ की वेबसाइट जरूर बनवाएं। ऐसा करने से आपके एन जी ओ के द्वारा किए गए कार्यों की जानकारी आप अपनी वेबसाइट के द्वारा बहुत से लोगों तक पहुंचा सकते हैं।

इससे लोगों का आप के एनजीओ पर विश्वास बढ़ेगा। इससे आपके एनजीओ का प्रचार भी होगा और धीरे-धीरे आपके एनजीओ की पहुंच अधिक से अधिक लोगों तक हो जाएगी।

इसके अलावा आप अपनी वेबसाइट में डोनेशन बटन भी एक्टिव कर सकते हैं जिससे अगर किसी को आपके एनजीओ को ऑनलाइन दान देना होगा तो वह भी वह कर सकता है।

NGO खोलने का मुख्य उद्देश्य क्या हैं?

  • गरीब और अनाथ बच्चों को शिक्षा देना।
  • School में बच्चों को प्रोटीन युक्त भोजन दिलवाना।
  • बच्चों को Books Provide करना।
  • गरीब महिलाओं को आवास देना।
  • जल संवर्धन के कार्य करना।
  • आदिवासी समाज की सभी समस्या हल करना।
  • समाज में किसी तरह की बीमारी से झुझ रहे लोगों की मदद करना।
  • वृद्ध लोगों की मदद करना।

INDIA के BEST NGO की LIST

  • Helpage India
  • Smile Foundation
  • Goonj Limited
  • Child Rights and You (Cry)
  • Give India
  • Nanhi Kali
  • Sargam Sanstha
  • sammaan Foundation
  • Pratham
  • Libra society
  • Being Human

NGO में Salary

मौजूदा समय में NGO में काम करने वाले लोगों को अच्छा वेतन मिलता है। वेतन का निर्धारण इस बात पर होता है कि आपका कार्यक्षेत्र कैसा है और आपके कार्य का प्रकार कौन सा है। NGO में आपके काम के अनुसार आपको 10 से 15000 तथा 100000 तक की कमाई हो सकती है।

क्या आप जानते हैं कि अब NGO को चलाने के लिए भारत सरकार द्वारा संचालित कई इंस्टिट्यूट में एनजीओ प्रबंधन की पढ़ाई भी करवाई जा रही है।

अगर आप नहीं जानते तो हम आज आपको उन संस्थानों की लिस्ट दे रहे हैं जहां पर NGO Managment की पढ़ाई करवाई जाती है। आप यहां से पढ़ाई करके एक अच्छा NGO चालू कर सकते हैं और समाज सेवा के साथ-साथ पैसे भी कमा सकते हैं।

NGO Managment का Course कराने वाले प्रमुख Institute

  • टाटा इंस्टीटय़ूट ऑफ सोशल साइंसेज, मुंबई, महाराष्ट्र
  • दिल्ली विश्वविद्यालय, दिल्ली
  • एमिटी इंस्टीट्यूट ऑफ एनजीओ मैनेजमेंट, नोएडा, उत्तर प्रदेश
  • मदुरै कामराज विश्वविद्यालय, मदुरै, तमिलनाडु
  • अन्नामलाई विश्वविद्यालय, अन्नामलाई नगर, तमिलनाडु राज्य
  • भारतीय उद्यमिता विकास संस्थान, गांधीनगर, गुजरात राज्य
  • जेवियर इंस्टीटय़ूट ऑफ सोशल साइंसेज, रांची, झारखंड
  • ग्रामीण प्रबंधन संस्थान, आणंद, गुजरात
  • लखनऊ विश्वविद्यालय, लखनऊ, उत्तर प्रदेश राज्य
  • सेंटर ऑफ सोशल इनीशिएटिव एंड मैनेजमेंट, हैदराबाद,तेलंगाना राज्य

NGO की विदेशी संस्थान

  • टेंपल युनिवर्सिटी (जापान)
  • कैस बिजनेस स्कूल (लंदन)
  • एनजीओ मैनेजमेंट स्कूल (बेसिंस, लंदन)

NGO के लिए Fund कैसे प्राप्त करे?

अपने NGO के लिए फंड इकट्ठा करना एक NGO के लिए सबसे कठिन काम होता है। अगर आप प्रोफेशनल और सही तरीके से काम नहीं करते हैं तो आपके लिए पैसे जुटाना असंभव सा लगने लगता है

परंतु आपको इस बात की चिंता करने की जरूरत नहीं है क्योंकि इस आर्टिकल में हम आज आपको इसके बारे में बताने वाले हैं कि आप अपने एनजीओ के लिए अधिक से अधिक पैसे कैसे इकट्ठा कर सकते हैं।

Private Company से contact करें

आप चाहे तो अपने एनजीओ के लिए प्राइवेट कंपनियों से भी पैसे जुटा सकते हैं। आप छोटी कंपनियों को कॉल करके या ईमेल भेजकर आर्थिक सहायता के लिए कह सकते हैं।

इसके लिए एनजीओ की वेबसाइट का होना बहुत ही जरूरी है क्योंकि आपकी वेबसाइट आपके एनजीओ की विश्वसनीयता को काफी बढ़ा देती है।

Government से Fund कैसे लें

यदि आपका एनजीओ सरकारी बुक में रजिस्टर है तो आप सरकार से अपने एनजीओ के लिए आर्थिक सहायता ले सकते हैं। सरकार से फंड प्राप्त करने के लिए आपको थोड़ी कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है पर अगर आप सही तरीके से प्रयास करते हैं तो आप सरकारी सहायता अपने एनजीओ के लिए प्राप्त कर सकते हैं।

Fund के लिए कार्यक्रम का आयोजन

आप अपने एनजीओ के लिए फंड प्राप्त करने के लिए किसी भी प्रकार के सामाजिक अथवा धार्मिक कार्यक्रम का आयोजन करवा सकते हैं जिसमें आप अपने कार्यों से सबको अवगत कराएं और लोगों को आर्थिक सहायता के लिए उत्साहित करें।

ऐसे किसी भी कार्यक्रम में आप अपने आसपास के सामाजिक व्यक्ति, डॉक्टर, वकील, नेता जैसे लोगों को बुला सकते हैं और उन्हें अपने एनजीओ के लिए फंड देने के लिए प्रेरित कर सकते हैं।

NGO के प्रकार

दोस्तों आपकी जानकारी के लिए बता दे कि NGO, 3 तरह के होते हैं जैसे सोसायटी, चैरिटेबल ट्रस्ट और सेक्शन 8 चैरिटेबल कंपनी।यह तीनों भले अलग अलग हो परंतु इनका उद्देश्य एक ही होता है।

इसमें फर्क सिर्फ इनको चलाने के तरीके और इनके रूल्स और इनके कर्मचारियों का होता है परंतु यह सभी मानव सेवा के लिए ही बनाए जाते हैं।इसके अलावा कई ऐसे एनजीओ भी कार्यरत हैं जो प्राणियों की रक्षा से भी जुड़े हुए हैं।

Types of NGO

  • Bingo – Business Friendly International NGO

यह Business Friendly International Ngo के लिए Use की जाने वाली एक Short Term है।

  • Engo – Environmental NGO

यह Global 2000 के जैसे Environmental NGO का छोटा रूप है।

  • Gongo – Government-organized Non-governmental Organization

यह सरकार द्वारा Operate किये गए Ngo को Refer करता है।

  • Ingo – International NGO

Ingo Oxfam की तरह International Ngo का एक छोटा रूप है।

  • Quango – Quasi-autonomous NGO

यह Iso Ngo जैसे Quasi Autonomous Ngo को Refer करता है, जैसे International Organization For Standardization (Iso)

NGO खोलने के लाभ

वर्तमान के समय में NGO अतिरिक्त आय का अच्छा साधन बन चुका है। कई बार दूसरी नौकरियों से ज्यादा NGO में वेतन मिलता है और अगर आप किसी अंतरराष्ट्रीय एनजीओ में कार्यरत हैं तो आपकी सैलरी तो बहुत ही अधिक होगी, साथ ही इसमें समाज सेवा का सुकून भी मिलता है।

कई बार कुछ ऐसे लोग भी होते हैं जो अपने व्यक्तिगत फायदे के लिए NGO खोलते हैं क्योंकि एनजीओ में मिलने वाला फंड आयकर मुक्त होता है।

इसलिए जो लोग Black Money अथवा काले धंधे करते हैं वह अपने पैसे को वाइट मनी बदलने के लिए तथा सरकार को Tax देने से बचने के लिए एनजीओ खोलते हैं।

इसके अलावा वह अपने NGO को दिखाकर पूरी दुनिया के बड़े-बड़े लोगों से करोड़ों में फंड लेते हैं। इसका कुछ हिस्सा वह सामाजिक कार्य में खर्च करते हैं बाकी सारा पैसा वह व्यक्तिगत कार्य के लिए रखते हैं। इस तरह वे एनजीओ के द्वारा काफी अच्छे पैसे कमाते हैं।

NGO खोलने का एक फायदा यह भी है कि आपको बड़े-बड़े लोगों से मिलना पड़ता है जिसके कारण आपकी पहचान बड़े बड़े लोग जैसे फिल्मी हस्तियां, राजनेता तथा अन्य जानी-मानी हस्तियों से होती है और आपका सामाजिक संपर्क तगड़ा बनता है।

इसके अलावा नए एनजीओ का गठन पैसा कमाने के लिए, सरकार से अपना Tax बचाने के लिए, राजनीति में अपना करियर बनाने के लिए, प्रसिद्धि पाने के लिए तथा और बहुत तरह के व्यक्तिगत फायदे को देख कर किया जाता है।

एनजीओ से संबंधित कुछ अन्य बातें

NGO एक ऐसा क्षेत्र है जिसकी डिमांड विदेशों में भी काफी है यूनिसेफ, यूनेस्को, यूनाइटेड नेशन, विश्व बैंक, नाटो, विश्व स्वास्थ्य संस्था, एमनेस्टी इंटरनेशनल, रेड क्रॉस, ग्रीनपीस, कॉमनवेल्थ, हुमन राइट एनवायरमेंट प्रोटक्शन जैसी संस्थाओं के साथ जुड़कर भी आप क्षेत्र में काम कर सकते हैं।

इस पेज पर आपने NGO क्या हैं? इसके लाभ और हानि और इसे खोलने की प्रकिया जानने के लिए इस पेज को जरूर पढ़े इसमें आपको विस्तृत जानकारी मिल जाएगी जिसको पढ़कर आप आसानी से अपना Ngo खोल सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.