Welcome to HTIPS

NVMe Storage क्या है इसके प्रकार, उपयोग और लाभ

NVMe in Hindi

NVMe का पूरा नाम Non Volatile Memory Express है। NVMe फ्लैश और Next Generation Solid State Drive के लिए एक नया स्टोरेज एक्सेस और Transport Protocol है जो सभी प्रकार के Enterprise Workload के लिए High Throughput और सबसे तेज प्रतिक्रिया देता है। 

दूसरे शब्दों में NVMe एक High Performance NUMA ( Non Uniform Memory Access ) Optimized और High Scalable Storage Protocol है जो होस्ट को मेमोरी सब सिस्टम से जोड़ता है। यह प्रोटोकॉल नई सुविधा के साथ एक Non Volatile Memory Media ( Nand और Persistent Memory ) के लिए ग्राउंड अप से सीधे PCIe इंटरफेस के माध्यम से CPU से जुड़ा हुआ है।

यह प्रोटोकॉल High Speed PCIe Lanes पर बनाया गया है । PCIe Lanes 3.0 लिंक SATA इंटरफेस की तुलना में 2×से अधिक ट्रांसफर गति प्रदान कर सकता है।

आविष्कार और विकास

NVMe की पहली रिलीज मार्च 2011 में हुई थी जबकि वर्तमान संस्करण (1.3c) मई 2018 में जारी किया गया था। Microsoft ने अक्टूबर 2013 में Windows 8.1 और Server 2012 r2 में NVMe के लिए नेटिव सपोर्ट को शामिल किया था, जिसमें विंडोज अपडेट के जरिए Window 7 और सर्वर 2008 r2 को Backport किया गया था।

पहले Flash आधारित SSDs में मौजूद हार्ड ड्राइव आधारित Enterprise Server/ Storage system में बदलाव को कम करने के लिए पुराने SATA/SAS Physical Interface, Protocol और Form Factor का लाभ उठाया। हालांकि इनमें से कोई भी इंटरफेस और प्रोटोकोल हाई स्पीड स्टोरेज मीडिया के लिए डिजाइन नहीं किए गए थे। 

PCIe Slots मेमोरी जैसे एक्सेस प्रदान करने वाली CPU से सीधे जुडते हैं और एक बहुत ही Efficient Software Stack चला सकते हैं। हालांकि शुरू में PCIe Interface SSD में ना तो Standard थे और ना ही उत्तम सुविधाएं। इन चुनौतियों के कारण NVMe Specifications मुख्य रूप से सामने आए।

NVMe के प्रकार

Non Volatile डाटा स्टोरेज को Electrically Addressed System (Read Only Memory)और Mechanically Addressed System (Hard Disk, Optical Disk, Magnetic Tape, Holographic Memory) के रूप में बांटा जा सकता है।

Electrically Addressed Devices महंगी होती है। इनकी स्टोरेज क्षमता सीमित लेकिन तेज होती है। जबकि Mechanically Addressed Devices की लागत प्रति बिट कम, लेकिन धीमी होते है।

NVMe का आकार

हार्ड ड्राइव आमतौर पर 3.5″ और 2.5″ फॉर्म फैक्टर में आते हैं और SSD आमतौर पर 2.5″ या mSATA कार्ड के रूप में उपलब्ध होते है।

NVMe लिंक्ड ड्राइव में कई प्रकार के फॉर्म फैक्टर होते हैं। सबसे आम है M.2 प्रारूप, जो 30, 42, 80 या 110 मिलीमीटर की लंबाई के साथ 22 मिली मीटर चौड़ा होता है।

NVMe का उपयोग

Non Volatile Memory का उपयोग आमतौर पर सेकेंडरी स्टोरेज या लंबे समय तक लगातार स्टोरेज के कार्य के लिए किया जाता है। ‌Primary Storage का सबसे बडे पैमाने पर इस्तेमाल किया जाने वाला रूप आज Random Access Memory है। जब इसमें कंप्यूटर बंद हो जाता है RAM में स्टोर डाटा खो जाता है।  

हालांकि Non Volatile Memory के अधिकांश रूपों में सीमाएं होती है जो उन्हें प्राइमरी स्टोरेज के रूप में उपयोग के लिए अनुपयुक्त बनाते हैं। आमतौर पर Non Volatile Memory का मूल्य अधिक होता है। यह Low Performance करती है और अस्थिर Random Access Memory की तुलना में इसका सीमित जीवनकाल होता है।

एनवीएमई स्टोरेज का उपयोग निम्नलिखित क्षेत्रों में किया जाता है।

  • Finance, e-commerce और Software sales agent जैसे रियल टाइम ग्राहक Interactions
  • Artificial intelligence, Machine learning, Big data and Advanced analytics apps

NVMe के लाभ

NVMe तेजी से डाटा को ट्रांसफर करता है और कम बिजली की खपत करता है।

Mechanical Storage Device के लिए डिजाइन की गई अन्य इंटरफ़ेस की तुलना में NVMe कम देर करता है, और उच्च इनपुट/आउटपुट प्रति सेकेंड प्रदान करता है। NVMe महत्वपूर्ण डेटा तक जल्दी पहुंच, वर्तमान और भविष्य के Performance के लिए मान्यता और Standard Safety Protocol के समर्थन के लिए कई Core में प्रदर्शन भी प्रदान करता है।

Mechanical Hard Disk Drive के दिनों में डिजाइन किए गए प्रोटोकॉल के विपरीत NVMe ना केवल SSD का लाभ उठाता है बल्कि आज के Multi Core CPU और Gigabyte Memory का भी लाभ उठाता है।

आशा है NVMe की जानकारी आपको पसंद आयी होगी।

NVMe Storage से संबंधित किसी भी प्रश्न के लिए कमेंट करे।

Leave a Reply

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Welcome to HTIPS

×
Product added to cart

No products in the cart.