RAM

RAM क्या है, Computer Ram के प्रकार, कार्य और लाभ

Last Updated on May 9th, 2020 by Bhupendra Singh

जब भी हम नया मोबाइल, लैपटॉप या कंप्यूटर खरीदने के लिए दुकान पर जाते हैं या फिर ऑनलाइन बुकिंग करते हैं तब हम सबसे पहले RAM की जांच करते हैं।

क्योकि अधिकतर लोगो को RAM का मतलब सिर्फ यही ज्ञात होता है कि अधिक RAM का मतलब अच्छा मोबाइल या कंप्यूटर होता है।

और RAM क्या है, यह कितने प्रकार की होती है और इसके काम क्या है यह समस्त जानकारी बहुत कम लोगो को होती है।

इसलिए इस पोस्ट में हमने RAM से संबंधित समस्त जानकारी को शेयर किया है जिसको पढ़कर आप इसको आसानी से समझ पाएंगे और आगे से कोई भी Device खरीदते समय सही रैम का चुनाव कर पाएंगे।

RAM क्या है?

यह एक प्रकार की Memory होती है इसे हम Primery Memory के नाम से भी जानते हैं।

RAM का Fullform Random Access Memory है।

यह कंप्यूटर अथवा स्मार्टफोन सिस्टम को स्पेस देता है जिससे किसी भी लॉन्चेड डाटा को मैनेज किया जा सकता है।

हम जब भी अपने मोबाइल अथवा कंप्यूटर में किसी भी फाइल, एप्लीकेशन, फोटो, वीडियो या गेम को Open करके देखते हैं तो वह हमारे रैम के अंदर ही Stored होता है।

Random Access Memory किसी भी Data को तब तक अपनी Memory के अंदर संग्रह करके रखता है जब तक की उसका इस्तेमाल उपयोगकर्ता द्वारा किया जाता है।

जब आपका power supply चालू रहता है तब तक रैम आपके कंप्यूटर में काम करता है और जैसे ही आप अपना Computer बंद करते हैं वैसे ही Random Access Memory का काम खत्म हो जाता है

Random Access Memory कंप्यूटर और अन्य डिवाइस का महत्वपूर्ण हिस्सा है।

रैम आमतौर पर मदर बोर्ड के ऊपर या फिर मदरबोर्ड से जुड़े हुए छोटे बोर्ड पर कई चिप्स के समूहों के साथ लगाया जाता है। यह मेमोरी पूरी तरह से इंटरनल मेमोरी पर आधारित होकर अपना काम करता है।

रैम दूसरी मेमोरी की तुलना में कम होती है।

किसी भी Device का रैम 1GB, 2GB, 4GB, 8GB, 16GB और 32GB तक होता है।

जबकि बाकी internal Storage और External Storage क्षमता अधिक होती है।

जैसे : 50GB, 64GB, 32GB, 360GB, 500GB 1TB

कंप्यूटर की रैम की छमता के अनुसार ही हम डिवाइस में एप्लीकेशन या फाइल को एक साथ खोल सकते हैं और उनका एक साथ इस्तेमाल कर सकते हैं।

अगर आपके कंप्यूटर की RAM कम है और आप कंप्यूटर में एक साथ अधिक Application या Files का इस्तेमाल करते हैं तो आपका कंप्यूटर हैंग होने लगता है या कंप्यूटर Slow चलने लगता है इसलिए हमेशा अधिक Random Access Memory वाले कंप्यटर या नया डिवाइस खरीदने चाहिए।

जरूर देखे : CPU क्या है?

Computer RAM कितने प्रकार की होती है?

Random Access Memory बहुत से प्रकार की होती है और इसकी क्षमता और स्पीड के आधार पर इसे अलग-अलग भागों में बांटा गया है।

RAM की छमता को MB और GB में नापा जाता है और इसकी स्पीड को MHz और GHz में मापा जाता है।

RAM के मुख्य तौर पर दो प्रकार होते हैं।

1. Static RAM क्या हैं?

यह RAM Computer में इस्तेमाल होने वाली दो Basic Memory में से एक होती है। इस प्रकार के RAM में जब तक बिजली आती रहेगी तब तक इसमें डाटा रहता है।

इस RAM को इसमें स्टार्ट होने वाले डाटा को याद रखने के लिए रिफ्रेश करने की बिल्कुल भी आवश्यकता नहीं होती है। इसलिए इसका नाम Static Random Access Memory रखा गया है।

इस बिजली कम खर्च होती है और यह Dynamic RAM से अच्छा काम करता है।परंतु इसकी मेमोरी क्षमता कम होती है और इसे बनाने में ज्यादा लागत लगती है।

2. Dynamic RAM क्या है?

यह RAM, Static RAM के बिल्कुल विपरीत होती है

Dynamic RAM को बार-बार Refresh करने की जरूरत नहीं पड़ती है क्योंकि यह Data को याद कर सकता है और यह तभी संभव हो सकता है जब इस मेमोरी को एक Refresh Circuit के साथ जोड़ दिया जाए।

जरूर देखे : Motherboard क्या है?

RAM काम कैसे करती है?

Random Access Memory के कार्य को हम उदाहरण से समझेंगे।

उदाहरण :

स्तिथि 1. अभी आपका Smartphone स्विच ऑफ है और आप के जितने भी डाटा है वह आपके स्मार्ट फोन की Internal Memory में Save है।

स्तिथि 2. अब आपने अपने Smartphone को चालू किया और ऐसा करने के बाद RAM में पावर आ गया है और RAM का काम शुरू हो गया है।

स्तिथि 2. अब आप अपनी Smartphone की कुछ एप्लीकेशन को खोलते हैं अगर आपके स्मार्ट फोन की RAM कम है तो चार या पांच एप्लीकेशन खोलते ही आपकी RAM फुल हो जाएगी।

स्तिथि 3. अगर आप 5-6 एप्लीकेशन इस्तेमाल करने के बाद भी कोई और एप्लीकेशन का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो RAM जगह बनाने के लिए पुराने एप्लीकेशन को Internal Storage में भेज देगी।

इस तरह Random Access Memory काम करती है।

जरूर देखे : Processor क्या है?

RAM क्यों जरूरी होता हैं?

Random Access Memory के बिना कंप्यूटर या मोबाइल में किसी भी कार्य को करना सम्भव नहीं है।

क्योकि जब भी हम कोई कार्य करते है तो उसके लिए data में परिवर्तन करना होता है जिसके लिए एक ऐसी मेमोरी की जरूरत है जो उस डाटा को हैंडल कर सकते और कार्य होने के पश्चात data को निर्देशानुसार वापिस सुरक्षित करदे।

यह डाटा रैम के द्वारा हैंडल किया जाता है इसलिए रैम अत्यधिक आवश्यक है।

आज के समय में कंप्यूटर या मोबाइल में कम से कम 2GB RAM होना जरूरी है क्योंकि आज एप्लीकेशन की साइज काफी ज्यादा बढ़ जा रही है।

उदाहरण के तौर पर अगर आप फेसबुक एप्लीकेशन को अपने डिवाइस में ओपन करते हैं तो यह 200 से 300 MB Memory का खा जाती है।

इसके अलावा अनेको ऐसे application है जो काफी हैवी ग्राफिक वाले होते हैं और ऐसे में अगर यदि आपके डिवाइस का रैम कम है तब आपको उन एप्लीकेशन को चलाने में दिक्कत आ सकती है।

जरूर देखे : Software क्या है?

आशा है HTIPS की यह पोस्ट आपको पसंद आयी होगी और आप इसको आसानी से समझ पाएंगे।

Random Access Memory से संबंधित किसी भी प्रश्न के लिए कमेंट करे।

यदि पोस्ट पसंद आयी है तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूले।

2 thoughts on “RAM क्या है, Computer Ram के प्रकार, कार्य और लाभ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.