ओम का नियम

ओम का नियम, प्रयोग एवं उदाहरण

इस पेज पर आप ओम का नियम पढ़ेंगे और इससे संबंधित समस्त चीजों को विस्तार में समझेंगे जो समस्त सरकारी परीक्षाओ के लिए अत्यधिक महत्वपूर्ण है क्योकि इससे एक प्रश्न लगभग समस्त परीक्षाओ में पूछा जाता है।

पिछली पोस्ट में हमने न्यूटन के गति के नियम की जानकारी शेयर की है यदि अपने वह नहीं पढ़ी है तो उसे जरूर पड़े

चलिए अब ओम के नियम को पढ़ते है।

ओम का नियम [Ohm’s Law]

समान ताप व स्थिति में, किसी विधुत परिपथ में प्रतिरोध के सिरों पर उत्पन्न विभवान्तर (वोल्टेज) उस प्रतिरोध में प्रवाहित होने वाली धारा के समानुपाती होता है, यानि की V ∝ I तो इस नियम को ओम का नियम कहते है

विभवांतर, धारा तथा प्रतिरोध के बीच संबंध दर्शाया जाए वहाँ ही ओम का नियम होता हैं।

ओम के नियम को V = IR से दर्शाया जाता है।

इसी सूत्र का उपयोग करके आप वोल्टेज, धारा और प्रतिरोध के मान भी आसानी से निकाल सकते हैं।

जैसे:
V = IR
R = V/I
I = V/R

“ओम के नियम” को पड़ने के बाद अब थोड़ा बेसिक समझ लेते है जिसकी जरूरत ओम के नियम में होती है जैसे धारा, वोल्टेज और प्रतिरोध किसे कहते है।

इस नियम की खोज सर्वप्रथम जर्मन भौतिकशास्त्री तथा गणितज्ञ जॉर्ज साइमन ओम ने किया था। इसलिए इसे उन्हीं के नाम पर ओम का नियम (ओह्म्स लॉ) कहते हैं।

धारा (Current)

किसी बंद परिपथ में आवेश परवाह की दर को धारा या करंट कहते है धारा को I से प्रदर्शित करते है। इसकी SI इकाई या मात्रक एम्पीयर है और इसे मापने का यन्त्र Ameter होता है।

धारा का सूत्र: I = Q/t
धारा = आवेश / समय
धारा = एम्पियर
Voltage ( वोल्टेज यानि प्रेशर )

किसी परिपथ में वह प्रेशर जो विधुत धारा को बहने में मदद करता है वोल्टेज कहलाता है जिस परिपथ में जितना ज्यादा वोल्टेज होगा उतनी ज्यादा करंट फ्लो होगी। वोल्टेज को v से प्रदर्शित करते है। इसकी SI इकाई या मात्रक वोल्टेज ही है और वोल्टेज मापने का यन्त्र Multi-Meter, Volt Meter होता है।

प्रतिरोध (Resistance)

जब किसी चालक में विद्युत धारा प्रवाहित की जाती है, तो चालक विद्युत धारा के मार्ग में रुकावट डालता है। इसे चालक का प्रतिरोध कहते है। वोल्टेज को R से प्रदर्शित करते है। इसकी SI इकाई या मात्रक ओम (ohm) होता है।

प्रतिरोध का सूत्र:

R = V/I

प्रतिरोध = विभवान्तर / धारा

तो दोस्तों अब आप समझ चुके हो की धारा, वोल्टेज और प्रतिरोध किसे कहते है अब में आपको ओम का नियम क्या है किसे कहते है बताने वाला हूँ आप इस ओम के नियम को सही ढंग से समझने की कोशिस करे।

ओम के नियम से संबंधित प्रश्न उत्तर

1. एक डीसी मोटर जिसे 10 Voltage सप्लाई प्राप्त हो रही है इसका कुल प्रतिरोध 5 ओह्म है तो परिपथ मे प्रवाहित विद्युत धारा का मान क्या होगा ?

हल : वोल्टेज (V) = 10, प्रतिरोध (I) = 5
ओह्म के नियमानुसार
V = IR
10 = 5 ×I
10/5  = I
I = 10 /5
I (धारा) = 2 एम्पियर Ans.

2. यदि धारा (I) 6A और प्रतिरोध (R) 9Ω हो तो Voltage(V) क्या होगा?

हल: धारा (I) = 6, प्रतिरोध (R) = 9Ω
ओह्म के नियमानुसार
V = IR
V = 6 × 9
V = 54 volts Ans.

3. यदि वोल्टेज (V) = 10 और प्रतिरोध (R) = 2 Ω हो तो धारा (I) क्या होगा?

हल : वोल्टेज (V) = 10, प्रतिरोध (R) = 2 Ω

ओह्म के नियमानुसार
I =V/R
I = 10/2
I = 5 ampere Ans.

4. यदि वोल्टेज (V) = 16V और धारा (I) = 4A हो तो प्रतिरोध (R) क्या होगा?

हल : वोल्टेज (V) = 16, धारा (I) = 4 Ω

ओह्म के नियमानुसार,
V = IR
R = V/IR = 16/4
R = 4 ohm. Ans.

जरूर पढ़िए

दोस्तों आशा हैं कि आपको ओम का नियम वाली ये पोस्ट पसंद आई होगी।

यदि आपके मन मे ओम का नियम से संबंधित कोई भी प्रश्न हो तो हमें कमेंट कर के जरूर बताए हम आपके प्रश्नों का उत्तर जरूर देंगे।

इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.