पेट दर्द ठीक करने के घरेलु उपाय | Stomach Pain

क्या आप अपने पेट दर्द से परेशान हो गए हैं आप को पेट दर्द में आराम नहीं मिल रहा हैं और आप दर्द से मुक्ति पाना चाहते हैं तो आप आज एकदम सही पेज पर आए हैं क्योकि इस पेज पर आप पेट दर्द दूर करने का घरेलू उपाए विस्तार से पढ़ेंगे जिसे पढ़कर आपको घर बैठे आराम मिल जाएगा।

जब पेट दर्द होता है तो समझ नहीं आता क्या करे लेकिन कुछ भी करके दर्द ठीक करने का मन करता है। ऐसा लगता हैं कैसे भी दर्द ठीक हो जाए

यदि रात के समय दर्द होने लगे तो बड़ी ही समस्या हो जाती हैं रात के समय में अधिकतर हॉस्पिटल भी बंद हो जाती हैं ऐसे में घरेलू नुस्खे काम आते हैं।

पेट का दर्द अनेक कारणों से हो सकता है जैसे आपने कुछ ऐसा खा लिया है जिससे आपके पेट का पाचन ठीक से नहीं हो पा रहा हो या आपको गैस की समस्या हो गयी हो जिससे भी पेट का दर्द होता है।

पेट के दर्द में Medicine लेना ठीक है लेकिन दर्द नाशक गोलियों से हमारे शरीर को बहुत नुकसान होता है इसलिए यदि आप घरेलू नुस्खे और औषधियों का उपयोग करे तो ज्यादा अच्छा रहेगा।

इस दर्द ठीक करने के कुछ घरेलू नुस्खे नीचे दिए है जिनसे कभी कोई दुष्प्रभाव नहीं होगा और आपके पेटदर्द की समस्या हमेशा के लिए दूर हो जाएगी।

पेट दर्द के प्रकार

  • सामान्य पेट दर्द
  • स्थानीय पेट दर्द
  • ऐठन से पेट दर्द

सामान्य दर्द:- इस प्रकार का दर्द सामान्य तौर पर गलत खान-पान व अपच की वजह से होता है। यह पेट के पूरे या आधे भाग को प्रभावित करता है। इस प्रकार के दर्द बिना उपचार के भी ठीक हो जाते हैं।

स्थानीय दर्द:- यह दर्द सामान्य दर्द से गंभीर होता है। यह अक्सर पेट के किसी एक हिस्से को अपना निशाना बनाता है। अल्सर या अपेंडिसाइटिस इस प्रकार के पेट दर्द का कारण हो सकते हैं।

ऐंठन:- मल के सख्त या गैस के कारण पेट में ऐंठन बनती है। यह कुछ देर तक भी रह सकती है या पूरे दिन आपको परेशान कर सकती है। दस्त के समय मरीज को इस प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ता है।

नीचे जो कारण दिए गए हैं यदि वो रहे हैं तो पेट दर्द होता ही हैं।

पेट दर्द किन कारणों से होता हैं?

  • कब्ज
  • उल्टी
  • दस्त
  • पेट में सूजन
  • सीने में जलन
  • अल्सर
  • हर्निया
  • गुर्दे में पथरी
  • अपेंडिसाइटिस
  • मूत्र संक्रमण आदि

पेट दर्द होने के सामान्य कारण निम्लिखित हैं।

  • दूषित पानी और खाना खाने से पेट में दर्द होता है।
  • रात मैं अनियमित रूप से खाना खाने से भी गैस की समस्या से तो आपका Petdard होता है।
  • ज्यादा पानी में भीगने से भी पेट में दर्द हो सकता है।
  • महिलाओ को मासिक चक्र के दौरान Petdard आम होता है।
  • उछल-कूद करने से पेट की नशो और लीवर में दर्द होता है जिसे हम अपनी भाषा मे  पेट टर जाना कहते है।

पेट दर्द जल्द ही ठीक करने के 10 आसान घरेलू उपाय

1. अजवायन को तवे पर सेंक कर अच्छे से पीस लें फिर इस चूर्ण को आधी चम्मच मात्रा में लें और ठंडा पानी पी लें अजवाइन से पेट दर्द तुरंत दूर हो जाएगा।

2. सूखा हुआ अदरक चूसने से भी पेट दर्द में आराम मिलता है।

3. जीरे को भूनकर चबाने से भी पेट दर्द में आराम मिलता हैं।

4. आधे गिलास पानी में हींग को आधी कटोरी पानी में गला कर यह पानी पेट पर लगाने से आराम मिलता है।

5. बिना दूध की चाय मतलब काली चाय पीने से भी पेट का दर्द ठीक हो जाता है।

6. पुदीने की पत्तियों को उबाल कर इस पानी को छानकर पीने से भी पेट के दर्द में फायदा होगा।

7. गुनगुने पानी में नींबू को निचोंड कर पीने से भी पेट के दर्द में लाभ मिलता है।

8. अदरक के रस में शहद मिलाकर लेने से भी पेट का दर्द दूर हो जाता है।

9. आधा चम्मच नमक व आधा चम्मच हल्दी मिलाकर ठंडे पानी से लेने पर पेट के दर्द में आराम मिलता है।

10. भोजन के बाद 3-4 इलायची के दाने चबा कर नींबू पानी पीने से भी पेट का दर्द दूर हो जाता है।

पेट दर्द ठीक करने के लिए 10 घरेलू उपाय और विधि

  • तुलसी
  • अदरक
  • हींग
  • सौंफ
  • अजवाइन
  • जीरा
  • सेव का सिरका
  • कैमोमाइल टी-बैग
  • चावल का पानी
  • दही

1. तुलसी

तुलसी

तुलसी  का कड़ा बनाने के लिए सामग्री

  • सात-आठ तुलसी के पत्ते
  • पानी

तुलसी का कड़ा बनाने की विधि

आप एक कप गर्म पानी को गर्म कीजिए उसमें तुलसी के पत्ते डालकर दीजिए। आपका कड़ा तैयार हैं।
आप तुलसी के पत्तों को ऐसे भी खा सकते हैं।

तुलसी के पत्ते पेट के लिए कैसे लाभदायक हैं।

जड़ी-बूटियों में तुलसी को सर्वोच्च स्थान प्राप्त है। पेट में गैस और अपच होने पर पेट दर्द से निजात पाने के लिए आप तुलसी का इस्तेमाल कर सकते हैं। तुलसी में यूजिनॉल नामक तत्व पाया जाता है, जो पेट में एसिड की मात्रा को कम करने का काम करता है।

2. अदरक

अदरक

अदरक का काढ़ा बनाने के लिए सामग्री

  • एक चम्मच बारीक कटा हुआ अदरक
  • एक चम्मच चायपत्ती
  • डेढ़ कप पानी
  • एक चम्मच शहद
  • नींबू के रस की 5-6 बूंद ( वैकल्पिक)

अदरक का काढ़ा बनाने की विधि

एक बर्तन में डेढ़ कप पानी को गर्म करे उसमें बारीक कटा हुआ अदरक, 1 चम्मच चायपत्ती डालकर 2-3 बार अच्छी तरह उबाला दिलाएं, अब एक कप में शहद डालें और मिलाएं आप चाहें तो इसमें नींबू का रस भी मिला सकते हैं।

अदरक का काढ़ा पीने की विधि
आप अदरक की चाय दिन में 2-3 बार पी सकते हैं और अदरक का कड़ा धीरे-धीरे पिएं।

अदरक का काढ़ा पेट के दर्द के लिए कैसे लाभदायक हैं

अधिकतर खानपान होने की वजह से पेट में गैस बनने लगती है पेट मे गैस के लिए अदरक का यह काढ़ा बहुत ही लाभदायक है अदरक में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। तो यह दर्द को ठीक करने का सबसे आसान तरीका हैं।

3. हींग

सामग्री

  • हींग पाउडर
  • एक पानी
  • सेंधा नमक

हींग का काढ़ा बनाने की विधि

एक गिलास पानी को गुनगुना कर लें अब इसमें हींग पाउडर और सेंधा नमक अच्छी तरह से मिलाएं। आपका काढ़ा तैयार हैं।

 पीने की विधि

हींग के काढ़ा को धीरे-धीरे पिएं यह प्रक्रिया दिन में 2-3 बार दोहराएं।

हींग का काढ़ा पीने से कैसे लाभदायक हैं 

दर्द से छुटकारा पाने के लिए आप हींग का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। हींग कई औषधीय गुणों से भरा खाद्य पदार्थ है इसे भोजन बनाने के दौरान प्रयोग में लाया जाता है।

हींग में एंटीस्पास्मोडिक और एंटिफलटुलेंट जैसे तत्व पाए जाते हैं हींग पेट के दर्द के साथ-साथ गैस और अपच की समस्या से भी निजात दिलाने का काम करती हैं।

4. सौंफ

सौंफ

सौंफ का काढ़ा बनाने के लिए सामग्री

  • एक चम्मच पिसी हुई सौंफ
  • एक कप पानी
  • आधा चम्मच शहद

सौंफ का काढ़ा कैसे बनाए

एक बर्तन में एक कप पानी डालकर उबारे पानी में पिसी हुई सौंफ डालकर 10 मिनट तक उबाल लें।
ठंडा होने के लिए कुछ देर तक रखें अब एक कप में पानी को छान लें आपका काढ़ा तैयार हैं।

काढ़ा को कैसे पीए

इस काढ़े में आधा चम्मच शहद मिलाकर पिएं। यह प्रक्रिया दिन में 1 से 2 बार करें।

सौंफ का काढ़ा पीने में कैसे लाभदायक हैं

अधिक्तर लोग सौंफ को अक्सर एक माउथ फ्रेशनर के रूप में भोजन के बाद लिया जाता है, लेकिन इसका इस्तेमाल सिर्फ मुंह को सुगंधित करने तक ही सीमित नहीं है। सौंफ का उपयोग भोजन को पचाने के लिए भी किया जाता है।

अनपच से होने वाले दर्द के लिए सौंफ का सेवन किया जा सकता है। सौंफ में डाइयुरेटिक्स, एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीबैक्टीरियाल के गुण पाए जाते हैं यह गैस व सूजन से भी मुक्ति दिलाते हैं।

5. अजवाइन

अजवाइन

अजवाइन का काढ़ा बनाने के लिए सामग्री

  • आधा चम्मच जीरा पाउडर
  • आधा चम्मच अजवाइन पाउडर
  • चम्मच का एक चौथाई अदरक पाउडर
  • एक गिलास गुनगुना पानी

अजवाइन का काढ़ा बनाने की विधि

आधा चम्मच जीरा पाउडर आधा चम्मच अजवाइन पाउडर और अदरक पाउडर को अच्छी तरह से पीस लें अब एक गिलास गुनगुना पानी करके सभी मिश्रण को उस में डाल दे आपका काढ़ा तैयार हैं।

अजवाइन का काढ़ा पीने की विधि

रात को सोने से पहले इस काढ़ा को पी लें।

अजवाइन का काढ़ा कैसे लाभदायक हैं

दर्द के इलाज के लिए आप अजवाइन का इस्तेमाल कर सकते हैं। अजवाइन एक गुणकारी खाद्य पदार्थ होता है, जिसमें एंटीफंगल, एंटीऑक्सीडेंट व एंटीमाइक्रोबियल जैसे औषधीय गुण पाए जाते हैं। अजवाइन का सेवन करने से दर्द में जल्द ही छुटकारा मिलता हैं।

6. जीरा

जीरा

सामग्री

  • पांच ग्राम जीरा

 विधि

सबसे पहले जीरे को तवे पर हल्का भून लें।

सेवन

भुने हुए जीरा का दिन में दो-तीन बार चबा-चबाकर इसका सेवन करें।

जीरा पेट दर्द में कैसे लाभदायक हैं

जीरे का इस्तेमाल मसाले के तौर पर किया जाता है, लेकिन इसकी उपयोगिता मात्र मसाले तक सीमित नहीं है। पेट से जुड़ी कई समस्याओं के निवारण के लिए इसका प्रयोग एक औषधी के तौर पर किया जाता है। जीरे में मौजूद एंजाइम्स पाचन प्रक्रिया में सहायक की तरह काम करते हैं अपच, पेट दर्द व गैस की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप जीरे का इस्तेमाल कर सकते हैं।

7. सेब का सिरका

सेव और सेव का सिरका

सेव का सिरका का मिश्रण बनाने के लिए सामग्री

  • एक चम्मच सेब का सिरका
  • एक कप गर्म पानी
  • आधा चम्मच शहद

सेव का सिरका का मिश्रण बनाने की विधि

एक कप गर्म पानी करके उसमें एक चम्मच सेब का सिरका का सिरका और आधा चम्मच शहद डालकर मिला लें।

सेव का सिरका का मिश्रण बनाने की विधि

अब इस मिश्रण को धीरे-धीरे पिएं ज्यादा तकलीफ होने पर इसे दो बार पी सकते हैं।

सेव का सिरका का मिश्रण पेट दर्द में कैसे लाभदायक है।

दर्द को ठीक करने के लिए आप सेव का सिरका का उपयोग दवा के रूप में कर सकते हैं। सेव का सिरका पेट दर्द में होने वाली गैस और सूजन को कम करने का काम करता है। सेब के सिरके में मौजूद एंटीमाइक्रोबियल पाचन तंत्र को मजूबत बनाने का काम करते हैं।

8. कैमोमाइल टी-बैग

चाय

कैमोमाइल टी-बैग का घोल बनाने के लिए सामग्री

  • एक कैमोमाइल टी-बैग
  • एक चम्मच शहद

कैमोमाइल टी-बैग का घोल बनाने की विधि

एक कप पानी को उबाल लें फिर कप में कैमोमाइल टी-बैग डालकर ऊपर से गर्म पानी डालें ले अब उसमें एक चम्मच शहद मिलाएं।

कैमोमाइल टी-बैग का घोल पीने की विधि

इस घोल का सेवन धीरे-धीरे करें। यह प्रक्रिया 1-2 बार दीन में कर सकते हैं।

कैमोमाइल टी-बैग का घोल कैसे लाभदायक हैं

पेट दर्द से छुटकारा पाने के लिए आप कैमोमाइल का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह एक नेचुरल हर्ब होता है, जिसका इस्तेमाल काफी लंबे समय से एक एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट एजेंट की जैसे किया जा रहा है। गैस व अल्सर जैसी पेट संबंधी समस्याओं के लिए कैमोमाइल का इस्तेमाल किया जा सकता है

9. चावल का पानी

चावल के पानी का घोल बनाने की सामग्री

  • एक कप चावल
  • चार कप पानी
  • एक चम्मच शहद

चावल के पानी का घोल बनाने की विधि

एक बर्तन में पानी को उबालने के लिए रखें।
पानी के उबलते ही चावल को अच्छे से धोकर बर्तन में डाल दें। चावल के पकने तक इंतजार करें। जब चावल पक जाए तो चावल को पानी से छान लें और पानी को ठंडा होने के लिए रख दें जब चावल का पानी ठंडा हो जाए तब उसमें एक चम्मच शहद मिला दे आपका मिश्रण तैयार हैं।

चावल का पानी को पीने की विधि

इसके पानी को रोज दिन में दो बार पिए ऐसा करने से आपको पेट दर्द से छुटकारा मिल जाएगा।

चावल का पानी पेट दर्द में कैसे लाभदायक है

ज्यादातर पेट में दर्द अपच की वजह से होता है, ऐसे में जरूरी है कि हम हल्का भोजन करें। अपच से होने वाले पेट दर्द के लिए आप चावल का पानी प्रयोग में ला सकते हैं। यह गैस और अपच की समस्या से छुटकारा दिलाने का काम करता है।

10. दही

दही

दही के मिश्रण बनाने के लिए सामग्री

  • 2 चम्मच दही
  • 1 कप पानी
  • 1 चुटकी नमक
  • धनिया की पत्ती

दही का मिश्रण बनाने की विधि

 2 चम्मच दही को 1 कप पानी में 1 चुटकी नमक के साथ मिलाकर कर उसमें धनिया की पत्तियों का रस मिलाए आपका मिश्रण तैयार हैं।

दही का मिश्रण खाने की विधि

मिश्रण को खाना खाने के 30 मिनट पहले खा ले या आप चाहे तो सादा दही भी खा सकते है आपके पेट को बहुत आराम मिलेगा।

दही पेट दर्द के लिए कैसे लाभदायक है

इसमें कुछ ऐसे बैक्टीरिया होते है जो हमारे शरीर में पहुंच कर शरीर की पाचन क्रिया बड़ा देते है इसके लिए आप दही का उपयोग करके इसका पेट का इलाज कर सकते है।

दही का उपयोग आप खाना खाते समय कर सकते है या हो सके तो थोड़ा दही सुबह शाम खाए आपके पेटदर्द में जल्दी आराम लगेगा।

Conclusion

पेट दर्द ठीक करने के लिए आपको अंग्रेजी दवाईयां लेने की जरूरत नही है फिरभी आपका पेट दर्द ज्यादा हो रहा है तो आप घरेलूनुस्खों का उपयोग न करके Docter की सलाह ले क्योकि घरेलू नुस्खे अच्छे होते है लेकिन धीरे धीरे आराम देते है।

यदि आपका पेट दर्द सामान्य है और आप को ज्यादा दर्द नही हो रहा है या आपका पेट दर्द अँग्रेजी दवाईयों से ठीक नही ही रह है तो आपको एक बार घरेलू नुस्खों का उपयोग जरूर करना चाहिए।

जरूर देखें:

आशा करती हूँ HTIPS की यह आपके लिए लाभदायक होगी।

इस पोस्ट से संबंधित कोई भी बात समझ नहीं आयी है आप Comment में पूछ सकते है

आप हमे [email protected] पर Email भी कर सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Scroll to top