Server क्या हैं?

सर्वर क्या हैं इसके प्रकार, लाभ आदि

इस पेज पर हमने सर्वर की जानकारी शेयर की है जो इंटरनेट का उपयोग करने वालो को ज्ञात होना आवश्यक है।

पिछले पेजों पर हमने कंप्यूटर के विभिन्न पार्ट जैसे मदरबोर्ड, सीपीयू, हार्ड डिस्क आदि कि जानकारी शेयर की है उसे जरूर पढ़े।

चलिए अब सर्वर क्या है और इससे संबंधित समस्त जानकारी को पढ़कर समझते है।

सर्वर क्या है?

सर्वर एक तरह से कंप्यूटर होता है जो अलग-अलग कंप्यूटर और उपयोगकर्ताओं को अपनी सेवा प्रदान करता है।

यह एक हार्डवेयर डिवाइस हो सकता है या कंप्यूटर प्रोग्राम हो सकता है या फिर कंप्यूटर हो सकता है जिसे किसी दूसरे कंप्यूटर में लोड किया जाता है जिससे वह दूसरे कंप्यूटर को डाटा और जानकारी भेज सकें।

सर्वर, इंटरनेट के उपयोगकर्ताओं को अपनी सेवा देता है जैसे कि इंटरनेट उपयोगकर्ता द्वारा मांगी गई जानकारी को उनके सामने प्रस्तुत करना।

उदाहरण के लिए जब हम यूट्यूब में कोई वीडियो देखते हैं अथवा गूगल पर कोई भी जानकारी सर्च करते हैं तब हमें जो भी रिजल्ट अपने डिवाइस में देखने को मिलते हैं उन सभी वेबसाइट अथवा चैनल का डाटा कहीं ना कहीं पर सुरक्षित होता है जिसे हमारे सामने प्रस्तुत करने का काम सर्वर करता है।

गूगल दुनिया का सबसे बड़ा सर्च इंजन है और इससे हम जब भी चाहे कोई भी जानकारी हासिल कर सकते हैं और जब भी हम गूगल पर कुछ ढूंढते हैं तो गूगल हमें यह सभी डाटा अलग-अलग वेबसाइट के सर्वर से लाकर देता है।

दुनिया में अलग-अलग प्रकार की क्षमता वाले सर्वर मौजूद हैं। यह एक कंप्यूटर की तरह ही होता है। अगर हम एक सामान्य लैपटॉप अथवा कंप्यूटर में सर्वर का प्रोग्राम इंस्टॉल कर दे तो वह कंप्यूटर अथवा लैपटॉप भी एक सर्वर की तरह ही काम करता है और ऐसे सर्वर को हम नॉन डेडीकेटेड सर्वर कहते हैं,

क्योंकि यह 24 घंटे चालू रहकर काम करने के लिए नहीं होता है। नॉन डेडीकेटेड सर्वर का इस्तेमाल घर कॉलेज हॉस्पिटल ऑफिस जैसी जगहों पर किया जाता है। इसे हम लोकल नेटवर्क भी कहते हैं।

परंतु दुनिया में कुछ ऐसे भी कंप्यूटर है जो 24 घंटे चालू रहते हैं और दूसरे कंप्यूटर को सर्व करते हैं और इस प्रकार के कंप्यूटर को डेडीकेटेड सर्वर कहा जाता है। 

इस प्रकार के कंप्यूटर बहुत ही महंगे होते हैं और इनमें बहुत ही हाई क्वालिटी और हाई स्पीड का रैम तथा प्रोसेसर लगा हुआ होता है। हम इंटरनेट से जो भी कुछ Search करते हैं उसके नतीजे हमें डेडीकेटेड सर्वर के द्वारा ही प्राप्त होते हैं।

सर्वर काम कैसे करता है?

मान लीजिए कि आपको यूट्यूब पर एक वीडियो देखनी है तो आप यूट्यूब पर जाएंगे और यूट्यूब के सर्च बॉक्स में उस वीडियो का नाम लिखेंगे और उसके बाद सर्च की बटन को दबाएंगे तो यह एक रिक्वेस्ट के तौर पर उत्पन्न हो जाता है और फिर यह रिक्वेस्ट इंटरनेट के द्वारा यूट्यूब के सर्वर तक चली जाती है।

जहां पर उसका सारा डाटा स्टोर होता है फिर वहां पर सर्वर आपके द्वारा रिक्वेस्ट किए गए वीडियो को ढूंढकर डाटा आपके डिवाइस पर भेज देता है। इसके बाद आप उस वीडियो को आसानी से देख पाते हैं।

इंटरनेट पर जितने भी काम करते हैं जैसे कि किसी फाइल को डाउनलोड करना, ब्राउज़िंग करना, ईमेल भेजना अथवा सोशल नेटवर्किंग साइट का इस्तेमाल करना। इन सभी काम को करने में सर्वर हमारी मदद करता है और हम तक उन सभी चीजों का डाटा पहुंचाता है।

Server के प्रकार

वर्तमान में कई सर्वर दुनिया में मौजूद है। उनके बारे में हम आपको विस्तृत जानकारी नीचे दे रहे हैं।

Web Servers

इस सर्वर में इंटरनेट पर मौजूद सभी वेबसाइट के डाटा स्टोर रहते हैं और यह सर्वर वेब ब्राउज़र से जुड़ा हुआ होता है तो जब भी कोई यूजर वेब ब्राउजर से किसी भी वेबसाइट को देखने के लिए रिक्वेस्ट करता है तब यह ब्राउजर वेब ब्राउज़र से जुड़कर वेबसाइट का डाटा उपयोगकर्ता को उसके डिवाइस पर भेजता है।

Email Server

इस प्रकार का सर्वर किसी भी मैसेज को भेजने और प्राप्त करने में मदद करता है और यह सर्वर उपयोगकर्ता के अकाउंट की सारी जानकारी और मैसेज को अपने सर्वर पर स्टोर करके रखता है। 

उदाहरण के तौर पर मान लीजिए कि आप अपने दोस्त को एक ईमेल भेजना चाहते हैं तो मैसेज लिखने के बाद आप सेंड वाली बटन पर क्लिक करते हैं उसके बाद वह मैसेज को मेल सर्वर एसएमटीपी प्रोटोकोल ( Simple mail Transfer Protocol ) का इस्तेमाल करके आपके दोस्त के मैसेज अकाउंट में भेज देता है।

File Server

file server network के द्वारा फाइल को स्थानांतरित करने में मदद करता है। फाइल सर्वर एक कंप्यूटर में सभी फाइल को संग्रहित और मैनेज करता है और उपयोगकर्ता के रिक्वेस्ट करने पर उसके कंप्यूटर में फाइल की कॉपी को प्रदान करता है। इसका इस्तेमाल लोकल नेटवर्क पर होता है।

Application Servers

Application servers बहुत ज्यादा मात्रा की computing territory को database servers और end user, के बीच रखती है और जिन्हें regularly एकसाथ bond किया जाता है.

Audio/Video Servers

इस सर्वर की मदद से ही मल्टीमीडिया एप्लीकेशन में वह एबिलिटी आती है जिससे वह वेबसाइट में स्ट्रीमिंग मल्टीमीडिया कंटेंट को ब्रॉडकास्ट कर सकें। मल्टीमीडिया स्ट्रीमिंग डाटा ट्रांसपोर्टिंग करने के लिए एक टेक्निक होती है।जैसे-जैसे इंटरनेट की तरक्की हुई है वैसे वैसे ही इस टेक्नोलॉजी में भी काफी बढ़ोतरी हुई है।

Chat Servers

इस सर्वर की मदद से हम एक दूसरे से बातचीत कर पाते हैं और एक दूसरे के साथ अलग-अलग प्रकार के डाटा और जानकारियों को एक्सचेंज कर पाते हैं। इस सर्वर की मदद से हम किसी को भी कोई भी जानकारी तुरंत भेज पाते हैं। इसे अंग्रेजी भाषा में इंसटैंटली सेंड कहा जाता है।

Fax Servers

Fax Server को commonly उन बड़े organization में इस्तमाल किया जाता है जहाँ की समय ही पैसा होता है।

आशा है सर्वर क्या है और इससे संबंधित जानकारी आपको पसंद आयी होगी।

सर्वर से संबंधित किसी भी पोस्ट के लिए कमेंट करे।

यदि सर्वर की जानकारी पसंद आयी है तो इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और लिंकेडीन आदि पर शेयर जरूर करे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.