इंटरनेट क्या है

इंटरनेट क्या है और कैसे काम करता है?

आज की दुनिया में इंटरनेट का उपयोग तो सभी लोग कर रहे हैं लेकिन बहुत से लोगों को इंटरनेट के बारे में जानकारी प्राप्त नहीं हैं। इसलिए इस पेज पर आप इंटरनेट क्या है और इससे होने वाले समस्त लाभों को समझकर इंटरनेट की शक्ति को पहचानेंगे।

इंटरनेट, नेटवर्क के महाजाल को कहाँ जाता हैं जिसमे सभी नेटवर्क के द्वारा एक दूसरे के साथ जुड़े रहते हैं। आप इस समय यह पोस्ट पढ़ रहे हैं वो इंटरनेट के माध्यम से पढ़ रहे हैं।

आप व्हाट्सएप, फेसबुक, इस्टाग्राम, ट्विटर, के जरिए अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ प्रत्येक छण जुड़े रहते हैं वह इंटरनेट की वजह से संभव है।

आप हजारों किलोमीटर दूर बैठे अपने दोस्तों से बात कर पाते हैं वो Inernet के माध्यम से ही करते हैं इसलिए आपको इंटरनेट की सामान्य जानकरी होना अत्यंत आवश्यक है।

तो चलिए इंटरनेट क्या है  संबंधित लगभग समस्त जानकारी को पढ़ते और आसानी से समझते है।

इंटरनेट से संबंधित समस्त जानकारी समझे

वैसे तो इंटरनेट बहुत विशाल विषय है जिसके बारे में समस्त जानकारी समझने के लिए आपको महीनो लग जायेगे लेकिन इंटनेट की कुछ आवश्यक जानकारी की तो वह आप 10 से 20 मिनट में पढ़कर समझ सकते है।

इसलिए इस पेज पर हमने आपके लिए इंटरनेट से संबंधित सिर्फ जरूरी जानकारी दी है जिसमे हम निम्न Topics को एक – एक करके पढ़ेंगे।

  1. Internet क्या हैं?
  2. Internet की परिभाषा क्या हैं?
  3. Internet का इतिहास क्या हैं?
  4. Internet बनाया किसने था?
  5. इंटरनेट काम कैसे करता हैं?
  6. इंटरनेट का उपयोग किस लिए करते हैं?
  7. Internet से होने वाले फायदे।
  8. इंटरनेट से होने वाले नुकसान।

1. Internet क्या हैं?

इंटरनेट नेटवर्किंग का महाजाल होता हैं जिसमें बहुत से डिवाइस एक साथ कनेक्ट कर सकते हैं यह दुनिया का सबसे बड़ा और व्यस्त नेटवर्क हैं।

सबसे पहले तो आपको बता दे की इंटरनेट को हिंदी भाषा में अंतरजाल कहाँ जाता हैं।

इंटरनेट को अगर सीधी भाषा में समझे तो बहुत सारे कंप्यूटर को आपस में जोड़ना ही इंटरनेट हैं।

जब सभी कंप्यूटर एक साथ जुड़ जाते हैं तो यह एक विशाल जाल का हिस्सा बन जाते हैं जिसे Global Network कहते हैं और इस नेटवर्क से जुड़े कोई भी कंप्यूटर की जानकारी हम किसी भी कंप्यूटर के कभी भी भेज या प्राप्त कर सकते हैं।

सभी कंप्यूटर जो आपस में जुड़े रहते हैं उनकी अपनी अलग पहचान होती हैं जिसको हम IP Address (Unique Identity) के नाम से जानते हैं IP Address गणितीय संख्याओं का एक Unique Set होता हैं जो उस कंप्यूटर की लोकेशन को बताता हैं।

IP Address को DNS (Domain Name Server) द्वारा एक नाम दिया जाता हैं जो उस IP Address को रिप्रेेेजेंट करता हैं।

जैसे: जब हम किसी वेबसाइट को अपने कंप्यूटर में देखना चाहते है तो URL BAR में वेबसाइट का पता मतलब Domain name डालते है (जो कि https://htips.in की तरह होता है) और खोज चालू करते है

अब कंप्यूटर के ip address के द्वारा server को खबर जाती है कि इस कंप्यूटर को इस Domain name website को देखना है और server उस ip address वाले Computer में वह Website दिखता है।

इस तरह इंटरनेट के प्रमुख हिस्से कंप्यूटर, सर्वर, डोमेन नाम और वेबसाइट होती है जिसकी मदद से इंटरनेट उपयोगी होता है।

2. Internet की परिभाषा क्या हैं?

इंटरनेट विश्व के सभी कंप्यूटर के जुड़ने के बाद बना बहुत ही बड़ा नेटवर्क हैं इंटरनेट के माध्यम से दुनिया के किसी भी कंप्यूटर को आपस में कनेक्ट करके किसी भी प्रकार के डाटा को भेज सकते हैं और रिसीव भी कर सकते हैं।

जब कुछ कंप्यूटर को आपस में जोड़ा जाता हैं जो उसे नेटवर्क बोलते हैं इस नेटवर्क में हर तरह की मीडिया फाइल्स को ट्रांसफर करने के लिए TCP/IP Address की जरूरत पड़ती हैं इसके जरिए हम किसी भी कंप्यूटर पर कुछ भी Sand कर सकते हैं।

इस IP Address को डोमेन नाम दिया गया हैं हम किसी की वेबसाइट को ओपन करते हैं और पढ़कर उस वेबसाइट को बंद कर देते हैं यहाँ तक कि कंप्यूटर को भी स्विच ऑफ कर देते हैं लेकिन जब भी आप उस वेबसाइट को द्वारा खोलते हैं तो अपने आप खुल जाता हैं।

कंप्यूटर वेबसाइट को स्टोर करते हैं उसे ही सर्वर कहाँ जाता हैं सर्वर ऐसे कंप्यूटर होते हैं जो हमेशा ही on रहते हैं सर्वर 24 घण्टे 7 दिन मतरब हमेशा ON रहता हैं।

3. Internet का इतिहास क्या हैं?

इंटरनेट की शुरुआत 1969 में हुई थी पहली बार 1969 में एक कंप्यूटर को दूसरे कंप्यूटर में जोड़कर नेटवर्क तैयार किया गया था इन नेटवर्क को कनेक्ट करके मैसेज Sand किया गया था और यह सफलतापूर्वक Sand हो गया तभी से नेटवर्क विकसित हो गया और दिन पर दिन विकसित होता गया।

आज 5G नेटवर्क का युग चल रहा हैं यह आगे भी ऐसे ही विकास करेगा तो चलिए इंटरनेट की शुरुआत से लेकर अब तक के सफर से संबंधित कुछ बिंदु को पढ़ते हैं।

  • पहली बार Internet ने “Arpanet” के नाम से प्रोजेक्ट शुरू किया था।
  • “Arpanet को सीक्रेट रूप से war के बीच मैसेज भेजने के लिए बनाया गया था।
  • सन 1969 में अमेरिकन डिफेंस डिपार्टमेंट ने “Advance Research Project Agency Network” नाम से Develop किया।
  • वर्ष 1972 में पहली बार Retamolins ने Email मैसेज Sand किया था तब से ईमेल भेजना चालू हुआ और आज इतना फेमस हो गया।
  • 1979 को पहली बार ब्रिटिश पोस्ट ऑफिस में टैक्नोलॉजी के रूप में इंटरनेट का इस्तेमाल किया गया।
  • 1984 तक लगभग इस नेटवर्क में 1000 कंप्यूटर जुड़ गए थे।
  • 1986 को इंटरनेट को “NSFNET” नाम दिया गया और आज पूरे विश्व में Internet इतना फेमस हो गया कि बना इंटरनेट के कोई रहना ही नहीं चाहता।

भारत देश में इंटरनेट की शुरुआत कब हुई

15 अगस्त 1995 में सबसे पहले भारत में इंटरनेट की शुरुआत हुई भारत में VSNL (Videsh Sanchar Nigam Limited के द्वारा Internet Service की शुरुआत की गई।

  • भारत में 1986 को ERNET के Launch के साथ इंटरनेट की शुरुआत हुई थी लेकिन यह सुविधा सिर्फ Eduacational and Research Community को थी।
  • VSNL के द्वारा 1995 में इस Service को Publically लांच किया गया।
  • 1996 में भारत देश में पहली बार ईमेल साइट बनी जिसका नाम Rediffmail रखा था।
  • 1996 में ही सबसे बड़ा नेट कैफे मुंबई में खोला गया।
  • 1997 में naukari.com नाम की साइट बनाई जिसके बारे में तो आप जानते ही होंगे।
  • वर्ष 2000 में Amazon India, MSN, Yahoo जैसी बड़ी वेबसाइट की शुरुआत हुई थी।
  • वर्ष 2001 में भारतीय रेल विभाग की तरफ से Online train की वेबसाइट को जारी किया।

4. Internet बनाया किसने था?

US Department of Defense ने Arpanet प्रोजेक्ट के जरिए Internet की नींव रखी थी इस प्रोजेक्ट को Develop के लिए Robert Taylor और Lawrence रॉबर्ट्स ने मुख्य रूप से अपना योगदान दिया और इंटरनेट को सफलतापूर्वक सर्वर तैयार किया।

1969 में ARPANET के द्वारा पहली बार Email Sand किया गया था जिसके लिए कैलिफ़ोर्निया यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर लियोनार्ड कलेरॉक के लेबोरेट्री से दूसरे नेटवर्क को स्टैनफोर्ड रिसर्च इंस्टीट्यूट को जोड़कर नेटवर्क की रचना की थी।

Internet के जनक Robert E. Kahn और Vint Cerf हैं, 1970 ईस्वी में TCP/IP को Robert E. Kahn और Vint Cerf ने डेवलोपमेन्ट किया था जो कि बाद में Standard Internet Protocol बन गया।

5. इंटरनेट काम कैसे करता हैं?

इंटरनेट के जरिए कंप्यूटर आपस में जुड़े रहते हैं Computer को इंटरनेट से जोड़ने के लिए हमें (इंटरनेट सेवा प्रदाता) Internet Service Provider से इंटरनेट कनेक्शन लेना पड़ता हैं। पूरी दुनिया के सर्वर केवल के द्वारा एक दूसरे से जुड़े हुए होते हैं।

पहले उपग्रह के द्वारा इंटरनेट कनेक्शन चलता था लेकिन इसमें डाटा बहुत स्लो चलता था अब वो तकनीकी बहुत पुरानी हो गई हैं हमारे इंजीनियर्स के द्वारा नई तकनीकी खोजी हैं जिसे आज हम Fast Internet यूज कर रहे हैं जिसे फाइबर ऑप्टिकल केवल कहाँ जाता हैं।

एक सर्वर होता हैं जिस पर दुनिया की सभी जानकारी सेव रहती हैं और Internet Service Provider होता हैं जो सर्वर से जानकारी को भेजता हैं जो हमारे PC या मोबाइल के Browser पर हम किसी भी प्रकार की जानकारी को सर्च करते हैं।

जब हम अपने मोबाइल या PC पर अपने ब्राउजर में कोई भी प्रकार की जानकारी या वीडियो सर्च करते हैं तो सबसे पहले Internet Service Provider के पास Request जाती हैं यह नेट प्रोवाइडर सर्वर पर सर्च करता हैं इसके बाद सर्वर आपके द्वारा सर्च की गई जानकारी को इंटरनेट प्रोवाइडर को भेजता हैं और इंटरनेट प्रोवाइडर उस जानकारी को हमारे पास भेजता हैं पढ़ने में यह प्रक्रिया कितनी बड़ी लग रही हैं लेकिन इसमें कुछ ही सेकण्ड में आपको सर्च की हुई जानकारी मिल जाती हैं।

6. इंटरनेट का उपयोग किस लिए करते हैं?

जब इंटरनेट की शुरुआत हुई थी तब इसका उपयोग सिर्फ वैज्ञानिक द्वारा किया जाता था वैज्ञानिक इंटरनेट के माध्यम से एक दूसरे को रिसर्च पेपर तथा अन्य सूचनाएं भेजते थे फिर धीरे-धीरे इंटरनेट का विकास होता गया और इसमें और नई-नई तकनीक को जोड़ा गया और आज इंटरनेट इतना फेमस हो गया कि इसके बिना अब कोई काम सम्भव ही नहीं हैं।

इंटरनेट के बिना तो दिन की शुरुआत ही नहीं होती यह हमारे जीवन में बहुत ही उपयोगी हो गया हैं जिसके बिना रहना अब नामुमकिन हैं। इंटरनेट के माध्यम से बहुत से काम किए जाते हैं जो नीचे दिए गए है तो ध्यान से पढ़िएगा।

संप्रेषण के लिए

इंटरनेट के जरिए हम अपने दोस्तों रिश्तेदारों से आपस मे कनेक्ट रहते हैं जब मन होता तुरंत मैसेज, ईमेल, या व्हाट्सएप चेटिंग करके बात कर सकते हैं।

Information सर्च करने में

इंटरनेट के माध्यम से हम किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं यदि आप गवर्मेन्ट जॉब की तैयारी कर रहे हैं तो गूगल पर बहुत सी वेबसाइट हैं जो गवर्मेन्ट जॉब की पोस्ट बनाती हैं आप ऑनलाइन उन पोस्ट को पढ़कर परीक्षा पास कर सकते हैं।

शिक्षा के क्षेत्र में

पहले के समय में इंटरनेट की सेवा नहीं थी तो स्टूडेंट्स सिर्फ किताबों से पढ़ाई किया करते थे लेकिन जब से इंटरनेट चालू हुआ है तो इसका इस्तेमाल हर एक स्टूडेंट कर रहा हैं किसी भी छात्रों को किसी भी टॉपिक के बारे में बता करना होता हैं तो तुरंत Google पर सर्च करके बता कर सकता हैं।

चिकित्सा के क्षेत्र में

मेडिकल के क्षेत्र में भी इंटरनेट का इस्तेमाल किया जाता हैं इंटरनेट के माध्यम से लोगों को बहुत फायदा हुआ हैं इंटरनेट की वजह से हॉस्पिटल के हर मरीज का रिकॉर्ड अब ऑनलाइन रखा जाता हैं।

हाई स्पीड इंटरनेट का इस्तेमाल करके अमेरिका में रहने वाला डॉक्टर भारत में रहने वाले मरीज का ऑपरेशन कर सकता हैं उसका पूरा श्रेय इंटरनेट कनेक्शन को ही जाता हैं।

नेट बैंकिंग के क्षेत्र में

पहले पैसे जमा करने और निकालने के लिए बैंक की लंबी लाइन में खड़ा होना पड़ता था जिससे बहुत प्रॉब्लम होती थी समय भी बर्बाद होता था लेकिन जब से इंटरनेट की शुरुआत हुई है तो सभी लोग इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करते हैं और बहुत काम घर बैठे ही करते हैं।

7. Internet से होने वाले फायदे

आज के समय मे इंटरनेट की मदद से लोगों को बहुत फायदे हो रहे हैं इंटरनेट ने लोगों को बहुत सी सुख-सुविधाए प्रदान की हैं इंटरनेट में नॉलेज का भंडार छुपा हुआ हैं इंटरनेट की मदद से घर बैठे बहुत से काम हो जाते हैं नीचे कुछ इंटरनेट के फायदों के बारे में बताया गया हैं तो ध्यान से पढ़िएगा।

a). इंटरनेट की मदद से हम व्हाट्सएप, फेसबुक, इस्टाग्राम, पर अपने फ्रेंड्स से घण्टो बात कर सकते हैं उन्हें वीडियो कॉलिंग कर सकते हैं, वॉइस मैसेज भेज सकते हैं, ऑनलाइन रह कर अपने दोस्तों से हमेशा कनेक्ट रहते हैं।

b). इंटरनेट के जरिए हम ऑनलाइन गवर्मेन्ट जॉब की पढ़ाई भी कर सकते हैं बहुत से लोग स्टडी की वेबसाइट बनाते हैं उन वेबसाइट की पोस्ट को पढ़कर हम गवर्मेन्ट जॉब की तैयारी भी कर सकते हैं।

c). इंटरनेट के जरिए हम घर बैठे ऑनलाइन शॉपिंग भी कर सकते हैं बहुत सी कंपनी हैं जो ऑनलाइन शॉपिंग करती हैं जैसे:- Amazon, Flipkart, Snapdeal, ETC

d). आप नेट के जरिए मोबाइल, कंप्यूटर या लैपटॉप में ऑनलाइन Movies, Video, MP3 Songs आदि देख सकते हैं जो आपके इंटरटेनमेंट का साधन हैं।

e). इंटरनेट की मदद से हम घर बैठे ऑनलाइन गैस बिल, बिजली बिल, क्रेडिट कार्ड बिल, DTH बिल, मोबाइल बिल टिकिट बुक आदि कर सकते है।

8. इंटरनेट से होने वाले नुकसान

दोस्तों कोई भी चीज हो उसके फायदे और नुकसान दोनों होते हैं वैसे ही इंटरनेट हैं जिसके जिसके फायदे तो ज्यादा है लेकिन नुकसान कम है उन्हीं नुकसानों के बारे में आपको बताऊंगी तो ध्यान से जरूर पढ़िएगा।

a). कुछ व्यक्ति इंटरनेट को दिन रात चलाते रहते हैं जिसकी वजह से उनको मोबाइल की लत लग जाती हैं फिर उन्हें किसी से मतरब नहीं रहता वैसे लोग अपने आप में खोए रहते हैं।

b). कभी कुछ लोग किसी की गलत इन्फॉर्मेशन फैला देते हैं जो इंटरनेट के जरिए बहुत जल्दी फैल जाती हैं यह भी बहुत नुकसान दायक हैं।

c). सोशल मीडिया में सभी लोग अपनी फोटो और बहुत से जानकारी दाल देते हैं जिससे कई लोग इसका गलत फायदा उठाते हैं वो हमारे लिए बहुत ही हानिकारक हो सकता हैं।

d). सोशल मीडिया साइट्स और ग्रुप में एकाउंट को एक्सेस करके बुरे मैसेज को छोड़ दिया जाता हैं यह मैसेज ऐसे होते हैं जो समाज पर बुरा असर डालते हैं।

आशा करती हूं कि आपको Internet क्या है और कैसे काम करता है यह आर्टिकल पसंद आया होगा।

आपने इस पोस्ट को पूरा जरूर पड़ा होगा और इस पोस्ट को पढ़कर आप इंटरनेट के बारे में समझ गए होंगे।

यदि आपको यह पोस्ट पसंद आयी हैं तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें और इस पोस्ट को व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्विटर, इस्टाग्राम पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करें जिससे लोगों को लाभ होगा सभी व्यक्ति इंटरनेट के बारे में जानकारी प्राप्त कर पाएंगे धन्यवाद।

4 thoughts on “इंटरनेट क्या है और कैसे काम करता है?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *