बैंक क्या है

बैंक क्या है, बैंक के प्रकार और अन्य महत्वपूर्ण जानकारी

क्या आपको पता है बैंक क्या है और कैसे काम करता है?

वर्तमान युग में सभी परिवार में लगभग सभी लोगो के बैंक में खाते जरूर ही होंगे और यह बहुत ही अच्छी बात है की लोग जागरूक हो रहे हैं, अपना अच्छा-बुरा खुद समझ रहे हैं और अपने पैसों की बचत करके अपनी बचत पूंजी अपने बैंक खाते में जमा कर रहें हैं।

लेकिन इसमें बुरी बात यह है कि लगभग 70 प्रतिशत लोगो को बैंक के बारे में सही जानकारी पता ही नहीं है जिसके आभाव में वह बैंक से प्राप्त होने वालो लाभों से वंचित है।

उन्ही लोगो में से एक मैं भी थी, मेरा भी बैंक में खाता 9वी कक्षा से मेरे पापा ने खुलवा दिया था जिसके बारे में मुझे कोई जानकारी ही नहीं थी बैंक क्या होता है और किस तरह यह कार्य करता है इससे मैं बिल्कुल भी अनजान थी और बैंक से मिलने वाले लाभों से भी वंचित रहती थी।

लेकिन आज के समय में मुझे बैंक के बारे में लगभग सभी जानकारी पता है जैसे बैंक क्या है, बैंक कैसे काम करता है, बैंक से होने वाले लाभ क्या-क्या है और बैंक से लाभ कैसे प्राप्त किया जा सकते है इत्यादि।

इसलिए मैंने यह सोचा कि मुझे बैंक के बारे में सही-सही और पूरी जानकरी आप लोगों के साथ शेयर करनी चाहिए जिससे सभी लोग बैंक के बारे में समस्त जानकारी अच्छे से समझकर बैंक से मिलने वाले लाभ प्राप्त कर सके।

तो यदि आपको भी बैंक के बारे में समस्त जानकारी ज्ञात नहीं है तो इस पेज पर दी गयी जानकारी को पूरा पढ़िए और बैंक की समस्त जानकारी को समझकर बैंक से मिलने वाले लाभों के बारे में जानिए

तो चलिए नीचे दिए गए इन 10 बिन्दुओ के द्वारा एक-एक करके बैंक की समस्त जानकारी समझते है

बैंक से सम्बंधित 10 महत्वपूर्ण बिंदु 

  1. बैंक का इतिहास क्या हैं?
  2. बैंक क्या हैं?
  3. बैंक कितने प्रकार की होती हैं?
  4. बैंक कैसे काम करती हैं?
  5. भारत के फेमस बैंक कौन-कौन से है?
  6. अपना बैंक एकाउंट ओपन कैसे करें?
  7. बैंक क्या-क्या सुविधाएं प्रदान करती हैं?
  8. बैंक में अपनी धनराशि कैसे जमा करते हैं?
  9. बैंक जनता से ब्याज किन कारणों से लेता हैं?
  10. पेमेंट बैंक क्या है?

1. बैंक का इतिहास

पहला आधुनिक बैंक 1406 में इटली देश के जेनोवा में स्थापित किया गया था जेनोवा के इस बैंक का नाम बैंकों दि सैन जिओर्जिओ (सेंट जॉर्ज बैंक) था।

ईसा से लगभग दो हजार वर्ष पहले भी राशि उदार लेने देने की प्रथा प्रचलित थी किसी व्यक्ति से राशि उधार लेने और फिर ब्याज समेत राशि वापिस करने का संकेत मनुस्मृति में मिलता हैं।

कौटिल्य के अर्थशास्त्र (ग्रंथ) से भी इस बात का पता चलता है कि प्राचीन काल में भी साहूकारों के नियम ब्याज की दर एवं राशि वसूल करने के नियम आज जैसे बिल्कुल नहीं थे।

12 वीं शताब्दी के आसपास मध्य एशिया में हुंडी का प्रयोग होने लगा था जबकि विदेशी व्यापार का क्षेत्र बढ़ने लगा और एक स्थान से दूसरे स्थान पर धन या राशि भेजने की आवश्यकता हुई।

मुगल सम्राटों ने धनी महाजनों और साहूकारों को कर वसूली के अधिकार सौंपे गए और उन्हें स्थान-स्थान पर कोषाध्यक्ष नियुक्त किया। आप जनता अपनी बचत राशि को इन महाजनों के पास जमा करते और जमा राशि पर महाजन ब्याज लेते थे।

अगर लोगो को आवश्यकता पढ़ती तो लोग इन्हीं महाजनों से अपनी जरूरत के हिसाब से कुछ राशि उधार लेते थे जिस पर महाजन दी गई राशि पर ब्याज लेते थे और जनता को ब्याज भी देना पढ़ता था

इस प्रकार आधुनिक बैंकों का प्रारंभ होने के पूर्व महाजन ही बैकिंग का काम किया करते थे जिसके पास धन राशि जमा की जाती थी और जरूरत पर पैसे उधार भी मिलता था।

पहले हमारे देश में पैसे नहीं चलते थे लेकिन वस्तु विनिमय  प्रणाली चलती थी लेकिन जब लोगो के लिए कुछ खरीदना पड़ता था तो लोग अपनी वस्तु के बलदे दूसरी वस्तु लेते थे जैसे गेंहू के बदले चावल ले लेते थे

पहले लोग बैंक मंदिर-मस्जिद के पास खोल लेते थे और वही से लेन देन किया करते थे जिन लोगो को साहूकार पैसे उदार देते थे उन्ही लोगो को ज्यादा ब्याज लगा देते थे और लोगो को देना पड़ता था यदि वे उतना ब्याज नहीं चुकाते तो साहूकार उन्हें पैसे उधार नहीं देते इसलिए उन्हें पैसे चुकाने पड़ते थे।

हमारे देश में भारतीय स्ट्रेट बैंक को 1934 में बनाया गया और 1935 से इस बैंक को चलाया गया।

2. बैंक क्या है?

बैंक उस वित्तीय संस्था को कहाँ जाता हैं जो जनता की धनराशि को जमा करती हैं जनता का जितना धन बैंक में जमा होता हैं उतनी राशि का ब्याज जनता को दिया जाता हैं

जनता अपनी बचत राशि को सुरक्षा की दृष्टि से बैंक में जमा कर देती हैं जिससे उनको ब्याज भी मिल जाता हैं और लोगों को जब जितने पैसों की जरूरत होती हैं उतने पैसे निकालते रहते हैं लोग जो अपने पैसे बैंक में जमा करते हैं उसी पैसो से बैंक वाले बड़े-बड़े Business Loan, Home Loan, Car Loan और Education Loan दिया करते हैं।

जनता के पैसो से ही बैंक चलती हैं और बैंक लोगो के लिए एक-एक लॉकर देती हैं जिसमे लोग अपना कीमती सामान रख सकते हैं जिसमें लॉकर की दो चाबी होती हैं जिसमें एक चाबी हमारे पास होती हैं और एक चाबी बैंक वालो के पास होती हैं और बैंक अन्य प्रकार के खाते भी खोलती हैं और हमे अन्य सुविधा भी देती हैं जैसे चेक बुक पास बुक और एटीएम इत्यादि।

जरूर पढ़िएगा

3. बैंक कितने प्रकार की होती हैं

बैंक मुख्यतः तीन प्रकार की होती है।

  • सरकारी बैंक
  • केंद्रीय बैंक
  • कृषक बैंक

चलिए बैंक के तीनो प्रकार को थोड़ा-थोड़ा समझ लेते है।

सरकारी बैंक

क्या आप जानते हैं कि सरकारी बैंक क्या हैं यदि नहीं जानते हैं तो आज मै आपको इस पोस्ट में बताते हैं कि हमारे देश मे अधिकांश बैंक सरकारी हैं जो जनता के लिए धन को जमा करती हैं और जनता को लोन देती हैं

सरकारी बैंक का मुख्य उद्देश्य यह हैं कि पहले लोग गरीब होते थे तो बे लोग कुछ काम नही कर सकते थे इसलिए सरकार ने सरकारी बैंक का गठन किया जिससे लोगो के लिए लोन मिलने लगा और लोग बैंक से लोन लेकर अपनी खेती और आपने काम काज को शुरु कर दिया

केंद्रीय बैंक

केंद्रीय बैंक देश का सर्वोच्च बैंक हैं ये बैंक देश के सम्पूर्ण बैंको का बैंक हैं इस बैंक में सभी प्रकार के नोट छापे जाते हैं और ये बैंक भिविन्न प्रकार के सिक्के  जैसे -रु.1 ,रू.2, रु.5 ,रु.10 के सिक्के छापती हैं और भिविन्न प्रकार नोट जैसे – रु. 10, रु. 20, रु. 50, रु. 100, रु. 200, रु. 500 ,और रु. 2000 ,के नोट छापती हैं

ये बैंक सरकार की बैंको का पूरा कार्य करती हैं और केंद्रीय बैंक न ही जनता का पैसा जमा करता हैं और न ही जनता को लोन देती हैं वर्तमान से ही केवल केंद्रीय बैंक ही नोट छापती हैं और आज भी केंद्रीय बैंक नोट छापती हैं और इस बैंक के नोट छापे पुरे संसार में चलते हैं

कृर्षि बैंक

राष्ट्रीय कृर्षि और राष्ट्रीय ग्रामीण बैंक की स्थापना 12 जुलाई 1982 को शिवरामन समिति के आधार पर की गई थी ये बैंक आज भी मुंबई में स्थित हैं देश भर में 28 क्षेत्रीय कार्यालय हैं हमारे देश में केवल कृषि बैंक हैं जो किसानो के लिए खेती करने के लिए लोन देती हैं इसमें सभी लोग चाहे गरीब हो या अमीर हो सभी को लोन देती हैं

कृर्षि बैंक में एक किसान केडिट कार्ड बनता हैं कृर्षि बैंक में किसानो के लिए खेती की सामग्री मिलती हैं जैसे – फसलों में डालने वाली खाद, कीटनाशक इत्यादि सामान देते हैं और ट्रेक्टर के लिए लोन देती हैं इसमें किसानो के लिए 0 % तक का भी ब्याज नहीं लगता हैं क्योकि किसानो का ब्याज सरकार चुकाती हैं

4. बैंक कैसे काम करती है 

बैंक द्वारा आपका Account Free में Open किया जाता है बैंक में पैसों का लेन देन किया जाता हैं जनता अपनी बचत save रखने के लिए बैंक में जमा कर देती हैं जो व्यक्ति अपने खाते से पैसे निकालना चाहता हैं वो ATM की मदद से आसानी से अपने पैसे निकाल सकता हैं जिस व्यक्ति ने खाता खुलवाया और पैसे जमा कर दिए और उसका ATM नही बना है तो वो व्यक्ति बैंक जा कर Withdraw Form भर कर अपने पैसे निकाल सकता हैं।

सभी बैंक हम जैसे लोगो के पैसो से ही चलती हैं आप जो बैंक में पैसे जमा करते हैं उसी से बैंक चलती हैं बैंक में सभी लोग पैसे जमा कर सकते हैं जिसके लिए सभी लोगो को बैंक में खाता खुलवाना होता है और बैंक खाते से सिर्फ बैंक खाताधारी ही पैसे निकाल सकता है।

बैंक जमा किए हुए पैसों पर ब्याज भी देती हैं बैंक सभी लोगो को लोन देती हैं और जो लोन देती हैं उस पर ब्याज लेती हैं बड़े-बड़े व्यापारियों के बड़े-बड़े व्यापार लोन के माध्यम से ही चल पाते हैं बैंक किसानो को खेती करने के लिए और लोगो के घर बनाने के लिए लोन देती हैं

बैंक में लॉकर सुविधा होता हैं जिसमे लोग अपनी कीमती वस्तुओं या अपने कीमती दस्तावेज रख सकते हैं बैंक के माध्यम से हम पैसे एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को आसानी से भेज सकते है जो की एक देश से दूसरे देश भी आसानी से लेनदेन किया जा सकता यही

जब कोई इन्शान बैंक से Loan लेता है तो उसे उस Loan का उचित ब्याज देना होता है लाखों लोग बैंक से Loan लेते हैं और ब्याज भी देते हैं जिससे बैंक को मुनाफा होता है।

जरूर पढ़िएगा

5. भारत के प्रसिद्ध बैंक कौन-कौन से है

यदि आपका अभी तक बैंक मैं Account नहीं हैं और आप एकाउंट खुलवाना चाहते हैं नीचे हमने बेस्ट बैंक के नाम दिए है जिनमे से आप सिलेक्ट करके उस बैंक में अपना एकाउंट खुलवा सकते हैं। जो बैंक के नाम के नीचे दिए जा रहे हैं उन बैंक में आपको कभी भी कोई प्रॉब्लम नहीं आएगी कुछ खास बैंक हैं जहाँ पर मैंने भी अपना Account Open किया हुआ है और अच्छे से चल रहा है।

  • STATE BANK OF INDIA  – भारतीय स्टेट बैंक
  • BANK OF BARODA – बरोदा बैंक
  • VIJYA BANK – विजय बैंक
  • HDFC BANK
  • ICICI BANK
  • AXIS BANK
  • YES BANK
  • BANK OF INDIA

ये बैंक आपको बहुत ही अच्छी सुविधाएँ प्रसन करते हैं आप इन बैंकों में से चुन लीजिए और अपना एकाउंट ओपन करवा लीजिए जिस व्यक्ति का एकाउंट पहले से ओपन हैं तो यह तो बहुत ही अच्छी बात हैं।

6. अपना बैंक खाता कैसे खुलवाये

अगर आपके पास अपना Bank Account नहीं है तो आज ही आप अपने पास वाले Bank में जाकर अपना Bank Account Open करवा लीजिए जिससे आपको Banking की सभी सुविधाओ का लाभ मिल सकें।

अब आपके मन में प्रश्न आ रहा होगा कि Bank में खाता कैसे खुलवाते हैं तो आइए आपकी यह परेशानी भी दूर कर देते हैं और आगे जानते हैं कि बैंक में खाता कैसे खुलवाते हैं।

Bank Account Open करने के लिए आपको कुछ Documents की जरूरत पड़ती है।

इन चारों चीजों के साथ आप बैंक में जा कर अपना Bank Account Open करवा सकते हैं अगर आप गवर्नमेंट Bank में अपना Account Open करवाना चाहते है तो आपको 500 या 1000 रुपये की जरूररत पड़ेगी और अगर आप Private बैंक में अपना Account Open करवाना चाहते है तो आपको 5000 से 10000 रुपये की जरूरत पड़ेगी क्योंकि Private Banks में आपको बहुत सी सुविधाएँ दी जाती है जिसके लिए Account Maintenance करना बहुत ही Important होता है।

7. बैंक क्या-क्या सुविधाएं प्रदान करती हैं

आज समय के साथ बैंक ने भी बहुत सारी तरक्की की है पुराने जमाने में बैंक को सिर्फ Loan लेने या पैसे जमा करने के लिए जाना जाता था लेकिन आज समय के साथ Bank अपने Customer के लिए बहुत सारी सुविधाएँ ले कर आ गयी है।

जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग Bank Account Open करना चाहते हैं कुछ खास सुविधाए बैंक के द्वारा दी जाती हैं जिसके बारे में आपको मैं बताना चाहती हूँ।

  • बैंक में आप अपने एकाउंट में पैसे जमा कर सकते हैं।
  • आपके Account में जमा पैसे आप कहीं भी कभी भी ATM Card की मदद से ATM मशीन निकाल सकते हैं।
  • आप बैंक से मोबाइल बैंकिंग की सुविधा ले सकते हैं जिससे आप Online Mobile से पैसों का लेन-देन कर सकते हैं।
  • आप नेटबैंकिंग से भी Money Transfer, Mobile Reharge, DTH बिल या अन्य बिल का भुगतान आसानी से कर सकते है
  • बैक से आप Internet Banking की सहायता से कहीं भी Shopping कर सकते हैं
  • आप बैंक के Locker में कीमती चीजें रख सकते हैं जो पूरी तरह से सुरक्षित होता है।
  • बैंक आपको अलग-अलग तरह के Loans (Home Loan, Education Loan, Car Loan इत्यादि) प्रदान करती है।
  • Check Book की सुविधा Banks के दवारा आपको दिया जाता है जिससे आप कभी भी बिना Cash का उपयोग किए किसी को पैसे दे सकते हैं।
  • आप बैंक के द्वारा Mutual Funds में Investments कर सकते हैं जिससे आप ज्यादा से ज्यादा पैसे कमा सकें।
  • किसी बैंक के द्वारा आप Demate Account Open कर के Share Bazar में निवेश कर सकते हैं।
  • आपको एक Passbook दिया जाता है जिसमे आप अपने Bank में रखे एक-एक पैसों का हिसाब रख सकते हैं।
  • आपके पास अगर ज्यादा पैसा है और आप उसे और भी ज्यादा करना चाहते हैं तो आप उस पैसों को सावधि जमा खाता ( Fix Deposit Account ) खोलकर जमा कर सकते हैं। इससे आपके पैसे सुरक्षित रहेंगे और आपको अधिक ज्यादा ब्याज भी मिलेगा।
  • यदि आप थोड़े-थोड़े पैसे जोड़कर कुछ बड़ा करना चाहते है तो आप आवर्ती जमा खाता ( Recurring Deposit Account ) खोलकर उसमे पैसे जमा करके पैसे को इकक्ठा कर सकते है
  • आप अगर कोई Business करते हैं या कोई भी Job करते हैं तो आप Bank में Credit Card के लिए Apply कर सकते हैं Credit Card से आप कहीं भी और कभी भी Shopping या Bill Pay कर सकते हैं।

8. धनराशि जमा करने के अतिरिक्त बैंक कौन-कौन से कार्य करती हैं

बैंक धनराशि को जमा करने और ऋण प्रदान करने के अतिरिक्त भी निम्न कार्य करती है जो नीचे दिए गए हैं।

  • आभूषणादि बहुमूल्य वस्तुएँ जमा रखना
  • अपने ग्राहकों के लिए उनके चेकों का संग्रहण करना
  • व्यापारिक बिलों की कटौती करना
  • एजेंसी का काम करना
  • गुप्त रीति से ग्राहकों की आर्थिक स्थिति की जानकारी लेना-देना।

इन अन्य कार्यो को करने की वजह से बैंक को साख का सृजन भी कहा जाता है।

9. बैंक कौन कौन से Charges ग्राहक से लेती है

जैसे की हम सभी जानते है की बैंक हमारे ही पैसे को लेकर उससे पैसे कमाती है लेकिन हमे सुविधाएं देने के लिए हमसे Charges के रूप में पैसे भी लेती है हमने कुछ Charges की जानकारी दी है जो अलग अलग बैंको में अलग राशि के चार्ज लिए जाते है

  • ATM उपयोग करने पर आप से प्रत्येक वर्ष ATM का वार्षिक Charge लिया जाता है।
  • बैंक के खता सम्बन्धी नियमो को तोड़ने का भी Charges लिया।
  • Saving खाते में एक नियत लेनदेन से अधिक लेनदेन करने पर  बैंक Charge लेती है
  • Credit Card उपयोग करने पर एक वर्ष का Charges Pay  करना होता है।
  • Account में Low Balance रखने पर भी Charges लिया जाता है।
  • Bank आपके पैसों को ही निवेश करता है जिससे जो Mutual Funds से जुड़े हुए होते हैं उनको बहुत ज्यादा Benifit होता है।
  • Bank Share Markets से जुड़ा होता है जिससे Bank बहुत ज्यादा पैसे कमाता है और उससे जुड़े हुए लोग भी पैसे कमाते हैं।
  • SMS सुविधा जा प्रत्येक तीन महीने में Charge लिया जाता है

10. पेमेंट बैंक

पेमेंट बैंक भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा परिकल्पित बैंकों का एक नया मॉडल है। ये बैंक प्रतिबंधित जमा को स्वीकार कर सकते हैं, जो वर्तमान में प्रति ग्राहक ₹100,000 तक सीमित है।

अब इसे और बढ़ाया जा सकता है। ये बैंक ऋण जारी नहीं कर सकते। पेमेंट बैंक एटीएम कार्ड, डेबिट कार्ड, नेट-बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग जैसी सेवाएं देते हैं। भारती एयरटेल ने भारत का पहला लाइव भुगतान बैंक स्थापित किया। कुछ प्रमुख पेमेंट बैंक हैं इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक, एयरटेल और पेटीएम।

जरूर पढ़िए

आशा करती हूं कि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी बैंक क्या हैं और कैसे काम करता हैं पसंद आई होगी।

यदि आपका अभी तक बैंक में खाता नहीं हैं तो प्लीज अब तो खाता खुलवा लीजिए हमने आपको पूरी जानकारी भी विस्तार पूर्वक दे दी हैं।

दोस्तों यदि आपको हमारे द्वारा लिखी गई पोस्ट पसंद आई हैं तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं।

हमें आपकी कमेंट का इंतजार रहेगा।

यदि आपको बैंक क्या है और कैसे काम करता है कि इस पोस्ट में कोई भी जानकारी समझ नहीं आयी है तो हमें कमेंट में  द्वारा जरूर बताएं।

हम जानकारी देने की पूरी कोसिस करेंगे।

One thought on “बैंक क्या है, बैंक के प्रकार और अन्य महत्वपूर्ण जानकारी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *