Keyboard

Keyboard क्या हैं | 30+ Shortscut Keys जाने

कंप्यूटर या लैपटॉप का उपयोग तो आज के समय में सामान्य रूप से सभी जगह जरूरी हो गया है जिसमे Keyboard बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है जिसकी समस्त जानकारी बहुत कम लोगो को ज्ञात होती है इसलिए इस पेज पर हमने Keyboard से संबंधित समस्त जानकारी दी हुई है

जैसे Keyboard क्या हैं, Keyboard Full का Full Form क्या है, Keyboard का अविष्कार किसने किया है, Keyboard की महत्वपूर्ण Shortcut Keys कौनसी है और Keyboard चलाना कैसे सीखे आदि।

तो चलिए Keyboard की जानकारी को पढ़ना और समझना शुरू करते है।

Keyboard क्या हैं?

Computer का बहुत ही महत्वपूर्ण अंग Keyboard हैं Keyboard एक Input Device हैं इसका इस्तेमाल Computer में Commands, Text, Numerical data और दूसरे प्रकार के data को Enter करने के लिए किया जाता हैं।

एक Users Computer के साथ बात चीत करने के लिए Input Devices जैसे Keyboard का इस्तेमाल करता हैं इसके बाद यह Entered Data को Machine भाषा मे बदल दिया जाता हैं जिससे CPU उस data और Instructions को समझ सकें Computer Keyboard को हिंदी में कुंजीपटल कहते हैं।

जरूर पढ़िएगा

Keyboard का आविष्कार किसने किया?

Keyboard का आविष्कार 1868 ईस्वी में क्रिस्टोफर लैथम शोलेज (Christopher Latham Sholes) नामक व्यक्ति ने किया था जो अमेरिका के रहने वाले थे उन्होंने सबसे पहले व्याहारिक Typewriter और Qwerty Keyboard का आविष्कार किया था जिसे आज के समय में भी उपयोग किया जाता हैं

Keyboard Ka Full Form

Keyboard में उपस्तिथ हर एक अक्षर का एक अलग शब्द है जो निम्नानुसार है।

  • K – Keys
  • E – Electronic
  • Y – Yet
  • B – Board
  • O – Operating
  • A – A To Z
  • R – Response
  • D – Directly

Keyboard को Computer के साथ Connect कैसे किया जाता हैं?

पहले के समय मे Keyboard को Computer के साथ Connect करने के लिए PS/2 (Serial Connector) का इस्तेमाल किया जाता था लेकिन आज के समय में USB (Universal Serial bus) और Wireless Connectors का इस्तेमाल किया जा रहा हैं।

USB (Universal Serial bus) और Wireless Connectors से Computer को Connect करना बहुत ही आसान हैं Wiress Keyboard का जो Disadvantage होता हैं उसमें बार-बार Battery बदलनी पड़ती हैं यह दूसरे Keyboard की तुलना में ज्यादा Portable हैं।

Keyboard के प्रकार क्या हैं?

Keyboard तीन प्रकार के होते हैं जो नीचे दिए गए हैं तो उनके बारे में ध्यान से पढ़िएगा और समझिएगा।

  • साधारण कीबोर्ड (Normal Keyboard)
  • तार रहित की-बोर्ड (Wireless Keyboard)
  • अरगानोमिक की-बोर्ड (Ergonomic Keyboard)

1. साधारण कीबोर्ड (Normal Keyboard)

इस Keyboard को USB Cable के द्वारा Computer में जोड़ा जाता हैं इस प्रकार के Keyboard को Wired Computer Keyboard कहाँ जाता हैं इस Keyboard को Computer में

Connect करने के लिए एक Cable होती हैं जिसे Cpu से जोड़ा जाता हैं यह Keyboard सस्ते होते हैं इसलिए इन Keyboard का इस्तेमाल ज्यादा किया जाता हैं।

2. तार रहित की-बोर्ड (Wireless Keyboard)

Wireless Keyboard में Wire का Use नहीं किया जाता है यह Bluetooth की तरह काम करते है Wireless Keyboard ज्यादा महंगे होते है Computer से Connect करने के लिए इनके साथ Usb Receiver आता है जो Radio Frequency होता है Keyboard से जो Signal मिलता है उसे यह Computer को भेजता है।

3. अरगानोमिक की-बोर्ड (Ergonomic Keyboard)

Ergonomic ऐसे Keyboard होते हैं जो हाथ के Muscle के टाइपिंग करते समय दर्द होता हैं उस दर्द को कम करने के लिए बनाए जाते हैं

इससे हाथों को भी काफी आराम मिलता हैं इस तरह के Ergonomic Keyboard दो हाथ वाले Typists के लिए V – Shape में बनाया जाता हैं इससे एक एंगल बन जाता हैं जिससे हमारी Typing Speed बढ़ जाती हैं।

Keyboard Key कितने प्रकार के होते हैं?

Computer Keyboard में बटन के आकार में बहुत सी keys होती हैं हर Keys किसी ना किसी प्रकार से एक खास केटेगरी से जुड़ी होती हैं यदि आप Category के बारे में समझ गए तो आप आसानी से उसके Function के बारे में समझ सकते हैं हम की-बोर्ड की संरचना के आधार पर इसकी कुंजियो को छ: भागो में बाँट सकते है।

  • टाइपिंग कुंजियाँ (Typing Keys)
  • एल्फानुमेरिक कुंजियाँ (Alphanumeric Keys)
  • न्यूमेरिक की-पैड (Numeric Keypad)
  • फंक्शन की (Function Keys)
  • विशिष्ट उददेशीय कुंजियाँ (Special Purpose Keys)
  • कंट्रोल कुंजियाँ (Control Keys)

1. टाइपिंग कुंजियाँ (Typing Keys)

Computer में Typing Keys का उपयोग ज्यादा किया जाता हैं Typing keys में Alphabet और Numeric की शामिल रहते हैं Alphabet का मतरब A से Z तक के Word और Numeric 0 से 1 तक के नंबर होते हैं इन दोनों को हम Alphanumeric Keys के नाम से जानते हैंं

2. एल्फानुमेरिक कुंजियाँ (Alphanumeric Keys)

दुनिया में जितने भी Keyboard में Keys होती हैं सभी एक ही Set में होती हैं जिसे  Alphanumeric Keys के नाम से जाना जाता हैं इसको Alphanumeric Keys इसलिए बोला जाता क्योंकि इसमें सिर्फ Alphabets और Numbers होते हैं।

Alphanumeric Keys में Number Key दो जगह होते होते हैं एक तो Alphanumeric Keys के ऊपर वाली Row में और दूसरी Alphanumeric Keys दाहिने साइड होते हैं।

3. न्यूमेरिक की-पैड (Numeric Keys)

Numeric Keys वो Keys होती हैं जो Alphabets के Right Side में Numbers होते है यह Keys कैलकुलेशन करने में काफी उपयोगी होती हैं।

4. फंक्शन की (Function Keys)

Function Keys सबसे ऊपर वाले Row में होते हैं जिसे आप F1, F2, F3, F4, F5, F6, F7, F8, F9, F10, F11, F12 के नाम से जानते हैं या पहचान सकते हैं Function Keys के अलग-अलग Function होते हैं।

5. विशिष्ट उददेशीय कुंजियाँ (Special Purpose Keys)

यह keys सामान्य कमांड देने के लिए उपयोग किए जाते है जैसे:- Delete, Enter, Return यह आपके Keyboard पर निर्भर करती हैं कि स्पेशल keys कहाँ पर हैं।

Special Keys End, Home, Caps Lock हैं जिसका उपयोग हम आवाज बढ़ाने घटाने के लिए करते हैं साथ ही Ctrl एंड Alt के साथ भी उपयोग करके बहुत से काम किए जा सकते हैं।

6. कंट्रोल कुंजियाँ (Control Keys)

Control Keys ऐसी keys होती हैं जिन्हें हम सिंगल भी इस्तेमाल कर सकते हैं और किसी और बटन के साथ भी इस्तेमाल कर सकते हैं  Ctrl, Alt, Escape, Windows, keys Control Keys होते हैं।

Keyboard में कितने बटन होते हैं?

किसी भी Keyboard में कुल बटन की संख्या उसके साइज पर निर्भर करता हैं आजकल बहुत से नए-नए Keyboard देखने को मिलते हैं जिसकी साइज अलग-अलग होती हैं।

Full-Size Keyboard में 104, 105, 108 बटन होते है साथ ही इन Keyboard में एक डेडिकेटेड Number प्लेट भी होता हैं Tenkeyless Keyboard में 87 या 88 बटन होते हैं जिसमे डेडिकेटेड Number पैड नहीं होता हैं।

  • (F1 – F12) – Information जिसमे (F1 – F12) तक keyboard keys होते हैं।
  • Tab – Tab key.
  • Caps lock – Caps lock key
  • Left – Cursor को left ले जाने के लिए
  • Right  – Cursor को right ले जाने के लिए
  • Up – Cursor को ऊपर ले जाने के लिए
  • Down – Cursor को निचे में ले जाने के लिए
  • Back Space – डिलीट करने के लिए
  • Delete – डिलीट करने के लिए
  • Shift – Shift key.
  • Spacebar – Spacebar key.
  • Enter – Ok या Enter button
  • Pause – Pause key.
  • Break – Break key
  • Insert – Insert key.
  • Home – Home key
  • Prt Scrn – Screenshot लेने के काम आता है.
  • Scroll lock – Scroll lock key.
  • Page up – For Page up or pg up key.
  • Page down – For Page down or pg down key.
  • End – End key.
  • Num Lock – Num Lock key.
  • ! Exclamation point, or Bang.
  • @  Ampersat or At symbol.
  • #  Octothorpe, Number, Pound,
  • €  Euro.
  • $  Dollar sign or generic currency.
  • ¢  Cent sign
  • ¥ Chinese or Japenese Yuan.
  • §   Micro or Section
  • %  Percent
  • °  Degree.
  • ^  Caret or Circumflex
  • &    And
  • (  Open parenthesis.
  • )  Close parenthesis
  • ?  Question Mark.
  • >  Greater Than ya Angle brackets.
  • <  Less Than ya Angle brackets
  • ,  Sentence में अल्पविराम के लिए.
  • .  Sentence पूरा करने पर Full Stop.
  • ‘  Apostrophe या Single Quote.
  • ” Quote, Quotation mark, या Inverted commas
  • :  Colon.
  • / and mathematical division symbol.
  • \ Backslash or Reverse Solidus.
  • |Pipe, Vertical bar
  • ]  Closed bracket
  • [ Open bracket
  • }  Close Brace, squiggly brackets, or curly bracket
  • {  Open Brace, squiggly brackets, or curly bracket
  • = Equal
  • + Plus
  • _ Underscore
  • – Hyphen, Minus or Dash

Keyboard की Typing Keys और उनका उपयोग

Tab Key – Tap Key का उपयोग एक साथ बहुत से शब्दों को Space देने के लिए किया जाता हैं।

Caps Lock Key – इस Key का उपयोग Keyboard में Letter को Uppercase में लिखने के लिए किया जाता हैं और Caps Lock का इस्तेमाल Title को लिखने के लिए किया जाता हैं।

Shift Keys – Shift Keys को Shortcut Keys के रूप में उपयोग किया जाता हैं इस Key का उपयोग Caps Lock Key की तरह किया जाता हैं।

Space Bar – “Space Bar” Keyboard की सबसे बड़ी Key होती हैं जिसका उपयोग दो शब्दों के बीच खाली जगह रखने के लिए किया जाता हैं।

Enter Key – “Enter Key” की Keyboard की सबसे महत्वपूर्ण Key होती हैं इसका उपयोग हम पहली लाइन खत्म होने के बाद करते हैं।

Keyboard Shortcuts Keys

आपन अपने Computer में काम करते समय आप अपने Input Device का इस्तेमाल करके अपना Important Data Computer में डालते हैं और उसे Work करने की अनुमति देते हैं।

Computer में काम करने वाला व्यक्ति Shortcut key की जानकारी रखता हैं तो उसे काम करने में आसानी होती हैं Shortcut key जानने की वजह से उसे बार-बार माउस पकड़ने की जरूरत नहीं पड़ती वो Keyboard से ही सारा काम कर सकता हैं तो चलिए आज हम आपको Shortcut keys बताने जा रहें हैं जो बहुत ही उपयोगी है।

Ctrl + A के द्वारा किसी भी पेज के सभी कंटेंट को एक बार में सेलेक्ट करता है।

Ctrl + B से सेलेक्ट किये हुए text को bold मतरब बड़ा किया जाता है।

Ctrl + C से सेलेक्ट किये हुए text को copy करता है।

Ctrl + D खुले हुए वेबपेज को bookmark करने का काम करता है।

Ctrl + E से सेलेक्ट किये हुए Text को center में ले जाया जाता है।

Ctrl + F से Find विंडो खोलने के लिए प्रयोग करते हैं।

Ctrl + G ब्राउज़र और वर्ड प्रोसेसर में Find विंडो ओपन करता है।

Ctrl + H माइक्रोसॉफ्ट वर्ड, नोटपैड और वर्डपैड में काम आता हैं।

Find & Replace का विंडो ओपन करता है।

Ctrl + I लिखे हुए text को italic करता है।

Ctrl + J ब्राउजर में हो रहे डाउनलोड विंडो में जाने के लिए प्रयोग करते हैं।

Ctrl + K माइक्रोसॉफ्ट वर्ड और HTML editor में highlighted text का Hyperlink बनाता है।

Ctrl + L से Text को left side में align करता है और browser का address bar select करता है।

Ctrl + M से वर्ड प्रोसेसर प्रोग्राम में सेलेक्टेड text को indent करता है।

Ctrl + N के द्वारा नया पेज या नया डॉक्यूमेंट बनाता है।

Ctrl + O लगभग हर तरह प्रोग्राम में File या document को ओपन करता है।

Ctrl + P के द्वारा डॉक्यूमेंट को प्रिंट करने के लिए Print विंडो ओपन करता है।

Ctrl + R के द्वारा Text को right side align करता है और ब्राउज़र के पेज को reload करता है।

Ctrl + S से file या document को लोकल ड्राइव में परमानेंटली save किया जाता हैं।

Ctrl + T के द्वारा इंटरनेट ब्राउज़र में एक नया tab खोलता है।

Ctrl + U से Text को underline किया जाता हैं।

Ctrl + V से Copy किये हुए file, text document को paste करता है।

Ctrl + W ब्राउज़र में tab और वर्ड में document को सेव करता है।

Ctrl + X सेलेक्ट किये हुए text या किसी फाइल को cut करता है।

Ctrl + Y किसी भी action को Redo करता है।

Ctrl + Z किसी action को Undo करता है।

F1 से हम किसी भी इनफार्मेशन देखने के लिए इसका इस्तेमाल करते हैं।

F2 किसी फाइल का नाम बदलने के लिए F2 का उपयोग करते हैं।

F5 जो भी प्रोग्राम का विंडो खुला होगा उसका पेज refresh करता है।

Alt + Tab खुले हुए एक प्रोग्राम से दूसरे प्रोग्राम में के के लिए काम करता है।

Alt + F4 से किसी भी Active प्रोग्राम को बंद करता है।

hift + Del किसी फाइल को परमानेंटली डिलीट करता है।

जरूर पढ़िए

दोस्तों आज आपने Keyboard क्या हैं और इसके प्रकार क्या हैं इसके बारे में पढ़ा उम्मीद करती हूं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और आपने इस पोस्ट को पूरा जरूर पड़ा होगा Keyboard को आपके मन के सारे Doubts Clear हो गए होंगे यदि अभी भी आपके दिमाक में किसी प्रकार का कोई भी Doubts हैं तो Comment द्वारा जरूर पूछिए।

दोस्तों आप लोगों से मेरी यह गुजारिश हैं कि इस जानकारी को अपने दोस्तों रिश्तेदारों के साथ शेयर जरूर कीजिए और साथ ही अपने Whatsapp, Facebook, Instagram परज्यादा से ज्यादा शेयर करना न भूलिए और आपको Keyboard क्या है और इसके प्रकार क्या है यह पोस्ट पसंद आया हो तो Comment में जरूर बताइएगा धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *