CD और DVD क्या हैं

CD और DVD क्या हैं और इसमें क्या अंतर हैं?

Last Updated on June 10th, 2020 by Bhupendra Singh

हम अपने आर्टिकल्स में कंप्यूटर से संबंधित सभी पार्ट्स और डिवाइस की जानकारी आर्टिकल्स के माध्यम से शेयर करते है और इस आर्टिकल में हम CD और DVD के बारे में समस्त जानकरी को विस्तार से समझेंगे।

पिछले पेज पर हमने Keyboard के बारे में समस्त जानकारी विस्तार से शेयर की है यदि अपने वह नहीं पढ़ी तो उसे जरूर पड़े।

चलिए अब CD और DVD के बारे में जानकारी पढ़ते है।

CD क्या हैं?

CD एक प्रकार का ऑप्टिकल माध्यम होता है जो आपके डिजिटल डाटा को संग्रहित करने के काम आता है।

CD का आविष्कार James T. Russell ने किया था, James T. Russell एक American आविष्कारक थे।

इस अविष्कार में Optical Transparent Foil पर डिजिटल डाटा को संग्रह किया जाता है।

1982 में सोनी कंपनी और फिलिप्स कंपनी ने इसका निर्माण करना चालू कर दिया था।जिस समय के दौरान CD का इस्तेमाल शुरू हुआ था। उस समय रील वाली कैसेट का इस्तेमाल हुआ करता था।

पहले सीडी का निर्माण साउंड को रिकॉर्ड करने के लिए और उसे चलाने के लिए ही किया जाता था लेकिन बाद में इसमें और सुविधाएं भी जोड़ी गई और इसे डाटा को स्टोर करने के लिए भी उपयोग में लिया जाने लगा।

CD एक कम वजन वाली डिवाइस होती है और इसे आप आराम से कहीं भी ले जा सकते हैं यह 4.75 इंच की होती है।

CD का Full form Compact Disk है।

DVD क्या हैं?

DVD की खोज CD के बाद की गई थी। CD के निर्माणकर्ता ने CD में कुछ परेशानियों को देखा तब उन्होंने सीडी का मोडिफाइड वर्जन DVD बनाया।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सीडी में हम केवल 700 एमबी डाटा संग्रहित कर सकते हैं और अगर हम उससे अधिक डेटा संग्रह करना चाहते हैं तो हमें दूसरी सीडी की जरूरत पड़ेगी और इसी के मद्देनजर CD के बाद अधिक डेटा को संग्रहित करने के लिए DVD का निर्माण किया गया और इसे मार्केट में लांच किया गया।

वर्तमान में डीवीडी का निर्माण कई कंपनियां करती है, जिसमें Panasonic, Phillip, Sony और Toshiba जैसी कंपनियां प्रमुख कंपनियां है। डीवीडी का सबसे पहला आविष्कार साल 1995 हुआ था और इन्हें एक साथ सभी जगह Release नहीं किया गया था। 

Japan में डीवीडी साल 1996 में, America में साल 1997 में, Europe में साल 1998 में और Australia में साल 1999 में रिलीज किया गया था।इसका वजन 16 ग्राम होता है और इसकी थिकनेस 1.2 mm होती हैं।इसकी layer plastic की बनी होती हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि डीवीडी में काफी ज्यादा मात्रा में Data को स्टोर कर सकते हैं। डीवीडी 4.7 GB की होती है और डीवीडी का इस्तेमाल करने के लिए हमें डीवीडी ड्राइवर की आवश्यकता होती है। 

डीवीडी भी CD की तरह ही Portable होती है। इसे हम कहीं भी लेकर जा सकते हैं और इसमें हम एक साथ बहुत सारी पिक्चरें, Video Store कर सकते हैं।

DVD का फुल फॉर्म Digital Versatile Disk है इसके अलावा इसे digital video disk भी कहते है।

DVD के लाभ

डीवीडी की संग्रहित करने की क्षमता बहुत ही ज्यादा होती है अर्थात इसमें आप ज्यादा डाटा को Store कर सकते हैं। डीवीडी में आप अधिक से अधिक 17.08 तक का डाटा स्टोर कर सकते हैं। 

यह वजन में बहुत ही हल्की होती है, साथ ही पोर्टेबल भी होती है इसलिए आप इसे आसानी से अपने साथ कहीं भी लेकर आ और जा सकते हैं।

डीवीडी में Video और Sound Quality बहुत ही अच्छी होती है। इससे आपको पिक्चर देखने या वीडियो देखने का पूरा आनंद आता है। डीवीडी कीमत में काफी सस्ती होती है। डीवीडी का ड्राइव सीडी को भी आसानी से पढ़ सकता है और उसकी फाइल को एक्सेस तथा प्ले कर सकता है।

DVD से हानि

डीवीडी को हम सीडी ड्राइव में नहीं चला सकते। इसका कोई भी स्टैंडर्ड नहीं है। डीवीडी में आसानी से स्क्रैच और दाग पड़ जाते हैं जिसके कारण यह डैमेज हो जाती है और सही से वीडियो या पिक्चर नहीं चला पाती है। इसमें डाटा को स्टोर करने के लिए बर्निंग सॉफ्टवेयर की आवश्यकता पड़ती है।

वैसे अब लोग डीवीडी का इस्तेमाल भी कम करने लगे हैं क्योंकि आज के टेक्नोलॉजी के दौर में लोग सुविधा चाहते हैं और इसके लिए ही लोग अब मेमोरी कार्ड अथवा पेनड्राइव मे बड़ी से बड़ी पिक्चर और वीडियो डाउनलोड करके देखते हैं और यह दोनों चीजें डीवीडी से वजन में हल्की और बहुत ही छोटी होती है। इसलिए हो सकता है कि भविष्य में डीवीडी भी लुप्त प्राय हो जाए।

CD और DVD में अंतर है

CDDVD
CD को कॉम्पैक्ट डिस्क कहते हैंDVD को हम डिजिटल वर्सटाइल डिस्क कहते हैं।
CD में फाइल स्टोर करने की क्षमता कम होती हैं।हम डीवीडी में सीडी से ज्यादा फाइल स्टोर कर सकते हैं। डीवीडी की Capacity सीडी से ज्यादा होती है।
DVD के आ जाने से CD का इस्तेमाल कम कर दिया गया हैं। डीवीडी सीडी से बेहतर होता है फिलहाल पूरी दुनिया में डीवीडी का इस्तेमाल ज्यादा हो रहा है।
पहले CD का निर्माण हुआ थाऔर उसके बाद डीवीडी का निर्माण हुआ इसलिए डीवीडी सीडी का Modified Version है।
जबकि सीडी में एक ही लहर का इस्तेमाल होता है। डीवीडी में 2 Layer का इस्तेमाल होता है इसी के कारण हम डीवीडी में सीडी से ज्यादा डाटा स्टोर कर सकते हैं।
CD में कम Memory Store करने की क्षमता होती हैं।DVD में सीडी से 6 गुना ज्यादा Memory Store करने की क्षमता होती है इसलिए डीवीडी लोगों की पहली पसंद होती है।
ऑडियो और व्यापारिक डाटा को स्टोर करने के लिए CD का इस्तेमाल किया जाता है।ज्यादातर लोग Software अथवा फिल्म को स्टोर करने के लिए डीवीडी का ही इस्तेमाल करते हैं
सीडी में केवल सीडी प्ले करने की क्षमता होती है।DVD player में सीडी और डीवीडी दोनों को चलाने की क्षमता होती है

जरूर पढ़िए :

दोस्तों इस पेज पर आपने CD और DVD क्या हैं और इसमें क्या अंतर हैं? इससे संबंधित समस्त जानकारी को विस्तार पूर्वक पड़ेगें दोस्तों यदि आपको ये पोस्ट पसंद आई हो तो इसे दोस्तों के साथ शेयर करना मत भूलें धन्यवाद।

2 thoughts on “CD और DVD क्या हैं और इसमें क्या अंतर हैं?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.