Human Body Parts Name in Hindi and English

दोस्तों इस पोस्ट में आप Human Body Parts Name को Hindi और English में पढ़ेंगे। मानव के शरीर की सम्पूर्ण संरचना मानव शरीर है जिसमें एक सिर, गर्दन, धड़, दो हाथ, दो पैर आदि अनेको अंग होते हैं जिसकी वजह से हम अपने दैनिक कार्य आसानी से कर सकते हैं।

मानव शरीर कई तन्त्रो से मिलकर बना होता हैं और तंत्र कई अंगों से मिलकर बने होते हैं और अंग भिन्न-भिन्न प्रकार के ऊतकों से मिलकर बने होते हैं और ऊतक बहुत सी कोशिकाओ से मिलकर बने होते हैं तो चलिए दोस्तों आज हम शरीर के समस्त अंगो के नाम को हिंदी, अंग्रेजी में फोटो के साथ समझते है।

Body Parts Name in Hindi and English

मानव शरीर बहुत से अंगों से मिलकर बनता हैं जिस अंगों की सहायता लेकर हम अपने दैनिक कार्य आसानी से कर पाते हैं आज के इस आर्टिकल में हम मानव शरीर के सम्पूर्ण अंगो को विस्तार पूर्वक पड़ेंगे और समझेगें तो चलिए पोस्ट को पढ़ना शुरू करते हैं।

Female Body Parts name in hindi And English with Picture

दोस्तों इस पोस्ट मैं मैंने नीचे FeMale Body के Parts को बताया हैं जो आपके लिए जानना बहुत ही जरूरी हैं वैसे आप अपने शरीर के सभी अंगों से परिचित होंगे लेकिन फिर भी मैंने इस पोस्ट में सभी अंगों को बताया हैं जिससे बच्चों को पढ़ने में काफी फायदा होगा क्योंकि वो अंगों के बारे में ज्यादा नहीं जानते हैं तो Female शरीर के अंगों के बारे में जरूर पढ़िएगा।

  • Hair – बाल
  • Forehead – फोरहेड – माथा
  • Eyelid- आइलिड – पलक
  • Eyes – आंखें
  • Mouth – मुंह
  • Arm – बांह, भुजा
  • Tooth, Teeth – दांत
  • Back, Waist – कमर, पीठ
  • Shoulder – कन्धा
  • Stomach – पेट
  • Knee – घुटना
  • Throat – गला
  • Leg – टांग
  • Hand – हाथ
  • Nose – नाक
  • Ear – कान
  • Eye – आंख
  • Foot – पैर
  • Head – सिर
  • Face – चेहरा
  • Smiley Face – हंसमुख
  • Neck – गरदन
  • Nail – नाखून
  • Skin – त्वचा, खाल
  • Fist – मुठ्ठी
  • Lip – होंठ
  • Blood – रक्त
  • Brow – भौंह
  • Breast – स्तन
  • Elbow – कोहनी
  • Nipple – स्तन का अगला भाग, चूची
  • Navel – नाभि
  • Armpit, Womb – बगल, कांख
  • Chin – ठुड्डी
  • Forehead – माथा
  • Cheek – गाल
  • Ankle – टखना
  • Brain – दिमाग
  • Face – चेहरा
  • Eyebrow – भौं
  • Eyelid – पलक
  • Tongue – जीभ
  • Heart – ह्रदय
  • Toe – पैर की उंगली
  • Body – शरीर
  • Fingers – अंगुलियाँ
  • Thumb – अंगूठा
  • Intestine – आंत
  • Heel – एढ़ी
  • Larynx – कंठ
  • Temple – कनपटी
  • Wrist – कलाई
  • Skull – खोपड़ी
  • Kidney – गुर्दा
  • Knee – घुटना
  • Chest – छाती
  • Jaw – जबड़ा
  • Thigh – जाँघ
  • Liver – जिगर
  • Joint – जोड़
  • Nostril – नथुना
  • Nerve, Vein – नस
  • Paw – पंजा
  • Rib – पसली
  • Lung – फेफड़ा
  • Muscles – माँसपेशी
  • Spine – रीढ़
  • Bone – हड्डी
  • Palm – हथेली
  • Belly – पेट
  • Calf – पिंडली
  • Ring Finger – अनामिका
  • Eardrum – कान का परदा
  • Little Finger – छोटी उंगली
  • Uterus – गर्भाशय
  • Rump – चुतड
  • Bun – बालों का जूडा
  • Index Finger – तर्जनी
  • Palate – तालु
  • Bile – पित्त
  • Eyeball – नेत्रगोलक, आँख की पुतली
  • Eyelash – बरौनी
  • Embryo – भ्रूण
  • Middle-Finger – बीच की ऊँगली
  • Urinary Bladder – मूत्राशय
  • Saliva – लार
  • Trachea – स्वास नली, कंठनाल

Male Body Parts Name in Hindi With Picture

दोस्तों नीचे मैंने Male Body के Parts को बताया हैं जो आपके लिए जानना बहुत ही जरूरी हैं वैसे आप अपने शरीर के अंगों से परिचित होंगे लेकिन फिर भी मैंने इस पोस्ट में सभी अंगों को बताया हैं जिससे बच्चों को पढ़ने में काफी फायदा होगा क्योंकि वो अंगों के बारे में ज्यादा नहीं जानते हैं तो Male शरीर के अंगों के बारे में जरूर पढ़िएगा।

  • Bone –  हड्डी
  • Cheeks – गाल
  • Chest – छाती
  • Ear – कान
  • Elbow – कोहनी
  • Eyebrow – भौंह
  • Eye – आँख
  • Face – चेहरा
  • Finger – अंगुली
  • Foot – पैर
  • Forehead – माथा
  • Gum – मसूड़ा
  • Hair – बाल
  • Hand – हाथ
  • Heel – एड़ी
  • Knee – घुटना
  • Lip – होंठ
  • Mouth – मुँह
  • Nail – नाखून
  • Navel – नाभि
  • Neck – गर्दन
  • Nose – नाक
  • Palm – हथेली
  • Shoulder – कंधा
  • Stomach – आमाशय
  • Thigh – जांघ
  • Throat – गला
  • Tongue – जीभ
  • Tooth – दांत
  • Waist – कमर
  • Wrist – कलाई
  • Buttock – नितम्ब
  • Cal – पिंडली
  • Cartilage  – उपास्थि
  • Anus – गुदा
  • Artery – धमनी
  • Back – कमर
  • Chin – ठोड़ी
  • Belly – उदर
  • Bckbone – रीढ़ की हड्डी
  • Beard – दाढ़ी
  • Bile – पित्त
  • Bladder – मूत्राशय
  • Brain – दिमाग
  • Breath – सांस
  • Claw – पंजा

जरूर पढ़िए

Body Parts के नाम और कार्य

1. Skull – स्कल – खोपड़ी

मनुष्य के सिर के अंतः कंकाल के भाग को खोपड़ी कहते हैं इसमें 29 अस्थियां होती हैं इसमें से 8 अस्थियां संयुक्त रूप से मनुष्य के मस्तिष्क को सुरक्षित रखती हैं इन अस्थियों से बनी रचना को कपाल कहाँ जाता हैं कपालों की सभी अस्थियां सीवनों के द्वारा दृढ़तापूर्वक जुड़ी रहती हैं इनके अतिरिक्त 14 अस्थियां चेहरे को बनाती हैं 6 अस्थियां कान को हाइड नामक एक और अस्थि खोपड़ी में होती हैं।

जरूर पढ़िए: मानव कंकाल तंत्र की परिभाषा और प्रकार

कंकाल तंत्र के कार्य

  • शरीर को निश्चित आकार प्रदान करना
  • शरीर के कोमल अंगों को सुरक्षा प्रदान करना
  • पेशियों को जुड़ने का आधार प्रदान करना
  • श्वसन एवं पोषक में सहायता प्रदान करना
  • लाल रक्त कणिकाओं का निर्माण करना

2. Brain – ब्रेन – मस्तिष्क

मनुष्य का मस्तिष्क अस्थियों के खोल क्रेनियम में बंद रहता हैं जो इसे बाहरी आघातों से बचाता हैं मनुष्य का मस्तिष्क अस्थियों के खोल क्रेनियम में बंद रहता हैं जो इसे बाहरी आघातों से बचाता हैं। मस्तिष्क केंद्रीय तंत्रिका तंत्र का मुख्य भाग माना जाता हैं।

मस्तिष्क का कुल वजन 1400 ग्राम होता हैं मस्तिष्क 8 हड्डियों के खोल क्रेनियम के अंदर सुरक्षित होता हैं।

हमारा मस्तिष्क यानी दिमाक बहुत सी चीजों को समझ कर हमें सन्देश देता हैं जैसे कि सांस लेना, खाना खाना, पानी पीना, हम अपने जीवन में रोजाना जो भी कार्य करते हैं दिमाक के आदेश के अनुसार ही करते हैं।

जरूर पढ़िए: मनुष्य के मस्तिष्क की समस्त जानकारी

3. Eyebrow – आइ ब्रो – भौवे

आई ब्रो का रंग काला और किसी-किसी की आई ब्रो का रंग भूरा होता हैं आई ब्रो की वजह से हमारे फेस की सुंदरता दिखती हैं।

4. Eyeball – आईबॉल – आँख की पुतली

आंख मनुष्य का ऐसा अंग है जो प्रकाश के लिए सबसे संवेदनशील हैं। मनुष्य की आँख प्रकाश को संसूचित करके तंत्रिका कोशिकाओं द्वारा विद्युत रासायनिक संवेदो में बदलने का कार्य करती है जिनकी न्यूनतम देखने की क्षमता 25 सेंटीमीटर एवं अधिकतम देखने की क्षमता अनन्त होती हैं।

जरूर पढ़िए:- आँख के महत्वपूर्ण अंग, रोग और अन्य जानकारी

5. Nose – नोझ – नाक

नाक मानव शरीर के मुंह में होती हैं नाक की मदद से ही हम साँस लेते हैं नाक का काम सूंघना होता हैं नाक की सहायता से हम मीठा, खट्टा, खराब, अच्छा सूंघ कर पता कर सकते हैं यदि कहीं स्वादिष्ट खाना बनता हैं तो नाक को पहले ही खुशबू आ जाती है।

6. Ear – एअर – कान

हमारे शरीर में कान वह अंग हैं जो ध्वनि का पता लगाता हैं हमारे शरीर में कान दो होते हैं “कान” का जो हिस्सा हमें दिखाई देता हैं वह ऊतकों से निर्मित एक प्रालंब होता हैं जिसे हम बाह्य कर्ण या कर्णपाली कहते हैं।

मानवीय कान के तीन भाग होते हैं।

  • बाह्य कर्ण
  • मध्य कर्ण
  • आंतरिक कर्ण

7. Cheeks – चिक्स – गाल

गाल हमारे मुँह का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता हैं गाल हमारी आँखों के नीचे और नाक के दाएं-बाए और दोनों कान के बीच का क्षेत्र होता हैं।

8. Lips – लिप्स – होठ

होंठ मनुष्य के मुंह का बाहरी दिखने वाला भाग होता हैं जो हमें दिखाई देता हैं मनुष्य के होंठ कोमल, लचीले तथा चलायमान होते हैं हम भोजन मुँह के द्वारा ही ग्रहण करते हैं इसके अलावा मुँह के द्वारा ही हम ध्वनि का सही उच्चारण करते हैं जिसकी वजह से हम आपस मे बात चीत कर पाते हैं।

9. Moustache – मास्टाश – मूंछ

पुरूषों के होठों के ऊपर बाहरी भाग में निकलने वाले बालों के समूह को मूछ कहाँ जाता हैं पुरुषों में मूंछ युवावस्था के समय निकलती हैं और पुरुषों की शान मूछों में ही होती हैं।

10. Mouth – माउथ – मुंह

मुँह मानव शरीर के आहार नली का प्रथम भाग होता हैं मुँह के द्वारा ही शरीर में भोजन प्रेवेश होता हैं मुँह से ही भोजन को लार मिलती हैं मुँह से हम बात कर पाते हैं मुँह के द्वारा ही हमारी आवाज बाहर निकलती हैं और दूसरे व्यक्ति को सुनाई देती हैं।

11. Tounge – टंग – जबान/जीभ

मुखगुहा के फर्श पर स्थित एक मोटी एवं मांसल रचना होती हैं।  जीभ के ऊपरी सतह पर कई छोटे-छोटे अंकुर होते हैं जिन्हें स्वाद कलियाँ कहते हैं जीभ के अगले हिस्से में मीठे स्वाद को पहचाने वाली स्वाद कणिकाओ की संख्या अधिक होती हैं जबकि मध्य भाग में नमकीन स्वाद को पहचानने वाली स्वाद कणिकाएँ अधिक होती हैं। और सबसे अंतिम भाग में कड़बे स्वाद को पहचानने वाली स्वाद कणिकाएँ अधिक मात्रा में होती हैं।

जरूर पढ़िए: मानव जीभ की समस्त जानकारी विस्तार पढ़े । जीवविज्ञान

12. Teeth – टीथ – दाँत

मुखगुहा के ऊपरी तथा निचले दोनों जबड़ो में दाँतो की एक-एक पंक्ति पायी जाती हैं। मनुष्य के एक जबड़े में 16 दाँत और दूसरे जबड़े में 16 दाँत तथा कुल 32 दाँत होते हैं।  जबड़े के प्रत्येक ओर दो कृन्तक (Incisors) एक रदनक (Canine), दो अग्र चवर्णक (Premolars) तथा तीन चवर्णक (Molars) दाँत पाए जाते हैं।

जरूर पढ़िए: दांत की परिभाषा, प्रकार और महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

13. Beard – बिअर्ड – दाढ़ी

मुँह, गाल, ठोड़ी और गले में आने वाले बालों को दाड़ी कहते हैं पुरषों की दाढ़ी युवावस्था में निकलती हैं लड़के जैसे-जैसे बड़े होते जाते हैं उनकी दाढ़ी में बाल आने लगते है वैसे तो दाड़ी सिर्फ पुरुषों की निकलती हैं लेकिन हार्मोन की गड़बड़ी के कारण यह महिलाओं में भी दिखाई देने लगती हैं।

14. Face – फेस – चेहरा

हमारा चेहरा ही होता हैं जिससे हम आकर्षित दिखते हैं शरीर में एक फेस ही होता हैं जिससे हमारी सुंदरता का पता चलता हैं सभी व्यक्तियों का चेहरा अलग-अलग होता हैं।

15. Neck – नेक – गर्दन

गर्दन मानव शरीर का एक हिस्सा होता हैं गर्दन के कारण शरीर रीढ़ की हड्डी और सिर को धड़ से जोड़ता हैं हमारा पूरा शरीर गर्दन की वजह से चेहरे से जुड़ा होता हैं।

16. Lungs – लंग्स – फेफड़े

फेफड़े गैसीय पदार्थ कार्बनडाई आक्साइड और जलवाष्प का उत्सर्जन करता हैं कुछ पदार्थ होते है जैसे लहसुन, प्याज, और कुछ मसाले जिसमें वाष्पशील घटक होते हैं जिसका उत्सर्जन फेफड़ो के द्वारा ही होता हैं।

17. Tummy – टमी – पेट (बहार का)

पेट एक पेशीय खोखला पोषल नली का फैला हुआ भाग होता हैं जो पाचन नली के प्रमुख्य अंग के रूप में कार्य करता हैं पेट या अमाशय ग्रास नली ओर छोटी आंत के बीच में स्थित होता हैं यह छोटी आंत में पचे हुए भोजन को भेजने के पहले अवाध पेशी ऐठन के माध्य्म से भोजन के पाचन में सहायक के लिए प्रोटीन, एंजाइम और तेज अम्लों को स्त्रावित करता हैं।

18. Liver – लीवर – यकृत

यकृत कोशिकाएं आवश्यकता से अधिक अमीनो अम्ल तथा रुधिर की अमोनिया को यूरिया में परिवर्तित करके उत्सर्जन में मुख्य भूमिका निभाता हैं।

यह मानव शरीर की सबसे बड़ी ग्रंथि हैं इसका वजन लगभग 1.5 – 2 किलोग्राम होता हैं यकृत द्वारा ही पित्त स्त्रावित होता हैं यह पित्त आतँ में उपस्थित एंजाइम की क्रिया को तीव्र कर देता हैं।

जरूर पढ़िए: यकृत क्या हैं इससे संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी

लीवर के कार्य

  • भोजन में वसा की कमी होने पर यकृत कार्बोहाइड्रेट के कुछ भाग को वसा में परिवर्तित कर देता हैं।
  • यकृत प्रोटीन की अधिकतम मात्रा को कार्बोहाइड्रेट में परिवर्तित कर देता हैं।
  • कार्बोहाइड्रेट उपापचय के अंर्तगत यकृत रक्त के ग्लूकोज वाले भाग को ग्लाइकोजेन में परिवर्तित कर देता हैं।
  • ग्लूकोज की आवश्यकता होने पर यकृत संचित ग्लाइकोजेन को खंडित कर ग्लूकोज में परिवर्तित कर देता हैं इस प्रकार यह रक्त ग्लूकोज की मात्रा को नियमित बनाए रखता हैं।

19. Intestine – इंटेस्टाइन – आंत

छोटी आंत में भोजन के पाचन की क्रिया पूर्ण होती हैं एवं पचे हुए भोजन का अवशोषण होता हैं छोटी आतँ की दीवारों से आंतरिक रस निकलता हैं।

20. Heart – हार्ट – दिल

एक स्वस्थ मनुष्य का हृदय 72 से 75 बार एक मिनट में धड़कता है। हृदय के स्पन्दन की यह गति कम भी हो सकती है और अधिक भी हर एक सपन्दन के साथ सर्वप्रथम दोनों एट्रियम का और उसके बाद दोनों वेन्ट्रिकल्स संकुचन होता है। संकुचन के बाद दोनों एक साथ शिथिल होते है। हृदय में यह स्पन्दन आधीवन निरन्तर चलता ही रहता है।

जरूर पढ़िए: हृदय की संरचना, कार्य, कोष्टक, कपाट

21. Kidney – किडनी – गुर्दा

गुर्दा का जोड़ा एक व्यक्ति का अंग होता हैं जिनका काम रक्त का शोधन करना होता हैं हमारे शरीर में दो किडनी होती हैं इनके द्वारा इलेक्ट्रोलाइट, क्षार-अम्ल संतुलन और रक्तचाप का नियासिन होता हैं इनका मल स्वरूप मल कहलाता हैं इसमें यूरिया और अमोनिया होते हैं।

गुर्दा लगभग 11 से 14 सेमी लम्बा, 6 सेमी चौड़ा और 3 सेंटीमीटर मोटा होता हैं गुर्दे की संरचना बिल्कुल सेम के आकार की होती हैं दोनों गुर्दे में अवतल और उत्तल सतहें पाई जाती हैं अवतल सतह को वृक्कीय नाभिका कहाँ जाता हैं गुर्दे की दाएं और ऊपरी सीमा यकृत से सटी हूई होती हैं और बायीं सीमा प्लीहा से जुड़ी होती हैं सांस लेने के लिए दोनों गुर्दे नीचे की ओर जाते हैं।

22. Waist – वेइस्ट – कमर

कमर पसलियों और कूल्हों के बीच में होती हैं महिलाओं की कमर पुरुषों की कमर से छोटी और पतली होती हैं

23. Thigh – थाई – जांघ

जांघ शरीर के कूल्हे और घुटने के बीच का हिस्सा होता हैं और टांग का ऊपरी भाग होता हैं जांघ में एक मोटी और शक्तिशाली हड्डी होती हैं जो शरीर की सबसे बड़ी फीमर हड्डी कहलाती हैं।

24. Wrist – रिस्ट – कलाई

हथेली और बाँह के बीच के जोड़ को कलाई कहते हैं हाथ को चलाने के लिए कलाई का बड़ा ही महत्त्व हैं कलाई मुख्य रूप से दो भागों वाली छोटी हड्डी से बनी होती हैं जिन्हें कार्पेल कहते हैं।

25. Palm – पाम – हथेली

हमारे शरीर में दो हाथ होते हैं दोनों हाथ में नीचे की ओर हथेली होती हैं हथेली में पांच उंगलियां होती हैं जिनकी सहायता से हम किसी भी वस्तुओं को पकड़ पाते हैं और अपने स्वंम के सभी काम कर पाते हैं।

26. Knee – नी – घुटना

घुटना टांग और जांघ को जोड़ने वाला अंग होता हैं घुटना दो सन्धियों से मिलकर बना होता हैं पहली सन्धि फीमर हड्डी और टिबिया के बीच होती हैं और दूसरी हड्डी फीमर हड्डी और पेटेला के बीच होती हैं।

27. Sole – सोल – पैर का तलवा

तलवा पैर के नीचे का क्षेत्र हैं पैर के तलवे को हम जमीन पर रख कर चलते हैं पैर किसी कशेरुकी प्राणी के शरीर की टांग के अंत में स्थित अंग होता हैं।

दोस्तों आज आप इस पोस्ट में मानव शरीर के अंगों के नाम हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में पड़ेंगे और साथ ही मानव शरीर के अंगों के बारे में विस्तार पूवर्क पड़ेंगे जो बच्चों को जानना बहुत जरूरी हैं।

आशा करती हूं कि आपको यह पोस्ट जरूर पसंद आई होगी और आप इस आर्टिकल को पढ़कर शरीर के अंगों के बारे में जान गए होंगे दोस्तों इस पोस्ट को Whatsapp, Facebook, Instagram, पर ज्यादा से ज्यादा कीजिए जिससे आपके दोस्तों तक यह पोस्ट पहुँचे धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *