Dona Pattal Business

Dona Pattal Making Business कैसे शुरू करें?

दोस्तों क्या आप कोई बिजनिस की तलाश में हैं तो आप एकदम सही साइट पर आए हैं इस पेज में आप Dona Pattal Making Business के बारे में पड़ेगे मैं पूरी कोशिश करुँगी कि आप इस पोस्ट को पढ़कर दोना पत्तल का व्यापार आसानी से शुरू कर सकें तो पोस्ट को पूरा जरूर पढ़िएगा।

गांवों में रहने वाले कई लोगों को अक्सर रोजगार से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ता है क्युकी आज भी भारत के गांवों का उतना विकास नहीं हो पाया है जितना होना चाहिए था इसलिए गांव के लोग आज बड़े-बड़े महानगरों जैसे दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और लखनऊ की तरफ पलायन करते हैं और वहां अपना रोजगार अर्जित करते हैं

परंतु अब स्वरोजगार में गांव भी किसी से कम नहीं है। ऐसे कई व्यक्ति हैं जिन्होंने गांव में ही अपना रोजगार स्थापित किया है और आज वह अच्छे रुपए कमा रहे हैं।

गांवों में करने वाले बिजनेस की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है फिर चाहे वह गोट फार्मिंग हो, दूध डेयरी हो या अगरबत्ती मेकिंग बिजनेस हो बढ़ते हुए प्रदूषण के कारण और सेहत से जुड़ी अवर्नेस के कारण लोगों में कागज से जुड़े कप की मांग बढ़ती जा रही है।

इसीलिए कई लोग इस दिशा में अपना रोजगार खोज रहे हैं, जिसके मद्देनजर Dona Pattal Making Business की कई इकाइयां भारत भर में स्थापित हो रही है। जिसके चलते आजकल चाय पीने से लेकर कोल्ड ड्रिंक पीने तक इन सभी कामों में इसका इस्तेमाल तेजी से होने लगा है।

Dona Pattal Making Business का व्यवसाय बहुत ही लाभदायक व्यवसाय है और यह लघु उद्योग के अंतर्गत आता है।यह एक ऐसा उद्योग जिसका भविष्य में डिमांड तेजी से बढ़ने की संभावना है इसलिए अगर आप इसको करना चाहते हैं तो आज हम आपको दोना पत्तल मेकिंग बिजनेस के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं।

आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि Dona Pattal Making Business कैसे करें, Dona Pattal Making Business में कितनी लागत आएगी, Dona Pattal Making Business में कितनी इनकम होती है इत्यादि, चलिए शुरू करते हैं।

Dona Pattal Making Business क्‍या है?

Dona pattal making business अर्थात एक खास तरह के गिलास और कप बनाने का बिजनेस।इस बिजनेस के तहत अलग-अलग प्रकार के गिलास तैयार किए जाते हैं। यह गिलास छूने में कागज जैसे लगते हैं।

इन गिलास का आमतौर पर ज्यादातर इस्तेमाल चाय की दुकानों से लेकर जुस और ठंडे पदार्थ बेचने वाले की दुकानों पर होता है।वही अल्कोहल पीने के लिए भी अब इस गिलास का उपयोग होने लगा है।

इसके अलावा बड़े-बड़े पार्टी फंक्शन और इवेंट तथा बर्थडे पार्टी के लिए भी यह गिलास काफी उपयुक्त माना गया है।इसकी सबसे बड़ी खूबी यह है कि यह कागज से बनता है, इसके लिए यह आसानी से डिस्पोज हो जाता है।

इस कप से हमारे पर्यावरण को कोई नुकसान नहीं होता। है, अर्थात ये Dona Pattal Making Business पर्यावरण के अनुकूल है।

Dona Pattal Making Business कैसे Start करें?

Dona pattal udhyog शुरू करने के लिए आपको इन चीज़ों पर ध्यान देना होगा

जगह: जैसा कि आप जानते हैं कि किसी भी उद्योग को चालू करने के लिए जगह की आवश्यकता होती है। इसीलिए आप दोना पत्तल बिजनेस स्टार्ट करने के लिए ऐसी जगह का चयन करें जहां से ट्रक अथवा दूसरी गाड़ियां आसानी से आ और जा सके।

Dona Pattal Making Business में लागत

अगर आप Dona pattal making business शुरू करने की सोच रहे हैं तो हम आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इसमें शुरुआती लागत 50000 से लेकर दो लाख तक हो सकती है।

इसमें दोना पत्तल बनाने वाली मशीन, पैकिंग मैटेरियल और दोना पत्तल बनाने के लिए कच्चे माल का दाम समाविष्ट है।

इस बिजनेस को महिलाएं तथा पुरुष दोनों लोग कर सकते हैं और इस बिजनेस के जरिए महीने की 40 से 45 हजार तक की इनकम कर सकते हैं। सबसे अच्छी बात यह है कि इस बिजनेस को आप गांव अथवा शहर कहीं भी कर सकते हैं।

Dona Pattal Making Business के लिए Raw material

  • स्क्रैप पेपर (Scrap sheets)
  • पॉलिथीन शीट्स (polythene sheets)
  • पॉलिथीन बैग्स – पेपर प्लेट्स को पैक करने के लिए (polythene bags)
  • तैयार दोना पत्तल को बांधने के लिए प्लास्टिक की पतली रस्सी

Dona Pattal बनाने की मशीन

  • आटोमेटिक पेपर प्लेट मेकिंग मशीन
  • पैकिंग बैग को सीने के लिए मशीन
  • वजन करने के लिए एक तौलने वाली मशीन

Dona Pattal मशीन की कीमत

दोना पत्तल मशीन की कीमत 35 हज़ार से 1 लाख तक है जोकि फुल्ली आटोमेटिक मशीन है। मशीन की कीमत उसकी प्रोडक्शन स्पीड और एक्यूरेसी पर डिपेंड करता है।

जरूर पढ़िए: Dropshipping Business क्या हैं?

Dona Pattal बनाने का तरीका

Dona pattal बनाने का तरीका काफी आसान है।इसका निर्माण कोई भी कर सकता है और यह मशीनों के जरिए ऑटोमेटिक अपने आप बन जाता है।

दोना पत्तल बनाने के लिए आपको स्क्रैप पेपर मशीन में लोड कर देना है जिसके बाद दोना अपने आप बनने लगेगा। मशीन पहले पेपर शीट्स और पॉलीथिन शीट को बराबर आकार में काट देती है और उसके बाद हीटिंग के जरिए 2 लेयर को जोड़ देती है।

आप मशीन के जरिए सिल्वर पेपर प्लेट भी बना सकते हैं और प्रिंटेड प्लेट्स का निर्माण भी आसानी से कर सकते हैं। यह सारा काम मशीनों के जरिए होगा इसलिए इसमें आपका श्रम भी बहुत कम लगेगा।

Dona Pattal Making Business में Staff की संख्या

दोना बनाने के लिए और ऑटोमेटिक मशीन चलाने के लिए एक स्टाफ की जरूरत होती है। आप इस बात का ध्यान अवश्य रखें कि आप जो भी स्टाफ रखें वह ट्रेंड होना चाहिए क्योंकि कई बार ऐसा होता है कि दोना पत्तल मशीन में पेपर अटक जाता है या फस जाता है इसलिए अगर आपके पास अनुभवी स्टाफ है तो वह उसे जल्दी से ठीक कर देगा।

इसके अलावा आपको एक स्टाफ और चाहिए जो दोना पत्तल की पैकिंग कर सके। इस तरह कुल मिलाकर एक दोना पत्तल मशीन के पीछे आपको 2 स्टाफ की जरूरत पड़ेगी।

Dona Pattal की सप्लाई कहा करे?

दोना पत्तल बनाने के बाद सबसे बड़ी बात आती है कि तैयार माल की सप्लाई कहां करें अथवा कहां बेचे, तो इसके लिए आप अपने नजदीकी किसी होलसेलर से कांटेक्ट कर सकते हैं या आप माल की खपत स्वयं दुकानों पर जाकर कर सकते हैं।

इसके अलावा कई बार ऐसा होता है कि लोगों को शादी, पार्टी में दोना पत्तल की आवश्यकता होती है तो आप ऐसे लोगों की खोज करें और उन्हें डायरेक्ट जाकर अपने माल के बारे में बताएं।

इसके साथ ही आप यह प्रयत्न भी अवश्य करें कि आपका माल औरो से सस्ता और अच्छा हो। इससे आपकी सप्लाई बढ़ने की उम्मीद ज्यादा रहेगी और ऐसा करके धीरे-धीरे आपका धंधा चल पड़ेगा।

Dona Pattal Business की मार्केटिंग कैसे करे?

यह किसी भी व्यवसाय का सबसे अहम हिस्सा होता है। अगर आप अपने दोना पत्तल बिजनेस को सफलता की ऊंचाइयों तक ले जाना चाहते हैं तो इसकी मार्केटिंग भी आपको अवश्य करनी पड़ेगी।

अपने दोना पत्तल बिजनेस की मार्केटिंग करने के लिए आप अपने शहर में पढ़े जाने वाले सबसे बड़े अखबार का सहारा ले सकते हैं।

अपने शहर में आने वाले अखबार में आप अपने बिजनेस का विज्ञापन दे सकते हैं। ऐसा करने से आपके इस बिजनेस के बारे में आपके शहर में रहने वाले हर एक व्यक्ति को पता चल जाएगा।

हालांकि यह थोड़ा खर्चीला हो सकता है परंतु फिर भी यह काफी काम का है। इसके अलावा आप अखबार बांटने वाले होकर से भी अपने पेंपलेट को उनके अखबार में रखने के लिए कह सकते हैं।

इसके बदले आप उन्हें कुछ रुपए देंगे जिसके बदले वह आपका पंपलेट अखबार में रख देंगे और जहां भी वह अखबार देंगे आपका पंपलेट भी उस घर में आसानी से पहुंच जाएगा।

इसके अलावा अपने उद्योग की मार्केटिंग करने के लिए आप अपने शहर के किसी व्यस्त चौराहे पर अपने उद्योग का बैनर बोर्ड भी लगा सकते हैं।

Dona Pattal Making Business के लिए License और रजिस्ट्रेशन

अगर आप दोना पत्तल बनाने का उद्योग शुरू कर रहे हैं तो इसके लिए आपको अपने व्यवसाय का रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा।ऐसा करने से आगे चलकर आपको अपने व्यवसाय में कोई भी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

यह बिजनेस बहुत ही ज्यादा प्रॉफिट वाला बिजनेस माना जाता है। इसलिए हमें कुछ जरूरी लाइसेंस और सरकारी आदेश की आवश्यकता होती है। आप इस बिजनेस को सिंगल अथवा पार्टनरशिप में रजिस्टर करवा सकते हैं।

इसके अलावा आपको बैंक में एक करंट अकाउंट भी ओपन करवाना होगा और अपने फार्म के नाम से पैन कार्ड बनवाना होगा।

ऐसा करने से सबसे बड़ा फायदा यह है कि आगे चलकर आप अपने उद्योग के दम पर बैंकों से लोन भी ले सकते हैं तथा अपने अन्य काम भी कर सकते हैं।

Dona Pattal Business की कुछ अन्य महत्वपूर्ण बातें

ऐसा हो सकता है कि जब आप इस बिजनेस को शुरू करें तब शुरुआत में आपको इसमें कम लाभ हो परंतु जैसे-जैसे समय गुजरता जाएगा वैसे वैसे ही आपको इस बिजनेस में लाभ नजर आने लगेगा क्योंकि इस बिजनेस में जो भी Raw material आते हैं वह काफी सस्ते होते हैं और इसे चलाने में ज्यादा स्टाफ की जरूरत भी नहीं होती है। इसलिए समय गुजरने के साथ आपको इसमें अच्छा प्रॉफिट हासिल होगा।

इसके अलावा अपने उत्पादन में हमेशा क्वालिटी का विशेष ध्यान रखें क्योंकि जब आप के उत्पादन की क्वालिटी अच्छी होगी तभी लोग उसे पसंद करेंगे मतलब कि कुल मिलाकर यह कहना है कि जब लोगों को कोई चीज अच्छी लगती है तभी उसकी बिक्री होती है, इसलिए हमेशा अच्छे से अच्छा उत्पादन करने की कोशिश करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *