सब्जियो के नाम, पोषक तत्व और खाने के फायदे

सब्जियां अनेको प्रकार की होती है और इनमे विटामिन, प्रोटीन, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट, मैग्रेशियम, फास्फोरस जैसे अनेक पोषक तत्वों पाए जाते है लेकिन सब्जियों के सही नाम और पोषक तत्वों की जानकारी बहुत कम लोगो को होती है इसलिए इस पेज पर हमने सब्जियों के नाम और इनमे पाए जाने वाले पोषक तत्वों की जानकारी शेयर की है।

1. आलू (Potato)

आलू (Potato)

आलू एक सब्जी का नाम हैं जो जमीन के नीचे उगती हैं आलू खाने से हमारे शरीर के कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम रहता हैं और यह रक्त वाहिकाओं को नुकसान से बचाता हैं।

आलू को अंगेजी में Potato कहते है।

इसका उपयोग दवा बनाने के लिए भी किया जाता हैं आलू लगाने से चेहरे में भी सुंदरता आती हैं चेहरा निखरता हैं। व्यक्ति पेट के विकारों को दूर करने के लिए कच्चे आलू के रस का सेवन करते हैं।

आलू का उपयोग करने से गठिया रोग, संक्रमण रोग, जलन, कैंसर, फोड़े, पाचन क्रिया, ब्लडफ्रेसर, आदि रोगों को होने से बचाता हैं।

आलू में पाए जाने वाले पोषक तत्वों की जानकारी निम्नानुसार है।

खनिज तत्व : पोटेशियम, कैल्शियम, लोहा और फॉस्फोरस आदि

विटामिन : A, B, C

आलू में कार्बोहाइड्रेट और वसा पाई जाती हैं इसमें लुटिन और जैकसैथिन जैसव केरोटेनोड्स शामिल होते हैं जो दिल की क्रिया को सुधारते हैं।

आलू खाने से होने वाले लाभ

  • आलू में कार्बोहाइड्रेट होता हैं आलू का सेवन करने से आप अपनी पाचन क्रिया को ठीक कर सकते हैं आलू का सेवन करने से हमारा खाना अच्छे से बचता हैं।
  • जब भी आपके मुँह में या जीभ में छाले होते हैं तो छालों की वजह से आप कुछ खा पी नहीं सकते हैं आलू को उबाल कर खाने से आपको छालों से आराम मिलेगा इसलिए आलू का सेवन जरूर कीजिए।
  • आलू में विटामिन B, C, पोटैशियम और खनिज पाए जाते हैं आंतो और पाचन तंत्र में हुई सूजन को घटाते हैं आलू खाने से हमारे अंदर की सूजन खत्म हो जाती हैं।
  • आलू में विटामिन, कैल्शियम और मैग्नीशियम पाई जाती हैं जो गठिया रोग को दूर करती हैं।
  • आलू में कार्बोहाइड्रेट होता हैं जिससे हमारे शरीर का पाचन तंत्र ठीक रहता हैं और खाना जल्दी पचता हैं इसलिए रोज आपको आलू खाना चाहिए।
  • आलू में मैंग्रीशियम पाया जाता हैं जो हमारे रक्तचाप को कंट्रोल करता हैं इसलिए आपको रोज उबले आलू खाना चाहिए।
  • पथरी होने पर आप आलू का सेवन कीजिए पथरी के लिए आलू बहुत लाभदायक होता हैं इसलिए रोज नियम से आप आलू का सेवन कीजिए आपको पथरी में आराम जरूर मिलेगा।
  • आलू खाने से हृदय भी स्वस्थ रहता हैं आलू में विटामिन, मिनरल, केरोटेनोड्स नामक सब्स्टनश पाया जाता हैं जो हमारे हृदय के लिए फायदेमंद हैं।

2. प्याज (Onion)

प्याज (Onion)

प्याज एक वनस्पति हैं जिसे सब्जी बनाने के लिए उपयोग में लाया जाता हैं प्याज का उपयोग मसाले, सलाद, आचार, सब्जी, चटनी बनाने के लिए किया जाता हैं।

प्याज को अंग्रेजी में Onion कहते है

प्याज में एंटी-इंफ्लेमेट्री, एंटी-एलर्जिक, एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-कार्सिनोजेनिक गुण पाए जाते हैं।

प्याज में भरपूर मात्रा में विटामिन A, C बी6 बी-कॉम्प्लेक्स पाया जाता हैं।

इसमें आयरन, फोलेट, और पोटेशियम जैसे खनिज तत्व भी पाए जाते हैं।

सबसे ज्यादा प्याज की खेती भारत देश के महाराष्ट्र राज्य में की जाती हैं महाराष्ट्र में प्याज की खेती साल में दो बार की जाती हैं पहली खेती नवम्बर में और दूसरी खेती मई के महीने में की जाती हैं विश्व में प्याज 1,789 हजार हेक्टर क्षेत्रफल में उगाई जाती हैं।

प्याज खाने से होने वाले फायदे

  • डायबिटीज के रोगियों को रोज प्याज खानी चाहिए।
  • कच्चे प्यास के रस से बाल लंबे होते हैं। यदि आपके बाल झड़ रहे हैं तो प्यास का रस बालो में लगाने से बाल झड़ना बंद हो जाते हैं।
  • प्याज खाने से ब्लड शुगर को भी कम किया जा सकता हैं।
  • प्याज खाना मधुमेह के मरीजों को काफी फायदेमंद होता हैं।
  • प्याज में ऐसे बहुत से तत्व पाए जाते है जो कैंसर से बचाते हैं।
  • कच्चा प्याज खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती होती हैं।
  • कच्ची प्याज का रस पीने से पथरी अपने आप टूटकर यूरिन के रास्ते से बाहर निकल जाती हैं।
  • यदी आपको कब्ज की समस्या हैं तो भोजन के साथ रोज एक कच्ची प्याज खाइए।
  • प्याज के रस को घाव पर लगाने से घाव में इंफेक्शन नहीं होता हैं।
  • यदि सर्दी की वजह से आपकी नाक बंद हैं तो एक कपड़े में प्यास का रस डालकर सूंघने से बंद नाक खुल जाती हैं।

3. टमाटर (Tomato)

टमाटर (Tomato)

टमाटर विश्व में प्रयोग होने वाली एक सब्जी हैं टमाटर का सबसे पहले उत्पादन दक्षिण अमेरिका एंडीज में हुआ था सबसे पहले भोजन के रूप में सबसे पहले उत्पादन मेक्सिको में किया गया था फिर अमेरिका के स्पेनिस उपनिदेशक से होते हुए विश्व भर में फैल गया और आज हम सबको बिना टमाटर के कोई भी सब्जी नहीं बनाते अधिकतर सब्जियों में टमाटर का उपयोग करते हैं।

टमाटर को अंग्रेजी में Tomato कहते है।

टमाटर में कैल्शियम, फास्फोरस, पोटैशियम, लाइकोपीन विटामिन – C भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं इसमें कोलेस्ट्रॉल को कम करने वाले तत्व पाए जाते हैं टमाटर को पकाने के बाद भी उसके पोषक तत्व बने रहते हैं।

टमाटर खाने से होने वाले लाभ

  • रोज खाने में टमाटर का सेवन करने से एसिडिटी की सिखायत दूर हो जाती हैं।
  • सुबह-सुबह खाली पेट बिना पानी पीए पका हुआ टमाटर खाने से शरीर स्वस्थ रहता हैं।
  • टमाटर सूखे रोग में भी असरदार होता हैं यदि बच्चों को सुखा रोग हो जाए टमाटर का जूस पिलाने से बीमारी में आराम मिलता हैं।
  • बच्चों के मानसिक और शारीरिक विकास के लिए टमाटर बहुत फायदेमंद हैं।
  • यदि आपको अपना मोटापा घटाना हैं तो रोज सुबह एक गिलास टमाटर का जूस पीजिए आपका वजन गारंटी के साथ कम होगा।
  • टमाटर के गुदे को चेहरे पर लगाने से चेहरे पर निखार आता हैं।
  • गर्भवती महिलाओं को रोज सुबह एक गिलास टमाटर का जूस पीना चाहिए फायदेमंद होता हैं।
  • टमाटर खाने वाले व्यक्तियों को कैंसर रोग नहीं होता हैं।
  • यदि आपको अंदर कफ जम रहा हैं तो टमाटर का सेवन लाभदायक होता हैं।
  • टमाटर खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती हैं

4. बैंगन (Brinjal)

बैंगन (Brinjal)

बैंगन एक सदाबहार सब्जी हैं जो सभी मौसम में आसानी से मिल जाती हैं सर्दी के मौसम में बैंगन की सब्जी खाने से फायदा मिलता हैं बैंगन में ऐसे बहुत से लाभदायक पोषक तत्व होते है जो अन्य सब्जी में नहीं होते हैं।

बैगन को अंग्रेजी में Brinjal कहा जाता हैं।

यह सब्जियों का राजा होता हैं इसमें स्वाद तो होता ही हैं साथ मे स्वास्थ्यवर्धक भी होता हैं भारतीय लोगो को बैंगन का भरता और भरमा बैंगन बहुत ही पसंद करते हैं।

बैंगन में पोटैशियम, मैग्नीशियम एंटी-ऑक्सीडेंट, फाइबर विटामिन – C , विटामिन B -6 पोषक तत्व पाए जाते हैं।

बैंगन खाने से होने वाले लाभ

  • बैंगन में कैलोरी कम मात्रा में होती हैं और फाइबर भरपूर मात्रा में पाई जाती हैं जो वजन कम करने में मदद करती हैं।
  • बैंगन में पोटैशियम और मैग्नीशियम की अधिकता होती हैं बैंगन की सब्जी का सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल कम होता हैं।
  • बैंगन में विटामिन सी अधिक मात्रा में पाया जाता हैं जो प्रतिरोधी क्षमता को बढ़ता हैं और शरीर को सक्रमण से मुक्त करता हैं।
  • बैंगन का रस दांत दर्द में लाभदायक है बैंगन की जड़े अस्थमा के उपचार के लिए लाभदायक होती हैं।
  • यदि आपके पेट मे दर्द है तो बैंगन का सूप बनाकर पीने से पेट दर्द, गैस, पेट फूलने, अपच जैसे समस्याओं से राहत मिलती हैं।

5. पत्ता गोभी (Cabbage)

 पत्ता गोभी (Cabbage)

पत्तागोभी में विटामिन, आयरन, और पोटैशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं पत्ता गोभी एक सब्जी हैं जो कोमल पत्तो का बधा हुआ होता हैं इसे बंदगोभी और पत्तागोभी के नाम से जाना जाता हैं हरे रंग की पत्ता गोभी ज्यादा मिलती हैं इसे पका कर या सलाद के रूप में खाया जा सकता हैं।

पत्तागोभी को अंग्रेजी में Cabbage कहते है।

पत्तागोभी खाने से होने वाले फायदे

  • पत्तागोभी का सेवन करने से कैंसर की बीमारी रोकने में मदद मिलती हैं।
  • पत्तागोभी में विटामिन C पाया जाता हैं जो शरीर में इम्यूनिटी सिस्टम को स्ट्रांग बनाता हैं।
  • पत्तागोभी के सेवन से मोतियाबिंद का खतरा कम होता हैं इसके सेवन से बॉडी में केराटिन बढ़ जाता हैं जिससे हमारी आंखे सही रहती हैं।
  • पत्तागोभी में लैक्टिक एसिड पाया जाता हैं जो मासपेशियों को दर्द से बचाता हैं इसका सेवन करने से दर्द से राहत मिलती हैं।
  • पत्तागोभी हृदय को स्वस्थ रखने में मदद करता हैं इसलिए आप ज्यादा से ज्यादा पत्तागोभी का सेवन कीजिए।

6. फूल गोभी (Cauliflower)

फूल गोभी (Cauliflower)

फूल गोभी की उत्तपत्ति इटली के भूमध्य सागरीय में हुई थी वर्तमान समय मे फूल गोभी को सभी जगह उगाया जाता हैं बहुत से व्यक्ति फूल गोभी की सब्जी खाना पसंद भी करते हैं।

फूलगोभी को अंग्रेजी में Cauliflower कहते है

फूल गोभी में प्रोटीन, कैल्शियम, फास्फोरस, विटामिन A, C तथा निकोटिनिक एसिड जैसे पोषक तत्व पाए जाते है आप गोभी की सब्जी बना कर खा सकते हैं या फिर आचार बना कर भी आप इसका सेवन कर सकते हैं।

फूल गोभी खाने से होने वाले लाभ

  • कैंसर उपचार के लिए फूलगोभी लाभदायक होता हैं फूलगोभी में ग्लूकोसैनॉलेट्स शामिल होता हैं जो स्वस्थ यौगिक जैसे सल्फोराफेन और इसोथियोसैनेट्स प्रदान करते हैं इन्हें इंडोल 3 कर्ब्नॉल कहा जाता हैं।
  • जोड़ो का दर्द, गठिया और हड्डियों में दर्द की समस्या होने पर गोभी और गाजर का रस बराबर मात्रा में पीने से लाभ होता हैं।
  • कोलायटिस, पेट दर्द की समस्या से छुटकारा पाने के लिए गोभी लाभदायक है।
  • फूलगोभी में विटामिन के होता हैं जो सूजन को कम करने वाले गुण होते हैं फूलगोभी का सेवन करने से हृदय के स्वास्थ्य में लाभ होता हैं।
  • पाचन क्रिया को ठीक करने के लिए गोभी का सेवन कीजिए यह आहार फाइबर का स्त्रोत हैं जो पाचन में सहायक होता हैं।

7. लौकी (Bottle Gourd)

लौकी (Bottle Gourd)

लौकी एक सब्जी हैं इसका बनस्पति नाम कद्दू या लउका हैं लौकी सभी जगह आसानी से मिल जाती हैं लौकी में ऐसे बहुत से गुण पाए जाते हैं जो गम्भीर बीमारियों में औषधीय की तरह काम करते हैं।

लौकी में प्रोटीन, विटामिन और लवण पाए जाते हैं इसमें विटामिन A, विटामिन C, कैल्शियम, आयरन मैग्नीशियम, पोटेशियम और जिंक पाया जाता हैं यह पोषक तत्व शरीर में कई आवश्यकता को पूरा करते हैं लौकी खाना शरीर के लिए लाभदायक हैं।

लौकी खाने से होने वाले लाभ

  • वजन कम करने के लिए लौकी फायदेमंद होती हैं लौकी का जूस ज्यादा फायदा करता हैं।
  • रोज सुबह उठकर खाली पेट लौकी का जूस पीने से मधुमेय की बीमारी को कम किया जा सकता हैं।
  • लौकी का जूस काफी हल्का होता हैं और यह पाचन क्रिया को को सही रखता हैं लौकी में ऐसे तत्व होते है जो गैस की समस्या में राहत देने का कार्य करते हैं।
  • लौकी खाना सेहद के लिए काफी फायदेमंद होता हैं यह कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रण करता हैं लौकी के इस्तेमाल से हानिकारक कोलस्ट्रोल कम हो जाता हैं।
  • डाइबिटीज के मरीजों के लिए लौकी का सेवन एक प्रभावकारी उपाए हैं।

8. भिन्डी (Lady Finger या Okra)

भिन्डी (Lady Finger या Okra)

भिंडी एक सब्जी होती हैं इसका का पौधा लगभग एक मीटर लम्बा होता हैं।

भिंडी को अंग्रेजी में Lady Finger या Okra कहते है।

भिंडी में बीटा कैरोटीन, एक्सीथीन, और ल्युटिन जैसे एंटीऑक्सीडेंट के घटक होते हैं भिंडी में विटामिन – A भी काफी मात्रा में पाया जाता हैं।

भिंडी खाने से होने वाले लाभ

  • यदि आपको धात पड़ती हैं तो आप भिंडी के फूल को पीस के मठा में मिलाकर खाइए धात आना एकदम बंद हो जाएगी।
  • कच्ची भिंडी मिश्री के साथ खाने से सुजाक रोग शांत हो जाता हैं।
  • भिंडी की जड़ का चूर्ण बराबर शक्कर के साथ खाने से आमवात रोग दूर होता हैं।
  • वजन घटाने के लिए आप भिंडी का सेवन कर सकते है भिंडी आपके आहार में उचित पोषक का अभाव आपके शरीर में अवांछित वसा को विकसित करने में मदद करता हैं।
  • भिंडी में पाए जाने वाले अघुलनशील फाइबर आंतो को साफ रखता हैं और रक्त कैंसर के खतरे को कम करता हैं।

9. गाजर (Carrots)

गाजर (Carrots)

गाजर का सेवन करने से शरीर को पोषक तत्व मिलते हैं तथा साथ ही बहुत सी बीमारियों से यह छुटकारा भी पाता हैं गाजर में विटामिन A , C , K , पोटेशियम व आयरन भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं।

गाजर को अंग्रेजी में Carrots कहते है।

रोज गाजर का सेवन करने से हमारे शरीर मे बनने वाले कब्ज व एसिडिटी व कील मुहांसों से छुटकारा पाया जा सकता हैं।

गाजर खाने से होने वाले फायदे

  • गाजर में विटामिन ए की भरपूर मात्रा होती हैं जो आंखों के लिए बहुत जरूरी होती हैं रोजाना गाजर का सेवन करने से विटामिन ए की कमी नहीं होती गाजर खाने से आंखों की रोशनी तेज होती हैं।
  • गाजर खून में कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रण करती हैं और अटैक के जोखिम को कम करती हैं गाजर का सेवन हदृय के मरीजों के लिए बहुत ही फायदेमंद हैं।
  • गाजर कैंसर के खतरे को भी कम करती हैं क्योंकि गाजर में  पाली-एसिटिलीन, एंटीऑक्सीडेंट व फालकैरिनॉल की भरपूर मात्रा पाई जाती हैं।
  • गाजर में कैल्शियम पाया जाता हैं जो स्वास्थ्य और हड्डियों को मजबूत बनाता हैं।

10. मूली (Radish)

मूली (Radish)

पेट और आंतों के विकार, पित्त नली की समस्याओं, भूख न लगना, मुँह और गले की सूजन, संक्रमण, बुखार, सर्दी और खांसी की समस्याओं को दूर करने के लिए आप मूली का सेवन कीजिए आपको सभी बीमारियों से छुटकारा मिलेगा।

मूली को अंग्रेजी में Radish कहते है।

मूली में प्रोटीन और फाइबर होता हैं विटामिन और पोषक तत्व काफी मात्रा में पाया जाता हैं इसमें कैल्शियम, पोटेशियम, आयरन, और मैग्नीशियम जैसे खनिज पदार्थों की उचित मात्रा भी पाई जाती हैं।

मूली खाने से होने वाले लाभ

  • मूली में कैल्शियम की भरपूर मात्रा होती हैं जो आपकी हड्डियों को मजबूत करती हैं इसका सेवन करने से जोड़ो में दर्द और सूजन में भी आराम मिलता हैं।
  • आपको लगातार हिचकी आ रही हैं तो मूली के पत्तो को लगातार चूसने से हिचकी आना तुरंत बंद हो जाएगी
  • यदि आपको रात में नींद नही आती हैं तो मूली खाना चालू कीजिए आपको जल्द और अच्छी नींद आएगी।
  • आपको थकान महसूस हो रही हैं तो मूली खाना या उसका रस पीना फायदेमंद हैं

11. सेम फली (Bean pod)

सेम फली (Bean pod)

सेम एक लता हैं जिसमें फलियां लगती हैं फलियों की सब्जी खाई जाती हैं और इसकी पत्तियों का उपयोग चारे के रूप में किया जाता हैं चेहरे पर ललौसी नामक रोग होने पर सिर्फ सेम की पत्तियों को रगड़ने से यह रोग ठीक हो जाता हैं।

सेमफली को अंग्रेजी में Bean pod कहते है।

भारत मे सेम सभी जगह आसानी से मिल जाती हैं सेम की बहुत सी जातिया होती हैं यह भिन्न-भिन्न आकार की लम्बी, चिपटी और कुछ टेढ़ी तथा सफेद, हरी, पीली आदि रंगों की होती हैं सेम की सब्जी स्वादिष्ट और पुष्टकर होती हैं।

सेम की फलियां खाने से होने वाले फायदे

  • सेम में मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं जिससे दिल की बीमारियों के होने का खतरा बहुत कम हो जाता हैं।
  • सेम की सब्जी का सेवन करने से एनर्जी लेवल भी मजबूत बना रहता हैं और आयरन की कमी भी नहीं होती हैं।
  • सेम की सब्जी का सेवन करने से खून साफ रहता हैं।
  • सेम का सेवन करने कब्ज की समस्या में फायदा मिलता हैं।
  • थोड़ा बुखार होने पर आप सेम की पत्तियों का रस पीजिए आपको फायदा जरूर मिलेगा।
  • सेम में प्रोटीन पाया जाता हैं जो वजन कंट्रोल करने में मदद करता हैं।

12. हरी मिर्च (Green pepper)

हरी मिर्च (Green pepper)

मिर्च कैप्सिकम वंश का एक पादप फल हैं तथा यह सोलेनेसी कुल का एक सदस्य भी हैं इसका स्वाद तीखा होता हैं इसका उपयोग सब्जी में मसलों के रूप में किया जाता हैं। मिर्ची का तीखापन कैप्सेसिन के कारण होता हैं और इसका लाल रंग केप्सेन्थिन के कारण होता हैं।

हरी मिर्च को अंग्रेजी में Green pepper कहते है।

मिर्च का सबसे पहले उत्पादन दक्षिण अमेरिका में हुआ था और आज के समय में यह पूरे विश्व में फैली हुई हैं मिर्च का उपयोग एक औषधि रूप में भी किया जाता हैं।

हरी मिर्च खाने से होने वाले फायदे

  • हरि मिर्च में एंटी-ऑक्सीडेंट पाया जाता हैं इसमें डाइट्री फाइबर प्रचुर मात्रा में पाए जिससे पाचन क्रिया को सुचारू बनी रहती हैं।
  • हरि मिर्च में विटामिन ए की भरपूर मात्रा पाई जाती हैं जिससे यह आंखों और त्वचा के लिए काफी फायदेमंद होती हैं।
  • हरि मिर्च ब्लड शुगर को कम करने के लिए भी उपयोगी हैं।
  • हरि मिर्च में एंटी-बैक्टीरियल के गुण पाए जाते हैं जिसकी वजह से शरीर बैक्टीरिया से मुक्त रहता हैं और यह इम्यून सिस्टम को मजबूत करता हैं।

13. हरा धनिया (Coriander Leaves)

हरा धनिया (Coriander Leaves)

धनिया पत्ती को भोजन में डालने से भोजन का टेस्ट बढ़ जाता हैं धनिया के बीज में कई प्रकार के फायटोन्यूट्रिएंट्स पाए जाते हैं इसके अलावा इसमें मैगजीन, आयरन, मैग्नीशियम की भरपूर मात्रा होती हैं इसमें विटामिन सी, विटामिन के और प्रोटीन भी पाया जाता हैं।

हरे धनिया को अंग्रेजी में Coriander Leaves कहते है।

धनिया पत्ती खाने से होने वाले फायदे

  • धनिया पत्ती पाचन तंत्र के लिए लाभदायक होती हैं यह लीवर की सक्रियता को बढ़ाती हैं।
  • डायबिटीज के मरीजों के लिए धनिया बहुत ही फायदेमंद हैं।
  • यह ब्लड शुगर के लेवल को नियंत्रित करने का कार्य करता हैं।
  • धनिया पत्ती का जूस पीने से खून की कमी भी दूर होती हैं।
  • इसका सेवन करने से चेहरे पर होने वाले कील मुंहासे से भी छुटकारा पाया जाता हैं।

14. अदरक (Ginger)

अदरक (Ginger)

अदरक खाघ पदार्थ होने के साथ आयुर्वेदिक औषधि भी हैं अदरक की बीमारियों का इलाज करने में सक्षम हैं

अदरक को अंग्रेजी में Ginger कहते है।

सर्दी के मौसम में यदि आप अदरक का सेवन करते हैं तो आपको अंदर से गरमाहट मिलती हैं अगर आपको भोजन में स्वाद का तड़का लगाना हैं तो अदरक का इस्तेमाल करते हैं।

अदरक खाने से होने वाले फायदे

  • अदरक पाचन शक्ति को मजबूत करता हैं अदरक के सेवन से पित्त की थैली से पित्त निकालने में मदद मिलती हैं।
  • जिन व्यक्तियों को सांस संबंधी समस्या होती हैं उनके लिए अदरक लाभदायक है।
  • अदरक कैंसर से बचाने में मदद करता हैं अदरक में कैंसर रोधी गुण पाए जाते है जो महिलाओं को स्तन कैंसर और गर्भाशय कैंसर से बचाते हैं।
  • अदरक का इस्तेमाल करने से जोड़ो के दर्द और आर्थ राइटिस से राहत मिलती हैं।

15. लहसुन (Garlic)

लहसुन (Garlic)

लहसुन का सेवन करने से बहुत सी बीमारियों से छुटकारा पाया जा सकता हैं जैसे वबासीर, कब्ज, ब्लड प्रेशर, कान में दर्द, भूख बढ़ाने आदि लहसुन हमारे शरीर में प्राकृतिक एंटीबायोटिक की तरह काम करता हैं।

लहसुन को अंग्रेजी में Garlic कहते है।

लहसुन खाने से होने वाले फायदे

  • लहसुन का सेवन करने से कॉलेस्ट्रॉल कम होता हैं।
  • इसका सेवन करने से शरीर की हड्डियां मजबूत होती हैं।
  • शरीर के अंदर उत्तपन्न होने वाली कैंसर की कोशिकाएं जन्म लेती हैं भुने हुए लहसुन खाने से यह कोशिकाएं खत्म हो जाती हैं।
  • लहसुन का सेवन करने से शरीर में मौजूद विषैले पदार्थों को मल या मूत्र मार्ग से बाहर निकालता हैं।

16. पालक (Spinach)

पालक (Spinach)

पालक में शारीरिक विकास के लिए लगभग सभी पोषक तत्व पाए जाते हैं पालक में विटामिन A, C, E, K और बी काम्प्लेक्स अच्छी मात्रा में पाया जाता हैं इसके अतिरिक्त इसमें मैंगनीज, कैरोटीन, आयरन, आयोडीन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटैशियम, फॉस्फोरस, सोडियम और आवश्यक अमीनो एसिड भी पाए जाते है। पालक खाने से शरीर में हीमोग्लोबिन बढ़ता हैं पालक का जूस ज्यादा फायदेमंद होता हैं

पालक को अंग्रेजी में Spinach कहते है।

पालक स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद हैं पालक आसानी से सभी जगह मिल जाती हैं लेकिन बारिश में आने वाली पालक में मिट्टी और कीटाणु ज्यादा होते हैं इसलिए बरसात के दिनों में पालक नहीं खाना चाहिए यदि आप बरसात में इसका सेवन करना चाहते हैं तो अच्छे से साफ कर धोकर ही इसका उपयोग कीजिए।

पालक खाने से होने वाले फायदे

  • यदि आपको हार्ट अटैक, या दिल से जुड़ी कोई भी बीमारी हैं तो आप पालक खाकर उसे दूर कर सकते हैं।
  • मैग्रेशियम, विटामिन व रेशा पाया जाता हैं जो कैंसर की बीमारी के कीटाणु को शरीर मे प्रवेश नहीं करने देता हैं जिससे पालक खाना लाभदायक हैं।
  • पालक में कैलोरी की मात्रा कम होती हैं जिससे वजन कम करने के लिए यह उपयोगी हैं।
  • यदि आपको एनीमिया की बीमारी हैं तो पालक का सेवन कीजिए इसका सेवन करने से शरीर में खून बढ़ता हैं।
  • पालक खाने से गठिया रोग में आराम मिलता हैं।
  • पालक खाने से आंखों की रोशनी बढ़ती हैं और अंधेपन की परेशानी दूर होती हैं।
  • यदि आपको हाई ब्लड प्रेशर की परेशानी है तो रोज पालक खाइए इससे यह परेशानी दूर हो जाएगी।
  • इसमें विटामिन सी पाया जाता हैं जो ब्लीडिंग की परेशानी से बचाता हैं।
  • पालक खाने से हमारा दिमाक तेज होता हैं और याददाश्त बढ़ती हैं।
  • चेहरे पर आने वाले दाग धब्बे झुर्रियां, मुंहासे, पालक खाने से दूर हो जाते हैं।

17. शिमला मिर्च (Capsicum)

शिमला मिर्च (Capsicum)

शिमला मिर्च एक सब्जी हैं अंग्रेजी में इसे कैप्सिकम या पैपर भी कहा जाता हैं बाजार में यह तीन रंगों में मिलती हैं लाल, हरी और पीली।

शिमला मिर्च में विटामिन सी, विटामिन ए, फाइबर और बीटा कैरोटीन भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं। शिमला मिर्च में कैलोरी नहीं पाई जाती हैं जिससे कोलेस्ट्रॉल बढ़ता नहीं हैं

शिमला मिर्च खाने से होने वाले फायदे

  • यदि आपको गठिया रोग से राहत पाना हैं तो आपको भोजन में शिमला मिर्च का सेवन करना चाहिए शिमला मिर्च गठिया रोग से छुटकारा दिलाता हैं।
  • शिमला मिर्च में एंटी-ऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं जो कैंसर से बचाव में लाभदायक होता हैं यह कैंसर सेल्स को विकसित नहीं होने देता हैं।
  • शिमला मिर्च में कलरी बहुत कम होती हैं जो वजन घटाने में मदद करती हैं यदि आपको अपना वजन घटाना हैं तो शिमला मिर्च का सेवन जरूर कीजिए।
  • यदि आपके घुटनों और जोड़ो में दर्द है तो आप शिमला मिर्च का सेवन कीजिए यह आपके लिए बहुत लाभदायक है।

18. सरसों (Mustard)

सरसों (Mustard)

सरसों ब्रेसीकेसी कुल का द्विबीजपत्री, एकवर्षीय शाक जातीय पौधा हैं इसका वैज्ञानिक नाम ब्रेसिक कम्प्रेस्टिस हैं। सरसों के बीज से तेल निकाला जाता हैं जिसका उपयोग विभिन्न प्रकार के भोज्य पदार्थों को बनाने के लिए किया जाता हैं तथा इसके तेल से शरीर की भी मालिश की जाती हैं इसका तेल आचार बनाने के काम भी आता हैं।

सरसो को अंग्रेजी में Mustard कहते है।

सरसों खाने से होने वाले फायदे

  • सरसों के सेवन करने से जोड़ों का दर्द,मासपेशियों का दर्द, गाँठयों के दर्द से छुटकारा मिलता हैं।
  • सरसों के तेल को जोड़ों जैसी आम समस्याओं से लेकर कैंसर जैसी घातक बीमारियों से भी बचाया जा सकता हैं।
  • सर्दी और खासी के लिए सरसों के तेल का इस्तेमाल लाभदायक होता हैं।
  • सरसों के तेल को फटे होठों का इलाज करने में भी उपयोग किया जाता हैं।

19. अरवी (Colocasia)

अरवी (Colocasia)

अरवी एक उष्णकटिबंधीय पेड़ हैं जिसकी जड़ों पर अरवी नामक सब्जी उगाई जाती हैं यह पेड़ बहुत प्राचीन काल से उगाया जा रहा हैं इसका वैज्ञानिक नाम कोलोकैसिया एस्क्युलेन्टा हैं।

अरवी को अंग्रेजी में Colocasia कहते है।

सबसे पहले अरवी की खेती दक्षिणपूर्व एशिया और दक्षिण भारत में उगाई गई थी धीरे-धीरे यह पूरे विश्व में फैल गई हैं।

अरवी खाने से होने वाले फायदे

  • अरवी के पत्तो की डाली को पीसकर लेप लगाने से ट्यूमर रोग से लाभ मिलता हैं।
  • अरवी का सेवन करने से चेहरे का सूखा पन और झुर्रिया दूर होती हैं।
  • अरबी के पत्तों का रस पीने से पेशाब की जलन मिट जाती हैं।
  • अरबी के पत्तो के डंठल जलाकर उनकी राख तेल में मिलाकर लगाने से फोड़े-फुन्सी मिट जाती हैं।

20. मटर (Peas)

मटर (Peas)

मटर सर्दियों के मौसम में मिलने वाली एक सब्जी हैं जो बहुत ही टेस्टी लगती हैं वैसे अगर आपको मटर बहुत ही पसंद हैं और आप हर मौसम में मटर खाना चाहते हैं तो आपको बाजार में आसानी से फ्रोजन मटर मिल जाते है लेकिन ताजे मटर सिर्फ सर्दियों के मौसम में मिलते हैं।

मटर को अंग्रेजी में Peas कहते है।

हरे मटर में प्रोटीन, फाइबर, तथा विटामिन A, C, K, विटामिन बी, विटामिन बी 6 पाया जाता हैं। खनिज के रूप में हरे मटर में पोटैशियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस, आयरन, मैंगनीज, कॉपर, जिंग आदि पाया जाता हैं इसमें कैल्शियम कम मात्रा में पाई जाती हैं।

मटर खाने से होने वाले फायदे

  • मटर कोलेस्ट्रॉल कि मात्रा को कम करता हैं और मोटापे के साथ साथ अन्य बीमारियों को भी बचाता हैं।
  • मटर का सेवन कैंसर जैसी बड़ी बीमारियों से छुटकारा दिला सकता हैं।
  • मटर में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं जो आपकी ऊर्जा को बनाए रखता हैं हरी मटर का सेवन करने से बाल लम्बे होते है।
  • चेहरे की चमक बढ़ाने के लिए आपको मटर के दानों का दरदरा पेस्ट लगाना चाहिए ।
  • मटर में पोटैशियम, कैल्शियम और मैग्रेशियम पाया जाता हैं जो ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करता हैं।

21. परवल (Pointed Gourd)

परवल (Pointed Gourd)

परवल में कैल्शियम, विटामिन ए, विटामिन बी1, विटामिन बी2, और विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं परवल के छिलकों में मैग्नीशियम, पोटैशियम, फास्फोरस भी भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं परवल की सब्जी गर्मी के मौसम में आसानी से मिल जाती हैं।

परवल को अंग्रेजी में Pointed Gourd कहते है।

परवल खाने से होने वाले फायदे

  • परबल में एंटी-ऑक्सीडेंट उपस्थित रहता हैं जो चेहरे की झुर्रियों और बारीक रेखाओं को दूर करता हैं।
  • परवल इम्यून सिस्टम को मजबूत करता हैं इसका सेवन करने से बुखार, सर्दी-खासी, स्किन इंफेक्शन और चोट को जल्दी भरने का काम करता हैं।
  • परवल में फाइबर पाया जाता हैं जो पाचन तंत्र को सही रखता हैं।
  • नेत्र रोग के लिए परवल फायदेमंद होता हैं।

22. गिलकी (SPONGE GOURD)

गिलकी (SPONGE GOURD)

गिलकी को ब्लड प्यूरीफायर माना जाता हैं गिलकी का सेवन करने से चेहरे पर निखार आता हैं गिलकी में आयरन, पोटैशियम, और विटामिन्स, एनीमिया, ब्लड प्रेशर को सही रखने में मदद करता हैं।

गिलकी को अंग्रेजी में SPONGE GOURD कहते है।

गिलकी खाने से होने वाले फायदे

  • गिलकी बॉडी में कोलेस्ट्रॉल बनने से रोकती हैं जिससे हार्ट प्रॉब्लम दूर होती हैं।
  • इसमें विटामिन B पाया जाता हैं जो ब्रेन पावर को बढ़ाता हैं। इसका सेवन करने से मेमोरी साफ होती हैं।

23. मैथी (Fenugreek)

 मैथी (Fenugreek)

यह मटर प्रजाति से संबंधित हैं मैथी हरे पत्ते और छोटे सफेद फूल वाली एक जड़-बूटी हैं मैथी को ग्रीक घास के रूप में जाना जाता हैं मैथी स्वाद में कड़वी होती हैं।

मैथी को अंग्रेजी में Fenugreek कहते है

मैथी में कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, वसा, फाइबर, मैगजीन, लोहा, तांबा, फास्फोरस, मैग्रेशियम, विटामिन बी6 भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं।

मैथी खाने से होने वाले लाभ

  • हरि मैथी का सेवन करने से डायबिटीज वाले रोगियों को फायदा मिलता हैं।
  • मैथी के कुछ दाने रोज खाने से मानसिक सक्रियता बढ़ती हैं।
  • हाई बीपी, अपच जैसी बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए मैथी का सेवन लाभदायक होता हैं।
  • मैथी का सेवन करने से पेट स्वस्थ रहता हैं।

24. कटहल (Jackfruit)

कटहल (Jackfruit)

कटहल में विटामिन ए, विटामिन सी, थायमिन, पोटैशियम, कैल्शियम, आयरन, और जिंक पर्याप्त में पाया जाता हैं।

कटहल को अंग्रेजी में Jackfruit कहते है।

कटहल की सब्जी बहुत टेस्टी होती हैं कटहल का इस्तेमाल सब्जी, अचार, पकोड़े, कोफ्ते बनाने के लिए किया जाता हैं पके हुए कटहल को काफी लोग खाते है।

कटहल खाने से होने वाले लाभ

  • कटहल में पोटैशियम पाया जाता हैं जो हार्ट सम्बंधित बीमारियों से सुरक्षित रखता हैं।
  • इसमें आयरन पाया जाता हैं जिसकी वजह से एनीमिया से बचाव होता हैं।
  • कटहल में मैग्नीशियम पाया जाता हैं जिसकी वजह से हड्डियां मजबूत रहती हैं।
  • अस्थमा के इलाज में यह कारगर औषधि की तरह कार्य करता हैं कच्चे कटहल को पानी में उबाल कर छान लें जब यह ठंडा हो जाए तो इसका सेवन कीजिए रोज नियम से ऐसा करने से अस्थमा की समस्या में फायदा मिलता हैं।

25. चुकंदर (Beetroot)

 चुकंदर (Beetroot)

चुंकदर का रस सवास्थ्य के लिए लाभदायक माना जाता हैं चुंकदर शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा को बढ़ाता हैं और सौन्दर्य को बरकरार रखता हैं।

चुकंदर को अंग्रेजी में Beetroot कहते है।

चुंकदर पौधों का जड़ वाला हिस्सा होता हैं इसका सेवन सलाद और जूस के रूप में किया जाता हैं इसका रंग इतना लाल होता हैं कि इसका सेवन करने पर जीभ भी लाल हो जाती हैं।

चुकंदर खाने से होने वाले फायदे

  • चुंकदर का रस पीने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल में रहता हैं।
  • चुकंदर का जूस शरीर में प्लाज्मा नाइट्रेट के स्तर को बढ़ाने का काम करता हैं जिससे शरीर में एनर्जी बनी रहती हैं।
  • चुकंदर में पोटैशियम की मात्रा पाई जाती हैं जिसका सेवन करने से कमजोरी, ऐठन, और थकान दूर होती हैं।
  • चुंकदर का जूस शरीर मे कोलेस्ट्रॉल को घटाता हैं।
  • डायबिटीज की मरीजों के लिए चुंकदर लाभदायक होता हैं।

26. करेला (Bitter Gourd)

करेला (Bitter Gourd)

करेला भी एक सब्जी हैं जो स्वाद में जरूरी कड़वी लगती हैं लेकिन इसके फायदे बहुत लाभदायक होते हैं करेला डायबिटीज की बीमारी के लिए बहुत ही लाभदायक होता हैं।

करेला को अंग्रेजी में Bitter Gourd कहते है।

करेले में कैरोटीन, बीटा कैरोटीन, फास्फोरस, जिंक, आयरन, पोटैशियम, मैग्नीशियम, और मैंगनीज जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं करेले में एंटी ऑक्सीडेंट और विटामिन का खजाना छुपा होता हैं। करेले का नियम से सेवन करने से शरीर का संतुलन सामान्य बना रहता हैं जिससे शुगर सम्बंधित अन्य बीमारियों का खतरा कम होता हैं।

करेला खाने से होने वाले फायदे

  • करेले में फास्फोरस पाया जाता हैं जो कब्ज, कफ, और पाचन संबंधी समस्याओं को दूर करता हैं।
  • यदि आपको अस्थमा की शिकायत हैं तो करेले का जूस बहुत ही फायदेमंद साबित होगा।
  • करेले का जूस पीने से लीवर मजबूत होता हैं।
  • यदि आपको पेट में गैस बनती हैं या अपच होता हैं तो करेले के जूस पीने से आपकी यह परेशानी दूर हो सकती हैं।
  • करेले की पत्तियों को पानी में उबालकर पीने से रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ती हैं।

27. कद्दू (Pumpkin)

कद्दू (Pumpkin)

कद्दू एक सब्जी हैं जो हमारे शरीर को बहुत ठंडक पहुँचाती हैं कद्दू के बीज बहुत गड़कारी होते हैं कद्दू और इसके बीज में विटामिन सी और ई, प्रोटीन और फाइबर, फास्फोरस, जिंक, आयरन, पोटैशियम, मैग्नीशियम, और मैंगनीज जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं।

कद्दू को अंग्रेजी में Pumpkin कहते है।

कद्दू खाने से होने वाले फायदे

  • कद्दू की सब्जी का सेवन करने से पेट से लेकर दिल तक कि कोई भी बीमारी ठीक करने की क्षमता रखता हैं।
  • कद्दू के छिलके में एंटीबैक्टीरियल तत्व पाए जाते हैं जो संक्रमण फैलाने वाले जीवाणुओं से रक्षा करते हैं।
  • कद्दू का सेवन करने से रक्त एवं पेट साफ रहता हैं।
  • कद्दू लम्बे समय से जड़ रहे बुखार के लिए भी असरदार हैं आप इसका सेवन कीजिए आपका बुखार जल्द ही ठीक होगा।

28. चने की भाजी (Gram vegetable)

यह साग खाने में पौष्टिक और स्वादिष्ट होता हैं इसमें कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, पानी, फाइबर, कैल्शियम, आयरन, व विटामिन पाए जाते हैं चने की भाजी खाने से हमारे शरीर में प्रोटीन की आपूर्ति होती हैं।

चने की भाजी को अंग्रेजी में Gram vegetable कहते है।

चने की भाजी खाने से होने वाले फायदे

  • चने की भाजी खाने से पीलिया रोग से मुक्ति मिलती हैं।
  • इसके साग को रोज नियम से खाने पर गुर्दे में पथरी होने का खतरा काफी कम होता हैं।
  • इसका सेवन करने से गैस, पेट में दर्द, और कब्ज की समस्या भी दूर होती हैं।
  • चने की भाजी डायबिटीज के लिए काफी फायदेमंद होती हैं।

29. कुंदरू (Coccinia Grandis)

कुंदरू एक उष्णकटिबंधीय लता हैं जो पूरे भारत में अपने आप ही उगती हैं और कुछ जगह इसकी खेती भी होती हैं।

कुंदरू का वैज्ञानिक नाम कोकसिनिया कार्डिफोलिया हैं इसे आयुर्वेद में बिंबि फूल के रूप में जाना जाता हैं सबसे पहले कुंदरू की खेती अफ्रीका और एशिया में की गई थी।

कुंदरू को अंग्रेजी में Coccinia Grandis कहते है।

जब कुंदरू कच्ची होती हैं तो हरि और सफेद धारियों से युक्त होती हैं कुंदरू आकार में अंडाकार और चिकनी होती हैं।

कुंदरू खाने से होने वाले फायदे

  • कुंदरू की जड़ो में मोटापा कम करने का गुण पाया जाता हैं।
  • कुंदरू हमारे शरीर की तंत्रिका तंत्र को मजबूत करता हैं।
  • कुंदरू के सेवन करने से पथरी पर नियंत्रण पाया जा सकता हैं।
  • कुंदरू में पोटैशियम पाया जाता जो दिल के लिए मददगार है इसका सेवन करने से दिल के दौरे रोके जा सकते हैं
  • कुंदरू में कैल्शियम की मात्रा होती हैं जो हड्डियों को मजबूत रखने में सहायक होती हैं।

30. कच्चा केला (Cooking bananas)

कच्चा केला (Cooking bananas)

कच्चा केले को सब्जी के रूप में जाना जाता हैं जिसका सेवन हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद हैं केला बहुत ही पोष्टिक होता हैं साथ ही ऊर्जा का अच्छा स्त्रोत भी हैं।

कच्चे केले को अंग्रेजी में Cooking bananas कहते है।

कच्चे केले में पोटैशियम पाया जाता हैं जो इम्यून सिस्टम को मजबूत रखता हैं केला विटामिन बी6, विटामिन सी कोशिकाओं को पोषण प्रदान करता हैं। कच्चे केले में सेहद मंद स्टार्च भी होता हैं और साथ ही एंटी-ऑक्सीडेंट पाया जाता हैं।

कच्चा केले खाने से होने वाले फायदे

  • केले में ग्लूकोज भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं जो शरीर को ऊर्जा प्राप्त करता हैं।
  • शरीर में रक्त को शुद्ध और रक्त का निर्माण करने के लिए कच्चा केला लाभदायक है।
  • वजन बढ़ाने के लिए केले का उपयोग कीजिए लगभग एक महीने तक केले का सेवन कीजिए।
  • पीलिया के इलाज में केले का सेवन किया जाता हैं।
  • आंतों की सफाई करने के लिए केला फायेदमंद हैं।
  • केला पोष्टिक होता हैं जो दिमाकी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता हैं।

इस पेज में आपको लगभग सभी सब्जियो के नाम और उनके इंग्लिश में नाम मिल जाएंगे।

इसके अलावा भी आपके पास सब्जियो के नाम अंग्रेजी में हैं तो आप उन सब्जियो के नाम को Comment में लिख कर जरूर भेजें।

1 thought on “सब्जियो के नाम, पोषक तत्व और खाने के फायदे”

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.