M. P. Samvida Shikshak Varg 3 Syllabus 2020

MP Samvida Shikshak Varg 3 Exam Syllabus 2020

दोस्तों आज हम आपके लिए एक नई खुशखबरी लेकर आए हैं जिसको आप सभी को बहुत सालों से इंतजार था तो अब आपका इंतजार खत्म होता हैं क्योंकि सरकार ने मध्यप्रदेश प्रोफेशनल बोर्ड ने MP Samvida Shikshak Varg 3 अर्थात प्राइमरी शिक्षक के पदों के लिए नोटिफिकेशन जारी किए गए हैं और सबसे अच्छी बात यह हैं कि मध्यप्रदेश शिक्षक आवेदन करने की प्रारभ तिथि 06 जनवरी 2020 हैं तथा अंतिम तिथि 20 जनवरी 2020 हैं इस Post में हम आपके लिए MP Samvida Shikshak Varg 3 Exam Syllabus 2020 की समस्त जानकारी ले कर आए हैं।

MP PEB मध्यप्रदेश में TET के लिए परीक्षा आयोजित करने जा रही हैं MP Samvida Shikshak Varg 3 की अधिक जानकारी के लिए आप peb.mp.gov.in पर क्लिक करके Exam Pattern की विस्तार पूर्वक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं यदि आप संविधा शिक्षक के लिए फ्रॉम भरना चाहते हैं तो आपके पास 20 जनवरी 2020 तक का समय हैं संशोधन करने की अंतिम तिथि 25 जनवरी हैं।

संविदा शिक्षक वर्ग की परीक्षा 25 अप्रैल 2020 से आरम्भ कर दी जाएगी जो अलग अलग शिप्ट में होगी और यह परिक्षा online ली जाएगी इसके Admit Card अप्रैल माह के प्रथम सप्ताह में जारी कर दिया जाएगा आप व्यापम की वेबसाइट पर जा कर प्रेवेश पत्र निकाल सकते हैं नीचे प्राथमिक शिक्षक वर्ग 3 का सिलेबस दिया गया हैं जिसके आधार पर आप परीक्षा की तैयारी कीजिए आपको सफलता जरूर मिलेगी।

MP Samvida Shikshak Varg 3 Exam Syllabus 2020

  • संविदा शिक्षक वर्ग 3 में सिर्फ एक प्रश्न पत्र होगा जो 150 अंकों का रहेगा तथा परीक्षा की अवधि 2 : 30 घण्टे रहेगी।
  • प्रत्येक प्रश्न के लिए 1 अंक निर्धारित किया गया हैं। इस पेपर में निगेटिव मार्किंग नहीं होगी।
  • संविदा शिक्षक वर्ग 3 की परीक्षा में सभी प्रश्न बहुविकल्पीय आएंगे जिनके चार विकल्प आएंगे जिनमें से एक प्रश्न सही रहेगा और आपको सही उत्तर की पहचान करते हुए उत्तर को टिक करना है।

MP Samvida Shikshak Varg 3 Exam Pattern 2020

विषयप्रश्नों की संख्याअंक
भाषा 1. हिंदी/अंग्रेजी/संस्कृत/उर्दू30 प्रश्न30 अंक
भाषा 2. हिंदी/अंग्रेजी/संस्कृत/उर्दू30 प्रश्न30 अंक
बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र30 प्रश्न30 अंक
पर्यावरण30 प्रश्न30 अंक
गणित30 प्रश्न30 अंक
Total 150 प्रश्न 150 अंक

भाषा 1. हिंदी/अंग्रेजी/संस्कृत/उर्दू

हिंदी भाषा (Hindi Language)

(a) भाषायी समझ/अवबोध

भाषायी समझ/अवबोध के लिए दो अपठित दिए जाएंगे जिसमें एक गद्यांश (नाटक/एकांकी/घटना/निबंध/कहानी/आदि से) तथा दूसरा अपठित पद्रय के रूप में से समझ/ अवबोध, व्याख्या, व्याकरण, एवं मौखिक योग्यता से संबंधित प्रश्न किये जायेंगे, गद्यांश साहित्यिक/वैज्ञानिक/सामाजिक समरसता/तात्कालिक घटनाओं पर आधारित हो सकते हैं।

(b) भाषायी विकास हेतु निर्धारित शिक्षाशास्त्र

  • भाषा सीखना और ग्रहणशीलता
  • भाषा शिक्षण के सिंद्धांत
  • भाषा शिक्षण में सुनने, बोलने की भूमिका, भाषा के कार्य, बच्चे भाषा का प्रयोग कैसे करते हैं
  • मौखिक और लिखित अभिव्यक्ति अंतर्गत भाषा सीखने में व्याकरण की भूमिका
  • भाषा शिक्षण में विभिन्न स्तरों के बच्चों की चुनौतियां, कठिनाईयां, त्रुटियां एवं क्रमबद्धता
  • भाषा के चारों कौशल (सुनना, बोलना, पढ़ना, लिखना) का मूल्यांकन
  • कक्षा में शिक्षण अधिगम साम्रगी, पाठ्यपुस्तक, दूरसंचार (दृश्य एवं श्रव्य) सामग्री, बहुकक्षा स्त्रोत पुनः शिक्षण

अंग्रेजी भाषा (English Language)

(a) Comprehension

Two Unseen Prose Passages (Discursive or Literary or Narrative or Scientific) with questions on Comprehension, grammar and verbal ability.

(b) Pedagogy of Language Development

  • Learning and acquisition of language
  • Principles of Second language Teaching
  • Language Skills Listening, speaking, Reading, Writing.
  • Role of Listening and Speaking, Function of Language and how children use it.
  • The Role of grammar in learning a learning a language for communicating ideas verbally written from.
  • Challenges of teaching language in a diverse classroom, language difficulties.
  • Teaching Learning materials, text book, multi media materials multi lingual of tha classroom.
  • Evaluating language comprehension and proficiency : listening, speaking, reading and writing.
  • Remedial Teaching (Re-Teaching).

उर्दू भाषा (Urdu Language)

(a) जामे सलाहियत पर मवनी सवालात

  • दो गेर दरसी इक्ति वासात (मालुतामी/अदवी/वयानिया/साइसी)
  • सलाहियत पर मवनी सवालात, कवायद और जबानी सलाहियत पर मवनी सवालात

(b) जवान के नशवोनुमा और तदरिसी तरीके

  • सीखना और याद रखना जबान की तदरीस के असूल
  • जबान में सुनने और बोलने की एहमियत, जबान का काम और बच्चों के जरिए जबान की महारतों का इस्तेमाल
  • जबान सीखने और ख्यालात का जवानी और तहरीर इजहार करने में कवायद (ग्रामर) के रोल का तनक़ीदी जायजा
  • क्लास रूप में मुख्तलिफ तालीमी इस्तेदाद वाले बच्चों की जवान की मुश्किलात, गलतियों और बेहरतीबियो के चैलेंज को कुबूल करते हुए जबान पढ़ाना.
  • जबान की महारतें
  • जबान की सलाहियत और जबान पर उबुरके तजजिए के लिए बोलना, सुनना, पढ़ना और लिखना
  • तालीमी इम्दादी अशिया (TLM) दरसी कुतुब और मल्टी मीडिया मेटीरियल, क्लास रूप में मुहैया मुख्तलिफ जबानों का संवाद
  • तदारकी तदरीस

(c) निसाबी मोजुआत

  • असनाफ़े नस्र कहानी मालूमाती मजामीन ड्रामा मकालमा
  • असनाफ़े नज्म – नज्म गीत
  • ग्रामर इस्म, जमीर, फेअल, सिफत, मेय किस्में जिंस, जमाना, जुम्ले व मुहावरे, वाहिदजमा, मुजक्कर, मोअन्नस, तज़ाद, नज्म गीत वगेरह की तारिफ
  • खतूत और दरखवास्त नवीसी
  • गेर दरसी इक्तिबास
  • मजमून नवीसी

जरूर पढ़िए :

पर्यावरण अध्ययन (Environmental Study)

(a). विषय वस्तु (Content)

(1). हमारा परिवार, हमारे मित्र

  • परिवार और समाज से सहस संबंध परिवार के बड़े-बूढ़े, बीमार, किशोर, विशिष्ट आवश्यकता वाले बच्चों की देखभाल
  • हमारे पशु-पक्षी हमारे पालतू पशु-पक्षी, मालवाहक पशु, हमारे आस-पास के परिवेश में जीव-जन्तु
  • हमारे पेड़ पौधे स्थानीय पेड़-पौधे, एवं मनुष्यों की अन्तः निर्भरता, वनों की सुरक्षा और उनकी आवश्यकता और महत्व
  • हमारे प्राकृतिक संसाधन प्रमुख प्राकृतिक संसाधन, उनका संरक्षण, ऊर्जा के पारम्परिक और नवीनीकृत एवं अनवीनीकृत स्त्रोत।

(2). खेल एवं कार्य

  • खेल, व्यायाम और योगासन
  • पारिवारिक उत्सव, विभिन मनोरंजन के साधन किताबें, कहानियाँ, कठपुतली प्ले, मेला आदि।
  • विभिन्न काम धन्धे, उघोग और व्यवसाय

(3). आवास

  • पशु, पक्षी और मनुष्य के विभिन्न आवास, आवास की आवश्यकता और स्वस्थ जीवन के लिए आवास की विशेषताएं।
  • स्थानीय इमारतों की सुरक्षा, सार्वजनिक संपत्ति, राष्ट्रीय धरोहर और उनकी देखभाल
  • उत्तम आवास और उसके निर्माण में प्रयुक्त सामग्री
  • शौचालय की स्वच्छता, परिवेश की साफ-सफाई और अच्छी आदतें।

(4). हमारा भोजन

  • भोजन की आवश्यकता, भोजन के घटक
  • फल एवं सब्जियों का महत्व, पौधों के अंगों के अनुसार फल, सब्जियां
  • भोज्य पदार्थों का स्वास्थ्य वर्द्धक संयोजन
  • विभिन्न प्रकार के भोजन और उन्हें पकाने की विधियाँ
  • उत्तम स्वास्थ्य हेतु भोजन की स्वच्छता और सुरक्षा के उपाय

(5). पानी और हवा

  • जीवन के लिए पानी और हवा की आवश्यकता
  • स्थनीय मौसम, जल चक्र और जलवायु परिवर्तन
  • पानी के स्त्रोत, उसके सुरक्षित रखरखाव और संरक्षण के तरीके
  • संक्रमित वायु एवं पानी से होने वाले रोग, उनका उपचार और बचाव, अन्य संक्रामक रोग
  • हवा, पानी, भूमि का प्रदूषण और उससे सुरक्षा, विभिन्न अपशिष्ट पदार्थों और उनका प्रबंधन, उचित निस्तारण।
  • भूकम्प, बाढ़, सूखा आदि आपदाओं से सुरक्षा और बचाव के उपाय

(6). आवागमन और यातायात

  • आवागमन के साधन, थल, जल, वायु संबंधी साधन और उनका महत्व
  • संचार की प्राचीन एवं नवीनतम आधुनिक सुविधाएं
  • सुरक्षित यातायात और संकेतों का महत्व
  • प्रमुख राष्ट्रीय और राजकीय राजमार्ग, वायुमार्ग
  • जलुयान और राजकीय राजमार्ग, वायुमार्ग
  • जलयान और वायुयान तैयार करने के राष्ट्रीय अंतराष्ट्रीय स्थल आदि।

(7). प्राकृतिक वस्तुएं और उपज

  • सूती, ऊनि, रेशमी कपड़ा निर्माण के रेशे और उनका उत्पादन
  • मिट्टी, पानी, बीज और फसल का सम्बंध, जैविक रासायनिक खाद
  • विभिन्न फसलें, उनके उत्पादक क्षेत्र
  • फसल उत्पादन के लिए आवश्यक कृषि कार्य और उपकरण

(8). मानव निर्मित साधन एवं उसके क्रिया उसके क्रियाकलापों का प्रभाव

  • वनों की कटाई और शहरीकरण, परिस्थितिक सन्तुलन पर प्रभाव
  • ओजोन क्षय, अम्लीय वर्षा, ग्लोवल वार्मिंग, ग्रीन हाउस प्रभाव आदि
  • आपदा प्रबंधन

(9). पर्यावरण पास एवं दूर

  • सजीव-निर्जीव, समानताएं, असमानताएं
  • शरीर के बाह्य एवं आंतरिक अंग, उनकी रचना और कार्य
  • अपने गांव, शहर की जिले में स्थिति, राज्य और देश, पंचायत और शासन
  • पर्वत, पठार, नदियों की जानकारी और उनका भौगोलिक महत्व
  • पृथ्वी, सूर्य, चन्द्रमा और तारों का संबंध, दिन रात का होना, ऋतुओं का बनना आदि।

(ब) पेडागाजिकल मुद्दे

  • पर्यावरण अध्ययन की अवधारणा और उसकी आवश्यकता
  • पर्यावरण अध्ययन का महत्व, समेकित पर्यावरणीय शिक्षा
  • पर्यावरणीय शिक्षा के सूत्र एवं दायित्व
  • पर्यावरणीय शिक्षा का विज्ञान और सामाजिक विज्ञान से सह संबंध
  • अवधारणाओं के स्पष्टीकरण हेतु प्रविधियां और गति विधियां
  • परिवेशीय भ्रमण, प्रयोगात्म कार्य, प्रोजेक्ट कार्य और उनका महत्व
  • चर्चा, परिचर्चा, प्रस्तुती करण और समूह शिक्षण व्यवस्था से सीखना
  • सतत व्यापक मूल्यांकन – शिक्षण के दौरान प्रश्न पूछना
  • पर्यावरणीय शिक्षा में शिक्षण सामग्री/सहायक सामग्री और उसका अनुप्रयोग
  • स्थानीय परिवेश की पर्यावरणीय समस्याएं और उनके समाधान खोजने की क्षमता का विकास

गणित (Mathematics)

  • संख्या पद्धति (Number System)
  • जोड़ और घटाव (Addition & Subtracting
  • लाभ और हानि (Profit And Loss)
  • औसत (Average)
  • प्रतिशत (Percentage)
  • अनुपात (Ratio)
  • कार्य एवं समय (Time & Work)
  • समय और दूरी (Time & Distance)
  • ऊँचाई और दूरियां (Height & Distance)
  • साधारण ब्याज (Simple Intrest)
  • चक्रवृद्धि ब्याज (Compound Intrest
  • घड़ियों एवं कैलेंडर के सवाल (Clocks & Calendar Question)
  • अंकगणित और देता व्याख्या जिसमें बार ग्राफ शामिल हैं (Arithmetic & Data Interpretation Which Includes bar graphs)
  • व्रत चित्र (Pie-Charts)
  • लघुगणक (Logarithms)
  • क्रमपरिवर्तन और संयोजन (Permutation & Combination)
  • रेखा रेखांकन और सारणीकरण (line Graphs & Tabulation)
  • वॉल्यूम और सतह क्षेत्र (Volume & Surface area)
  • जड़ें (Roots)

जरूर पढ़िए :

संक्षेप में,

इस पेज पर आपने MP Samvida Shikshak Varg 3 Exam Syllabus 2020 के बारे में विस्तृत जानकारी को पढ़ा मुझे पूरी उम्मीद हैं कि आपको हमारे द्वारा लिखी हुई ये पोस्ट जरूरी पसंद आई होगी और इस सिलेबस को पढ़कर आपको परीक्षा पास करने की मेहनत जरूर सफलत होंगी।

आप कोई भी परीक्षा की तैयारी कर रहे हो यदि आप syllabus के आधार पर तैयारी करेंगे तो परीक्षा को आसानी से सफल कर पाएंगे क्योंकि पेपर में सिलेबस के आधार पर हो पूछा जाता हैं।

दोस्तों यदि आपको हमारे द्वारा लिखी हुई संविदा शिक्षक के सिलेबस की ये पोस्ट पसंद आई हो इसे इसे अपने Whatsapp, Facebook, Twitter, Instagram जैसे Social Midea पर ज्यादा से ज्यादा शेयर कीजिए जिससे आपके परिजनों तक ये पोस्ट आसानी से पहुँच सकें धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.